edvertise

edvertise
barmer

जैसलमेर,भारतीय सीमा के अंदर पाकिस्तानी लोकल सिम के उपयोग पर प्रतिबंध

जैसलमेर, 31 मार्च। जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्टेªट मातादीन शर्मा ने दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के अन्तर्गत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए एक आदेष जारी कर जैसलमेर जिले में लगने वाली पाकिस्तानी इलाके में लगे मोबाईल टावरों का नेटवर्क भारतीय सीमा के अंदर 3-4 किलोमीटर तक आने के कारण जिसमें पाकिस्तानी लोकल सिम से पाकिस्तानी नेटवर्क के जरिए आसानी से सम्पर्क किया जा सकता है। उन्हों ने इसके फलस्वरुप राष्ट्रीय सुरक्षा पर आंषकित खतरे को दृष्टिगत रखते हुए पाकिस्तानी लोकल सिम के उपयोग करने पर तत्काल प्रभाव से प्रतिबंध लगाया गया है।
जिला मजिस्टेªट शर्मा द्वारा जारी किए गए आदेषानुसार सीमावर्ती जैसलमेर जिले में किसी भी क्षेत्र जहाॅं से कि पाकिस्तानी लोकल सिम से पाकिस्तानी नेटवर्क जरिए सम्पर्क स्थापित किया जा सकता है, में कोई भी व्यक्ति पाकिस्तानी लोकल सिम का उपयोग नहीं कर सकेगा और न ही किसी को इसके उपयोग करने की अनुमति दी जाएगी। इस आदेष का उल्लधन करने पर दोषी पाए जाने वाले व्यक्ति के खिलाफ विधि के प्रावधानों के अनुसार आवष्यक कार्यवाही अमल में लायी जाएगी। उल्लेखनीय है कि यह आदेष आगामी दो माह की अवधि के लिए प्रभावषील रहेगा।
----000----
अंतर्राष्ट्रीय फोन काॅल्स का करना होगा इन्द्राजजिला कलक्टर एवं मजिस्टेªट ने किये आदेष जारी


जैसलमेर, 31 मार्च/जिले में अपराधिक एवं अवांछनीय गतिविधियों पर रोक लगाने एवं दूर संचार के माध्यम से गोपनीय सूचनाएं पे्रषित करने से रोकने के लिए जिले की अंतर्राष्ट्रीय सीमा के समीप स्थित क्षेत्रों के टेलीफोन बूथो पर की जाने वाली अंतर्राष्ट्रीय फोन काॅल्स का इन्द्राज करना आवष्यक होगा। इस संबंध में कलक्टर एवं जिला मजिस्टेªट मातादीन शर्मा ने दण्ड प्रक्रिया की धारा 144 के तहत प्रदत शक्तियांे का प्रयोग करते हुए जिले की सीमा में स्थित पीसीओ/एसटीडी, ई - मेल/ इंटरनेट के मालिको, एजेन्टो द्वारा अपने बूथ से किसी व्यक्ति को अंतर्राष्ट्रीय काॅल्स एवं सूचना का संहवन तब तक नहीं कराएंगे जब तक वे निर्धारित प्रपत्र मंे सूचना प्राप्त नहीं करंेगे यह आदेष जारी किये।
जिला मजिस्टेªट के जारी अनुसार टेलीफोन बूथ धारक इस सबंध में एक रजिस्टर संधारण कर उसमें दिनांक, वार्ता/संदेष करने वाला का पता, आईएसडी कोड नम्बर, टेलीफोन नम्बर जिस पर वार्ता की जानी है, व्यक्ति का नाम जिससे वार्ता की जानी है, वार्ता/ संदेष का समय अंकित करेंगे। वे प्रति सोमवार को इसकी सूचना निर्धारित प्रपत्र में अपने क्षेत्र के उपखंड मजिस्टेªट एवं थानाधिकारी पुलिस स्टेषन को देंगे। इसके साथ ही किसी भी संदिग्ध व्यक्ति द्वारा टेलीफोन, ई - मेेल, इंटरनेट से संदेष संवहन करने पर इसकी सूचना तत्काल निकटतम पुलिस थानाधिकारी या पुलिस अधीक्षक जैसलमेर को देंगे। बूथ धारकों द्वारा संधारित रजिस्टर की समय - समय पर उपखंड अधिकारी , तहसीलदार एंव पुलिस अधिकारी द्वारा जांच की जायेगी। इन आदेषो की अवहेलना करने पर सबंधित व्यक्ति के विरोध भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत दंड भुगतना पड सकता हैं। कि यह आदेष आगामी दो माह की अवधि के लिए प्रभावषील रहेगा।

----000----
बीस सूत्री कार्यक्रम की प्रगति की समीक्षा
को लेकर मासिक बैठक आगामी 12 अप्रेल को


जैसलमेर, 31 मार्च/जिला कलक्टर द्वारा माह अप्रेल के लिए बैठकों के आयोजन को लेकर जारी किए गए मासिक बैठक कलैण्डरनुसार जिले में बीस सूत्री कार्यक्रम की प्रगति समीक्षा के लिए जिला स्तर पर गठित द्वितीय स्तरीय समिति मासिक समीक्षा का आयोजन जिला कलक्टर मातादीन शर्मा की अध्यक्षता में आगामी 12 अप्रेल , बुधवार को मध्यान्ह पश्चात 4 बजेः कलेक्ट्रेट सभागार में रखा गया है। यह जानकारी प्रभारी अधिकारी ,बीस सूत्री कार्यक्रम जैसलमेर डाॅ.बी.एल.मीना ने दी।
डाॅ. मीना ने संबंधित विभागीय अधिकारियों को निर्देषित किया है कि वे मार्च, 2017 की अपडेट प्रगति रिपोर्ट के साथ नियत तिथि को बैठक में समय पर उपस्थित होना सुनिष्चित करावें।
--000---


