edvertise

edvertise
barmer



जोधपुर पुलिस को यूं चकमा देकर फरार हुआ अफीम तस्कर, नाकाबंदी के बाद भी नहीं लगा सुराग

पुलिस को यूं चकमा देकर फरार हुआ अफीम तस्कर, नाकाबंदी के बाद भी नहीं लगा सुरागमादक पदार्थ की तस्करी के आरोपी के साथ होटल पर भोजन करना महाराष्ट्र के पुणे जिले की समर्थ थाना पुलिस को उस समय भारी पड़ गया जब खाना खाने के तुरन्त बाद लघुशंका करने के बहाने आरोपी कार में बैठकर भाग निकला। समर्थ थाना पुलिस तस्दीक करवाने के लिए उसे जोधपुर लेकर आई थी। चौहाबो थाने में आरोपी के भाई सहित तीन के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।




पुलिस के अनुसार झंवर गांव निवासी रूपाराम पुत्र भैराराम पटेल को पुणे जिले की पुलिस ने अफीम तस्करी के मामले में गिरफ्तार किया था। मामले की जांच कर रही पुणे जिले की समर्थ थाना पुलिस ने तस्दीक करवाने और अफीम की सप्लाई करने वाले एक अन्य व्यक्ति की तलाश में आरोपी रूपाराम को लेकर शुक्रवार मध्यरात्रि बाद कार से जोधपुर आई। एएसआई संजय सिंह बिष्ट व दो कांस्टेबल साथ थे। आरोपी व तीनों पुलिसकर्मियों ने डीपीएस बाइपास स्थित जय भवानी होटल पर खाना खाया। इसके बाद चारों कार से रवाना होने लगे।




पीपाड़ में युवक को सरेआम जबरन पेशाब पिलाया

मानसरोवर कॉलोनी के पास आरोपी रूपाराम ने लघुशंका जाने का आग्रह किया। वह सिपाही से हाथ छुड़ाकर व धक्का देकर भाग निकला। वह कुछ दूर खड़ी इनोवा में जा बैठा और फरार हो गया। समर्थ थाना पुलिस ने इनोवा का पीछा भी किया, लेकिन डीपीएस चौराहे के बाद इनोवा अंधेरे में ओझल हो गई। काफी देर तक तलाशी के बाद समर्थ थाना पुलिस ने कन्ट्रोल रूम को सूचित किया। रात्रि गश्त कर रही पुलिस मौके पर पहुंची और इनोवा व आरोपी की तलाश में नाकाबंदी करवाई, लेकिन आरोपी का कोई सुराग नहीं लग पाया। एएसआई संजय बिष्ट की तरफ से चौहाबो थाने में रूपाराम व सहयोग करने वाले उसके भाई माधाराम, ओमाराम पुत्र देवाराम व एक अन्य के खिलाफ मामला दर्ज करवाया।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top