edvertise

edvertise
barmer



जैसलमेर औद्योगिक क्षेत्र में शीघ्र ही रोड लाइट सही करावंे, सडक पर किए अतिक्रमण को हटावंे -जिला कलक्टर

औद्योगिक सलाहकार समिति में जिले में औद्योगिक विकास पर विस्तार से समीक्षा

जैसलमेर, 27 मार्च। जिला कलक्टर मातादीन शर्मा ने सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक रीको को निर्देष दिए कि वे 30 अपै्रल तक औद्योगिक क्षेत्र में रोडलाईट को सही करवाकर प्रकाष की उचित व्यवस्था करावंे। इसके साथ ही औद्योगिक क्षेत्र में सडको पर ब्लाॅक एवं पत्थर डालकर किए गए अतिक्रमण के संबंध में संबंधित प्रतिष्ठानों को नोटिस जारी कर उन्हें हटानें के लिए लिख दें यदि वे स्वयं नहीं हटाते है तो पुलिस का सहयोग लेते हुए अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही प्राथमिकता से करावें।

उन्होंनंे अधिषाषी अभियंता जलदाय को निर्देष दिए कि वे षिल्पग्राम औद्योगिक क्षेत्र में शीघ्र ही एसआर से पानी आपूर्ति सुचारू रूप से चालू करावें वहीं रीकों एवं किषनघाट औद्योगिक क्षेत्र में भी पेयजल आपूर्ति सुधार के लिए आवष्यक कार्यवाही सर्वोच्च प्राथमिकता से करने पर जोर दिया।

जिला कलक्टर शर्मा ने सोमवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित जिला स्तरीय औद्योगिक सलाहकार समिति की बैठक में यह निर्देष दिए। बैठक मे समिति सदस्य जुगल बोहरा, गिरीष व्यास, ओमप्रकाष जैन, मनीष कुमार सांवल के साथ ही संबंधित विभागांे के अधिकारी उपस्थित थे। जिला कलक्टर ने अधिषाषी अभियंता विद्युत को निर्देष दिए कि वे षिल्पग्राम एवं किषनघाट औद्योगिक क्षेत्र में जी.एस.एस निर्माण की कार्यवाही पूरी करावें। उन्होंनंे औद्योगिक विकास के लिए संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देष दिए कि उनके विभाग में इस संबंध में कोई भी आवेदन पत्र लंबित है तो उसका शीघ्र ही निस्तारण करावें।

उन्होंनें लीड बैंक अधिकारी को निर्देष दिए कि खाद्यी ग्रामोद्योग बोर्ड एवं प्रधानमंत्री रोजगार सर्जन योजना के ऋण आवेदन पत्रों बैकों ने बिना ठोस कारण के निरस्त किए है उसके संबंध मंे संबंधित शाखा प्रबंधकों से आवष्यक जानकारी लेकर इनमें ऋण स्वीकृति की कार्यवाही सुनिष्चित करावें। उन्होंनंे औद्योगिक संगंठन के पदाधिकारियों से भी कहा कि वे नगरीय निकाय के सहयोग से उनके औद्योगिक इकाईयों में वाटर हार्वेस्टिंग का कार्य करावें एवं छत के वर्षाती पानी को टांकों में संग्रहित करावें। इसके साथ ही प्रदूषण नियंत्रण मण्डल के निर्देषों की पालना भी सुनिष्चित करावें एवं अतिक्रमण किसी भी प्रकार का न हों इसके लिए भी वे इकाईयों के संचालकों को पाबंद करावें। उन्होंनें रीको के अधिकारी को औद्योगिक के क्षेत्र में एक सप्ताह में सडक के पेचवर्क का कार्य कराने के निर्देष दिए।

