समदड़ी  छात्र जीवन में कड़ी मेहनत का कोई विकल्प नहीं : महन्त निर्मलदास
________________________________________________


अजीत ग्राम पंचायत मुख्यालय पर स्थित नवीन गुरुकुल प्री डिफेन्स विद्यालय का वार्षिक समारोह विश्व महिला दिवस के अवसर पर मातृशक्ति को समर्पित पोकरण पूर्व राजघराने के राजमाता शोभा रानी के सानिध्य में आयोजित हुआ।


कार्यक्रम के प्रारम्भ में अतिथियों ने आचार्य संदीप श्रीमाली के मंत्रोचार के साथ माँ सरस्वती की तस्वीर के आगे द्वीप प्रज्वलित कर समारोह का शुभारम्भ किया।


वार्षिक समारोह में पधारे मेहमानों ने नवसर्जित कंप्यूटर कक्ष का उदघाटन किया।




वार्षिक समारोह के मुख्य अतिथि वरिष्ठ कांग्रेसी महामण्डलेश्वर महन्त निर्मलदास महाराज ने कहा की छात्र जीवन में कड़ी मेहनत का कोई विकल्प नहीं है लोकतांत्रिक व्यवस्था के अन्तगर्त विद्यमान पूर्ण पारदर्शिता में प्रतिस्पर्धा के माध्यम से स्वंय को स्थापित अत्यंत कठिन है लेकिन मेहनत करने वालो के लिए कोई मुश्किल नहीं। अच्छी शिक्षा से ही हम समाज और क्षैत्र का नाम रोशन कर सकते है। अतः हमे सुनहरे भविष्य के निर्माण के लिए अच्छी शिक्षा और संस्कार का अनुसरण करना अत्यंत आवश्यक है।




समारोह की अध्यक्षता कर रहे बाड़मेर के युवा व्यवसायी एवं समाजसेवी आजाद सिंह राठौड़ ने संबोधित करते हुए कहा की आज के आधुनिकीकरण में ग्रामीण आँचलो अंग्रेजी शिक्षा का प्रचलन बढ़ा है जो सराहनीय है भौतिकवाद और तकनीकी के युग में शिक्षा के बिना कुछ भी सम्भव नहीं है अतः हमें हमारे बच्चों को आज की आवश्यकतानुसार संस्कारपूर्ण शिक्षा दिलानी चाहिए जिससे सुनहरे भविष्य का निर्माण हो सके। साथ ही खेलों में रूचि रखने वाले छात्रों को क्रिकेट खेल संघ के माध्यम से जिला मुख्यालय पर आयोजित होने वाले शिविरों के बारे बताया और सहभागिता बढ़ाने का कहा।




समारोह के विशिष्ठ अतिथि एनएसयूआई के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं जय नारायण व्यास विश्वविद्यायालय के हिंदी विभाग के सहायक प्रोफेसर डॉ भरत मेघवाल ने कहा की प्रारम्भिक शिक्षा ही नीव को मजबूती प्रदान करती है जिसके माध्यम से देश के सर्वोच्च संस्थाओ में पढ़ने का अवसर मिलता है और उच्च पदों पर चयनित होकर देशभर में नाम रोशन कर युवाओं के आदर्श बनकर उभरने का अवसर मिलता है जिसका नायाब उदाहरण इंदिरा गांधी, सुनीता विलियम्स, कल्पना चावला जिन्होंने महिला सशक्तिकरण के तौर देश को गौरवान्वित कर समस्त देशवासियो का मान बढ़ाया।




प्रोफेसर डॉ मेघाराम गढ़वीर, डॉ सुरेश चौधरी, जिला कांग्रेस कमेटी के सचिव मुकन सिंह राजपुरोहित ने भी संबोधित कर विश्व महिला दिवस पर बालिका शिक्षा के प्रति ग्रामवासियों के बढ़ते रुझान पर ख़ुशी जताई।




इस दौरान ठाकुर विजय सिंह बालावत मियों का बाड़ा, रामपुरा सरपंच स्वरूप कँवर, खेजड़ियाली सरपंच ममता भील, अजीत सरपंच प्रतिनिधि अनिल राठौड़, शिक्षाविद नाथूराम बिश्नोई, समदड़ी उप सरपंच मोहन लाल गहलोत, सिलोर पूर्व सरपंच माधु सिंह राजपुरोहित, पूर्व पंचायत समिति सदस्य पुरषोत्तम सोनी, भारतीय किसान संघ के उपाध्यक्ष आशाराम चौधरी, पूर्व महासचिव अधिवक्ता घेवरचंद प्रजापत, राजीव गांधी ब्रिगेड के जिला अध्यक्ष गोपाल सिंह रातड़ी, करणी सेना जिला उपाध्यक्ष नरपत सिंह उमरलाई, समदड़ी नगर अध्यक्ष दिलीप सिंह राव, अरुण व्यास बतौर विशिष्ठ अतिथि मंचासीन रहे।




विद्यालय के निदेशक हुकम सिंह अजीत ने प्रतिवेदन प्रस्तुत किया।




छात्रा तनुश्री वैष्णव, आदित्या सिंह राठौड़, निरमा पटेल, संतोष राठौड़, तनवी सोनी, शिवम् श्रीमाली, गोविन्द बंजारा, जितेंद्र सिंह राजपुरोहित, अफ़साना मेहर, डोली रावल, यशस्वी दवे, कीर्ति जांगिड़ सहित इत्यादि छात्रों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम में सामूहिक गान, नृत्य एवं भाषण की शानदार प्रस्तुतिया दी।

इस दौरान मदन लाल जैन, देवाराम, जयंती लाल भुरट, शिक्षा समिति अध्यक्ष गुलमोहम्मद रंगरेज, लाल सिंह चम्पावत, मौलवी कमरुद्दीन, बहांदुर सिंह राजपुरोहित, विजय सिंह भाटी, सुशीला सोनी, रेणुका दवे, संगीता चौधरी, मुन्नीदेवी भुरट, कविता नेताणी, नारायण सिंह बालावत, कानाराम देवड़ा, अमर सिंह भाटी, हनुमान सैन, छैल सिंह धाँधल, मूलाराम चौधरी, वगतावर सिंह, श्रतुखा मेहर, कानाराम देवड़ा, नाथू सिंह, रेवत सिंह जयपाल, सतीश देवासी, धनवीर सिंह भाटी, पूर्व छात्र शिशुपाल सिंह इंद्रोई, मानाराम गहलोत, राजेन्द्र मेघवाल, सिकन्दर मेहर सहित प्रबुद्धजन उपस्थित थे।

विद्यालय संस्था प्रधान गुलाब कँवर ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

--

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top