edvertise

edvertise
barmer



अजमेर जिले की 17 ग्राम पंचायतों में 1454 परिवारों को जारी किये गए आवासीय भूखड़ों के पट्टे


अम्बेड़कर जयन्ती पर हुई विशेंष पट्टा आवंटन अभियान शिविर की शुरूआत
अजमेर 14 अप्रेल। संविधान निर्माता बाबा साहेब डाॅ. भीम राव अम्बेडकर की जयन्ती पर राज्य सरकार द्वारा ग्रामीणों को राहत देने के उद्देश्य से शुरू हुए अभियान के तहत पहले दिन जिले के 1454 परिवारों को आबादी भूमि के पट्टे बनाकर वितरित किये गए। विशेष पट्टा अभियान के अन्तर्गत में जिले नौ पंचायत समितियों की 17 ग्राम पंचायतों में शिविर आयोजित किए गए।

जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल ने बताया कि पट्टा अभियान शिविर के तहत पंचायत समिति मसूदा की ग्राम पंचायत अंधेरी देवरी में 45 व लूलवा में 32, पंचायत समिति जवाजा की ग्राम पंचायत सरमालिया में 81 एवं सुहावा में 54, पंचायत समिति भिनाय की ग्राम पंचायत भिनाय में 40 एवं बूबकिया में 45, पंचायत समिति अंराई की ग्राम पंचायत देवपुरी में 72, पंचायत समिति श्रीनगर की ग्राम पंचायत बबाईचा में 107 एवं फारकिया में 105, पंचायत समिति सिलोरा की ग्राम पंचायत लोसल में 55 एवं कोटड़ी में 63, पंचायत समिति पीसांगन की ग्राम पंचायत रामपुरा डाबला में 60, पंचायत समिति केकड़ी की ग्राम पंचायत जूनिया में 217 एवं गिरवपुरा में 225, पंचायत समिति सरवाड़ की ग्राम पंचायत अजगरा में 150 एवं लल्लाई में 103 पात्रा परिवारों को आबादी भूमि के पट्टे बनाकर वितरित करते हुए राहत प्रदान की गयी है।

अम्बेडकर जयन्ती के पश्चात् प्रत्येक सोमवार एवं गुरूवार को प्रत्येक पंचायत समिति की दो-दो ग्राम पंचायतों में शिविर आयोजित कर ग्राम पंचायतों में पात्र परिवारों को आबादी भूमि के पट्टे एवं भू-खण्ड़ आंवटित किये जाने हेतु शिविर लगाकर ग्रामीणों को लाभान्वित किया जायेगा। जिला परिषद मुख्य कार्यकारी अधिकारी निकया गोहाएन ने ग्राम पंचायत भिनाय एवं एसीईओं संजय माथुर ने ग्राम पंचायत बबाईचा में पट्टा वितरण शिविर में पहंुचकर औचक निरीक्षण किया।




आजादी के बाद पहली बार मिलेगी सर पर छत

जूनिया में 11 कालबेलिया व लौहार परिवारों को पट्टो का वितरण, प्रधानमंत्राी आवास योजना में भी हुआ चयन

अजमेर 14 अप्रेल। मुख्यमंत्राी श्रीमती वसुन्धरा राजे द्वारा भूमिहीन परिवारों को उनके गांव में ही आवास हेतु भूमि उपलब्घ कराने के शुरू किया गया पट्टा वितरण अभियान जूनिया गांव के गरीब कालबेलिया व लौहार परिवारों के लिए वरदान साबित हुआ। आजादी के बाद से खुले आसमान के नीचे सोने वाले 11 परिवारों को आज पट्टा वितरण शिविर में भूमि का पट्टा मिल गया। साथ ही इन परिवारों का चयन प्रधानमंत्राी आवास योजना के तहत भी किया गया है। इन परिवारों को मकान बनाने के लिए 1.50-1.50 लाख रूपए की आर्थिक सहायता भी उपलब्ध करायी जाएगी।

जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल ने बताया कि जूनिया में करीब 10 परिवार लम्बे अरसे से गांव के आसपास ही खुले में रहते थे। सर्दी हो या गर्मी या बरसात, इन परिवारों को हर मौसम की मार झेलनी पड़ती थी। गरीबी के कारण यह परिवार ना जमीन खरीद सकते थे और ना ही अपना मकान बना सकते थे। मुख्यमंत्राी श्रीमती वसुन्धरा राजे की पहल पर भूमिहीन परिवारों को पट्टा वितरण के लिए प्रशासन के स्तर पर जब कार्यवाही की गई तो जूनिया गांव के सर्वे में इन परिवारों का नाम भी सामने आया।

श्री गोयल ने बताया कि इन परिवारों से आवेदन लेकर समस्त खानापूर्ति करवायी गई। आज जूनिया के शिविर में इन परिवारों को पट्टा वितरण किया गया। इन परिवारों को प्रधानमंत्राी आवास योजना के तहत भी चयनित किया गया है। सभी परिवारों को मकान के निर्माण के लिए 1.50-1.50 लाख रूपए की आर्थिक सहायता भी दी जा रही है। शीघ्र ही इनके मकानों का कार्य भी शुरू हो जाएगा।

आज उपखण्ड अधिकारी श्री सुरेश कुमार बुनकर एवं विकास अधिकारी श्री कन्हैयालाल वर्मा ने जूनिया के सायरी अजब खान, दयाल औंकार लौहार, पालू दयाल लौहार, गगरी जगदीश कालबेलिया, चांदनी सोजीनाथ, पप्पू भंवरा कालबेलिया, राजू जगदीश कालबेलिया, महेन्द्र जगदीश, हेमराज जगदीश, जगदीश चन्द्रा एवं गोरू केसरा को पट्टा वितरण किया गया।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top