बैठक के दौरान समिति सदस्य जुगल बोहरा एवं गिरीष व्यास,ओमप्रकाष जैन, मनीष सांवल ने औद्योगिक क्षेत्र जैसलमेर में क्षतिग्रस्त सडकों की मरम्मत करानें, पानी निकासी के लिए ड्रेनेज सिस्टम विकसित करनें, पुरानी पाईप लाईन की जगह नई पाईप लाईन लगानें एवं क्षतिग्रस्त पाईप लाईन की मरम्मत करानें, जैसलमेर-बाडमेर रोड पर वृहत् औद्योगिक क्षेत्र को विकसित करने की आवष्यकता जताई रोडलाईट की सही व्यवस्था कराने की बात कहीं।

जिला कलक्टर ने रीको के सहायक क्षैत्रीय प्रबंधक को निर्देष दिए कि वे औद्योगिक क्षेत्र में आधारभूत सुविधाओं को विकसित करावें। उन्होंनें जिले में औद्योगिक संगठनों से जुडें पदाधिकारी एवं संबंधित विभागीय अधिकारी क्षेत्र में संयुक्त रूप से भ्रमण कर उसके विकास को आयाम दें एवं पानी बिजली की व्यवस्था समय पर करावें।

बैठक में महाप्रबंधक जिला उद्योग के.सी.सैनी ने एक-एक बिन्दु कों विस्तार से रखा। बैठक में अधिषाषी अभियंता जलदाय एस.डी.सोनी, खनिज अभियंता मूलसिंह देवडा, श्रम कल्याण अधिकारी भवानीप्रताप चारण, लीड बैंक अधिकारी आर.के.भवंरायत, सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक ए.के.सोनी, अधिषाषी अभियंता के.सी.किराड, सहायक आयुक्त वाणिज्य कर एन.आर.सेणचा,आयुक्त नगरपरिषद राजीव कष्यप भी उपस्थित थें।

----000----

राजस्थान दिवस समारोह-2017

मंगलवार को मेहन्दी एवं रंगोली प्रतियोगिता

सांय भजन संध्या का आयोजन

जैसलमेर, 27 मार्च। राजस्थान दिवस समारोह-2017 के कार्यक्रमों की कडी में 28 मार्च, मंगलवार को अपरान्ह् 4 बजे दुर्ग स्थित अखे प्रोल के अन्दर जिला प्रषासन के सहयोग से नाद स्वरम् संगीत संस्थान के तत्वावधान में मेहन्दी एवं रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन रखा गया है।

मेहन्दी एंव रंगोली प्रतियोगिता की संयोजक श्रीमती शोभा हर्ष ने बताया कि इस प्रतियोगिता में कनिष्ठ एवं वरिष्ठ वर्ग बनाएं गए है। प्रतियोगिता में भाग लेने वाली अपनी प्रविष्ठियां श्रीमती ईष्वरी भाटिया, शोभा भाटिया, रंजना व्यास, संध्या व्यास, प्रार्थना बिस्सा, सरोज कविया, पूनम व्यास, रनिका कल्ला आदि को दर्ज करवा सकते है।

श्रीमती हर्ष ने बताया कि इस प्रतियोगिता के लिए रंगोली के कलर एवं विभिन्न रंगों के गुलाल उपलब्ध कराई जाएगी वहीं मेहन्दी के कोण भी उपलब्ध कराए जाएगें। सभी प्रतियोगी अखे प्रोल के अन्दर रामदेव मन्दिर में मंगलवार को अपरान्ह् 4 बजे अनिवार्य रूप से पंहुच जाए। बाद में आने वालें प्रतियोगियों को प्रविष्ठियां नहीं दी जाएगी। प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वालों को आकर्षक पुरूस्कार सांय को आयोजित भजन संध्या में प्रदान किए जाएगें।

सांय को भजन संध्या

मंगलवार को सांय 8 बजे दुर्ग स्थित अखे प्रोल के अन्दर जिला प्रषासन के सहयोग से नाद स्वरम् संगीत संस्थान के तत्वावधान में भजन संध्या का आयोजन रखा गया है। इस भजन संध्या में नाद स्वरम् लोक संगीत संस्थान के ख्यातनाम भजन गायकों द्वारा भजन प्रस्तुत किए जाएगें।

