edvertise

edvertise
barmer

बाड़मेर ध्वजारोहण के साथ तिलवाड़ा पशु मेले का शुभारंभ
-जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने किया ध्वजारोहण



बाड़मेर, 24 मार्च। तिलवाड़ा पशु मेले का विविधत शुभारंभ शुक्रवार को जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने ध्वजारोहण के साथ किया। इस दौरान जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने मेला परिसर का भ्रमण कर व्यवस्थाआंे का जायजा लिया। उन्हांेने मेलाधिकारी को पशुपालकांे एवं दुकानदारांे को समुचित सुविधाएं मुहैया कराने के निर्देश दिए।
जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने गुरूवार को तिलवाड़ा पशु मेला आयोजन को लेकर की गई व्यवस्थाआंे का जायजा लिया। जिला कलक्टर शर्मा ने मेला स्थल पर पशुआंे के लिए चारे-पानी की माकूल व्यवस्था करने तथा बाहर से आने वाले पशुपालकांे को किसी तरह की समस्या नहीं हो, यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। इस दौरान मेलाधिकारी एवं संयुक्त निदेशक नारायणसिंह सोलंकी ने मेले मंे दुकानांे के आवंटन, पशुपालकांे के लिए किए गए इंतजामांे के बारे मंे जानकारी दी। जिला कलक्टर शर्मा ने मेला परिसर मंे कृषि, पशुपालन समेत विभिन्न विभागांे की ओर से लगाई गई योजनाआंे संबंधित प्रदर्शनी का अवलोकन किया। उन्हांेने मेले के इतिहास के बारे मंे भी जानकारी ली। इससे पहले पंडित जोगराज दवे एवं गिरीश कुमार ने पूजा-अर्चना करवाई। इसके उपरांत मेला मैदान मंे जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने ध्वजारोहण करके मेले का शुभारंभ किया। इस दौरान पुलिस के जवानांे ने गार्ड आफ आनर दिया। इस अवसर पर बालोतरा उपखंड अधिकारी प्रभातीलाल जाट, पुलिस उप अधीक्षक राजेश माथुर, पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक नारायणसिंह सोलंकी, विकास अधिकारी सांवलाराम,सरपंच शोभसिंह, जबरसिंह समेत विभिन्न जन प्रतिनिधि एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे। तिलवाड़ा पशु मेले मंे देश के विभिन्न स्थानांे से पशु पालक ऊंट, घोड़े, बैल लेकर पहुंच रहे है। इस मेले मंे मालानी नस्ल के घोड़े खासी तादाद मंे पहुंचे है। मेले के दौरान पशुपालन विभाग की ओर से विभिन्न प्रतियोगिताआंे का भी आयोजन कराया जाएगा।
प्रशासन की ओर से मेले में बिजली, पानी की समुचित व्यवस्था की गई है। मेले में अब तक 200 से अधिक दुकानें लग चुकी हैं। अस्थायी होटल, रेस्टोरेंट, पशु शृंगार, लोहा,स्टील सहित अन्य जरूरत के सामान की दुकानें लगने के साथ ही मनोरंजन, खरीदारी के लिए मेलार्थी यहां पहुंच रहे हैं। मेले मंे खासी रौनक देखी जा रही है। पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक एवं मेला अधिकारी डा.नारायणसिंह सोलंकी ने बताया कि मेला परिसर पर पशुपालकांे के लिए माकूल इंतजाम करने के साथ चौकियांे की स्थापना की गई है। उन्हांेने बताया कि उच्च न्यायालय के निर्णयानुसार पशुपालकों को पशुओं की खरीद फरोख्त के लिए स्वयं के नाम जमाबंदी की नकल, कृषि भूमि होने के दस्तावेज एवं पहचान पत्र की प्रति उपलब्ध कराना जरूरी है। इसी तरह पशुओं को कृषि कार्य या दुध उत्पादन में उपयोग में लेने का शपथ पत्र, क्रय किए गए पशु की पहचान के लिए ईयर टेग लगवाना तथा पशु स्वास्थ्य प्रमाण पत्र जारी करवाना आवश्यक है। उनके मुताबिक पशु परिवहन के उपयोग में आने वाले बड़े ट्रक में 6 बड़े पशु से अधिक नहीं होने चाहिए तथा पशुओं की चमड़ी नहीं छिलें, इसके लिए उचित प्रबंध वाहन में होना जरूरी है। पशु परिवहन के समय वाहन के साथ पशुओं की देखभाल, चारा-पानी के लिए श्रमिक सहायक के रूप में वाहन के साथ चलना होगा। उन्हांेने बताया कि पशु परिवहन के दौरान वर्तमान में विद्यमान सभी परिवहन नियमों का पालन पशुपालकों एवं परिवहन कर्ताओं को करना होगा। तीन वर्ष से कम के गौ वंश को राज्य से बाहर जाने की अनुमति नहीं मिलेगी।
प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान की जानकारी दी
बाड़मेर, 24 मार्च। सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग की ओर से सिवाना पंचायत समिति स्थित अटल सेवा केन्द्र मंे कमलेश कुमार की अध्यक्षता मंे सिवाना ब्लाक के ई-मित्र धारकांे का प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान योजना संबंधित एक दिवसीय आयोजित हुआ।
इस दौरान सीएससी जिला समन्वयक चौनाराम चौधरी ने बताया कि सीएससी के माध्यम से प्रत्येक परिवार के एक सदस्य को डिजिटल साक्षर बनाना हैं। इस के लिए समस्त आमजन जो 14 से 60 साल का सदस्य भाग ले सकते हैं जिसमें 20 घण्टे का निःशुल्क कम्प्यूटर प्रक्षिक्षण ले सकते हैं। उन्हांेने बताया कि सीएससी डिजी पे साफ्टवेयर के माध्यम से सीएससी ई-मित्रा कियोस्क आधार प्रणाली के माध्यम से नगद आहरण , आधार कार्ड को बैंक खाते के साथ लिंक कर सकते है। साथ ही अपना बेंलेन्स जॉच सकते हैं। इस दौरान ब्लॉक नोडल अधिकारी ने समस्त कियोस्क धारको को निर्देशित किया कि सरकारी योजनाओें का आमजन को अधिक से अधिक लाभ पहुचाये और अपने ईमित्रा सेन्टर पर सरकार द्वारा निर्धारित दर सूची चस्पा करें। इसी तरह सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग ब्लॉक चौहटन के प्रोग्रामर सतीश कुमार स्थानीय सेवा प्रदाता समन्वयक एक्सप्लोर आईटी के जिला समन्वयक पुनमचन्द गोदारा, अक्ष ऑप्टिफिबर लिमिटेड के जिला समन्वयक जेताराम चौधरी ने भी ई-मित्रा पर सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं के बारे में कियोस्क धारकों को अवगत करवाया।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top