----000----

मिषन इन्द्रधनुष टीकाकरण कार्यक्रम 7 अप्रेल से
जैसलमेर 27 मार्च। डाॅं. एन.आर. नायक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि जैसलमेर जिले के सांकडा ब्लाॅक व जैसलमेर शहरी क्षैत्र में मिषन इन्द्रधनुष टीकाकरण कार्यक्रम 7 अप्रेल 2017 से प्रारम्भ किया जायेगा।

डाॅ.आर.पी.गर्ग जिला प्रजनन एवं षिषु स्वास्थ्य अधिकारी उन्होनें बताया कि सांकडा ब्लाॅक व जैसलमेर शहरी क्षैत्र में टीकाकरण हेतु गठित टीमों द्वारा टीकाकरण कार्य सम्पादित किया जायेगा। डाॅं. गर्ग ने बताया कि मिषन इन्द्रधनुष कार्यक्रम माह अप्रेल 2017 से जुलाई 2017 तक प्रति माह की 7 से 13 तारीख तक आयोजित किया जायेगा। मिषन इन्द्रधनुष टीकाकरण कार्यक्रम का उद्देष्य गर्भवती महिलाओं व 0 से 2 साल तक के षिषुओं का शत् प्रतिषत टीकाकरण करने व दुर्गम व ग्रामीण इलाको में बच्चों को सम्पूर्ण टीकाकरण से लाभांवित करने के लिए मिषन इन्द्रधनुष टीकाकरण कार्यक्रम का क्रियान्वयन किया जायेगा।

डाॅ. नायक ने बताया कि मिषन इन्द्रधनुष टीकाकरण कार्यक्रम के अन्तर्गत तैयार कार्य योजना अनुरूप टीकाकरण सत्र आयोजित किये जायेगें। जिले में ऐसे उप केन्द्र जहां तीन माह से एएनएम का पद रिक्त है, जिन गांव-ढाणी, स्लम, माईग्रेन्ट पाॅपुलेषन/ईट भट्टे एवं पल्स पोलियो अभियान के अन्तर्गत चिन्हित किये गये हाईरिक्स एरिया को मिषन इन्द्रधनुष टीकाकरण कार्यक्रम की कार्य योजना में सम्मिलित किया गया है। चिन्हित क्षेत्रों में कार्य योजना अनुरूप टीकाकरण सत्र आयोजित कर टीकाकरण से वंचित लाभार्थियों के लिए टीकाकरण का कार्य किया जाऐगा।

------00000-----



जिले में भामाषाह स्वास्थ्य बीमा योजना के अन्तर्गत 1 हजार 891 मरीज हुए लाभान्वित,

योजना अन्तर्गत लाभार्थियों के उपचार पर कुल 54 लाख 30 हजार 625 रूपये की राषि व्यय

जैसलमेर , 27 मार्च। डाॅ. एन.आर.नायक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि राजस्थान राज्य में 13 दिसंबर 2015 से प्रारम्भ की गई भामाषाह स्वास्थ्य बीमा योजना के अन्तर्गत जैसलमेर जिले में दिनांक 26 मार्च 2017 तक कुल पात्र 1 हजार 891 मरीजों को भामाषाह स्वास्थ्य बीमा योजना के अन्तर्गत लाभान्वित किया गया है। उन्होने बताया कि भामाषाह स्वास्थ्य बीमा योजना पैसो के अभाव में ईलाज से वंचित लोगों के लिए जीवन रक्षक साबित हो रही है । जिले में भामाषाह स्वास्थ्य बीमा योजना के अन्तर्गत पात्र लाभार्थियों के उपचार पर कुल 54 लाख 30 हजार 625 रूपये की राषि व्यय की गई है।

पाॅच अस्पतालों में मिल रहा है भामाषाह स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ
डाॅ.आर.पी.गर्ग उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ;प.क.) ने बताया कि भामाषाह स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत जैसलमेर जिले के पंजीकृत श्री जवाहिर चिकित्सालय, जैसलमेर में 1132 पात्र मरीजों को , सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पोकरण में 626 पात्र मरीजों को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नाचना में 43 पात्र मरीजों को, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मोहनगढ में 35 पात्र मरीजों को तथा निजी चिकित्सालय न्यू राजस्थान हाॅस्पीटल एवं रिसर्च सेन्टर जैसलमेर में 55 पात्र मरीजों को चिकित्सा सुविधा प्रदान कर लाभान्वित किया गया है। जिले में भामाषाह स्वास्थ्य बीमा योजना के अन्तर्गत उपलब्ध पैकेजो के अन्तर्गत हर्निया, सर्पदंष, हृदय रोग आदि से पीडित मरीजों को चिकित्सा सुविधा प्रदान कर लाभान्वित किया गया है। पंजीकृत चिकित्सालयों में कार्यरत स्वास्थ्य मार्गदर्षक द्वारा मरीज को भर्ती करते समय भामाषाह स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत लाभार्थी परिवार की पहचान कर व आवष्यक दस्तावेज प्राप्त कर रोगी का पंजीकरण साॅफ्टवेयर में किया जाता है । भामाषाह स्वास्थ्य बीमा योजना के अन्तर्गत रोगी के ईलाज की राषि का पुनर्भरण बीमा कंपनी द्वारा संबंधित अस्पताल को किया जाता है। भामाषाह स्वास्थ्य बीमा योजना में लाभार्थी प्रत्येक परिवार में सामान्य बीमारी में 30 हजार रूपए तक और गंभीर बीमारी में 3 लाख रूपए तक की कैषलेष चिकित्सा सुविधा प्रदान की जा रही है।

आशा कर रही है घर-घर जाकर योजना का प्रचार

डाॅ. गर्ग ने बताया कि जिले में कार्यरत आषा सहयोगिनियों द्वारा घर - घर विजिट के दौरान भामाषाह स्वास्थ्य बीमा योजना का व्यापक प्रचार प्रसार कर आमजन को योजना के बारे में जानकारी प्रदान की जा रही है। भामाषाह स्वास्थ्य बीमा योजना के अन्तर्गत सूचीबद्ध चिकित्सा संस्थानों पर लाभार्थी परिवारों की पहचान राजस्थान राज्य के राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (एनएफएसए) के पात्र परिवारों की भामाषाह कार्ड व भामाषाह कार्ड आवेदन की रसीद के माध्यम से एवं राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना कार्ड के आधार पर की जाती है।



किलकारी योजना के अन्तर्गत मोबाईल में गूंज रही है किलकारी,
वाॅईस मैसेज द्वारा मिल रही है मातृ व षिषु स्वास्थ्य संबंधी जानकारी

जैसलमेर 27 मार्च। डाॅ.एन.आर.नायक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, भारत सरकार द्वारा गर्भवती महिलाओं एवं नवजात षिषुओं की स्वास्थ्य सेवाओं को समयबद्ध सुनिष्चित किये जाने हेतु राजस्थान के समस्त जिलों में किलकारी योजना के अन्तर्गत वाॅयस मैसेज सेवा के माध्यम से मातृ व षिषु स्वास्थ्य संबंधी जानकारी प्रदान की जा रही है।

किलकारी वाॅईस मैसेज से मिल रही है स्वास्थ्य सेवाओं के बारे में जानकारी

डाॅ.नायक ने बताया कि किलकारी वाॅईस मैसेज पीसीटीएस साॅफ्टवेयर पर रजिस्टर्ड लाभार्थी के मोबाईल नम्बर पर गर्भकाल के चैथे माह से 18 माह तक लगातार कुल 72 वाॅयस मैसेज के माध्यम से जानकारी प्रदान कर जागरूक किया जा रहा है। समस्त किलकारी वाॅईस मैसेज 0124-3309999 नम्बर से लाभार्थी के मोबाईल नम्बर पर प्राप्त होगे।

लाभार्थी के मोबाईल नम्बर पर गर्भवती महिलाओं एवं नवजात षिषुओं की स्वास्थ्य सेवाओं से संबंधित वाॅयस मैसेज प्रसव पूर्व देखभाल, संस्थागत प्रसव, प्रसवोतर देखभाल, परिवार कल्याण और षिषुओं का सम्पूर्ण टीकाकरण संबंधी जानकारी किलकारी योजना के अन्तर्गत प्रदान कर जागरूक किया जा रहा है। डाॅ. नायक ने बताया कि किलकारी योजना के अन्तर्गत प्राप्त वाॅईस मैसेज गर्भवती महिलाओं के लिए काफी मदद्गार साबित हो रहे है। उन्होने बताया कि पीसीटीएस साॅफ्टवेयर पर रजिस्टर्ड मोबाईल नम्बर को लाभार्थी बदले नही तथा गर्भकाल से लेकर षिषु की आयु 12 माह होने तक हमेषा चालू रखें ।

एएनसी पंजीयन के समय आवष्यक रूप से करें मोबाईल नम्बर रजिस्टर्ड

डाॅ. नायक ने बताया कि सभी एएनएम एवं चिकित्सा अधिकारियों को एएनसी पंजीयन के समय आवष्यक रूप से गर्भवती महिलाओं का मोबाईल नम्बर प्राप्त कर पीसीटीएस साॅफ्टवेयर में रजिस्टर्ड करना सुनिष्चित करने के लिए निर्देषित किया गया है। उन्होने बताया कि एएनसी पंजीयन के समय पंजीकृत मोबाईल नम्बर पर ही किलकारी योजना के अन्तर्गत वाॅईस मैसेज प्राप्त होगें। उन्होने बताया कि किलकारी एप्लीकेषन में लाभार्थी द्वारा प्रथम वाॅईस मैसेज काॅल रिसीव नही किये जाने पर लाभार्थी को उसी दिवस तीन बार वाॅईस मैसेज भिजवाये जायेगें। यदि फिर भी लाभार्थी द्वारा वाॅईस मैसेज नही सुना जाता है तो आगामी 3 दिन में तीन बार वाॅईस मैसेज लाभार्थी के मोबाईल नम्बर पर भिजवाये जायेगे।

------00000-----

मोबाईल एकेडमी प्रषिक्षण के माध्यम से आषाओं की दक्षता में हो रही वृद्धि
जैसलमेर 27 मार्च। डाॅ.एन.आर.नायक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि भारत सरकार द्वारा मोबाईल एकेडमी के माध्यम से आषाओं की दक्षता बढाने के लिए आषा साॅफ्ट में पंजीकृत आषाओं के मोबाईल नम्बर के माध्यम से प्रषिक्षण प्रदान किया जा रहा है। उन्होने बताया कि मोबाईल एकेडमी के माध्यम से प्रषिक्षण के द्वारा आषाओं की कार्य दक्षता में वृद्धि हो रही है तथा आषाओं द्वारा लाभार्थियों को समय पर स्वास्थ्य सेवाओं की जानकारी प्रदान कर जागरूक किया जा रहा है ।

मोबाईल नम्बर से ही मिलेगा आषाओं को प्रषिक्षण

डाॅ.नायक ने बताया कि राजस्थान राज्य के आषा साॅफ्ट में पंजीकृत आषाओं के मोबाईल नम्बर के माध्यम से ही प्रषिक्षण प्राप्त किया जा सकेगा । आषाओं द्वारा मोबाईल एकेडमी के माध्यम से प्रषिक्षण पूर्ण करने पर प्रमाण पत्र प्रदान किया जायेगा । आषाओं द्वारा मोबाईल एकेडमी एप्लीकेषन में रजिस्ट्रेषन के लिए टोल फ्री नम्बर 1800-3010-1704 पर डाॅयल किया जायेगा । मोबाईल एकेडमी में प्रदान किया जाने वाला प्रषिक्षण कोर्स 240 मिनट का है। मोबाईल एकेडमी एप्लीकेषन में कुल 11 अध्याय तथा प्रत्येक अध्याय के 4 भाग अर्थात कुल 44 भाग है।

------00000-----

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top