राजस्थान दिवस के उपलक्ष में आयोजित ’’सांस्कृतिक संध्या ’’ में
जिले के ख्यातनाम लोक कलाकारों नेे बिखेरे लोक संस्कृति के रंग


जैसलमेर, 31 मार्च। स्वर्ण नगरी जैसलमेर में जिला प्रषासन के निर्देषानुसार राजस्थान दिवस समारोह 2017 के अवसर पर आयोेजित हुए विविध कार्यक्रमों की कड़ी में पर्यटक स्वागत केन्द्र जैसलमेर के तत्वावधान में30 मार्च गुरुवार को जग विख्यात सोनार दुर्ग स्थित बाबा रामदेव मंदिर के सामने अखेप्रौल रंगमंच पर जिला कलक्टर मातादीन शर्मा , जिला प्रमुख श्रीमती अंजना मेघवाल और नगरपरिषद सभापति श्रीमती कविता कैलाष खत्री के विषिष्ट आतिथ्य में जिले के अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त लोक कलाकारों द्वारा एक भव्य एवं शानदार ’’ सांस्कृतिक संध्या ’’ का आयोजन किया गया। इस अवसर पर सुविख्यात लोक कलाकारों ने अपने अलग-अलग अंदाज में लोकसंगीत ,लोकनृत्य और बेहतरीन ढंग से लोक वाद्यों का प्रस्तुतीकरण कर अनूठे ढंग से लोकसंस्कृति के रंग बिखेरे।
सांस्कृतिक संघ्या के मौके पर उपखण्ड अधिकारी रणसिंह ,सहायक पर्यटक अधिकारी खेमेन्द्रसिंह जाम , सहायक जन सम्पर्क अधिकारी ईष्वरदान कविया जैसलमेर विकास समिति के सचिव, प्रकाषचन्द्र व्यास , समाजसेवी कंवराजसिंह चैहान , जुगल बोहरा सम कैम्प रिसोर्ट्स वेलफेयर सोसायटी के संचालक पर्यटन व्यवसाई कैलाष व्यास के साथ ही मीडियाकर्मी व नगर के अन्य गणमान्य नागरिक आदि उपस्थित थे।
राजस्थान दिवस के अवसर पर आयोजित हुई इस सांस्कृतिक सांझ का शुभारम्भ जिले की अग्रणीय संगीत संस्थान नांदस्वरम संस्था के सुप्रसिद्ध लोककलाकारों जयप्रकाष हर्ष , धर्मेन्द्र कुमार पुरोहित ,मनोज बिस्सा ,आश्रय बिस्सा ,महेष दैया , राहित जैन तथा सचिन गोयल ने पारम्परिक ढंग से ’’ गणपति वंदना ’’ से किया। इन्ही कलाकारों द्वारा राजस्थानी लोक गीत ’’ आ धरती धौरो री.....पेष कर वातावरण को राजस्थान दिवसमय ओतप्रौसा सा कर दिया। अन्य लोक कलाकारों के माध्यम से ’’ केषरिया बालम आओ नी पधारो म्हारे देष पेष किया गया।
सांस्कृतिक कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण जैसलमेर केे अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त लोककलाकार क्वीन हरीष सुथार एण्ड पार्टी के कलाकारों तथा ममे खां पार्टी द्वारा अपने सिर पर सात घड़े रख कर भवाई नृत्य के साथ ही करताल कार्यक्रम तथा जैसलमेर माटी के एक ओर अनूठे ख्यातनाम कलाकार रामगढ़ निवासी उदाराम का अग्नि तराजू नृत्य/चिरमी रा डाला चार वारी जाउं चिरमी ने रहा। इन कलाकारों द्वारा पेष किए गए कार्यक्रमों को देख कर उपस्थित दर्षन आष्चर्यचकित से रह गए।
इस अवसर पर मूलसागर निवासी अन्र्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त कलाकार तगाराम भील ने शानदार स्वर लहरियों के साथ अलगौंजा पर बाबारामसापीर का भजन पेष कर दर्षकों की वाहावाही लूटी। इसी प्रकार जानरा निवासी थाने खां द्वारा लोक गीत ’’ म्हारे हीवड़े रा जतन कराउं सा... गर्मी होवेे म्हारो जीवड़ो घबरावे.... और रामगढ़ निवासी लालूखां एण्ड पार्टी ने ’’ प्यारो म्हारो जैसाणौ , अर-अर होलियों में उडे रे गुलाल गयो रंग मेला में तथा कनोई जमालखंा एण्ड पार्टी द्वारा ’’ दमादम मस्त कंलदर जुगलबंदी तथा सुप्रसिद्ध लोक गीत ’’ कदे आओ नी रंगीला म्हारे देष जोवो थारी बाटड़ली....पेष कर वातावरण को संगीत के रस में डूबो दिया। सांस्कृतिक संध्या का सफल संचालन व्याख्याता एवं रंगकर्मी विजय बल्लाणी ने किया।
कार्यक्रम अंत में सहायक पर्यटक अधिकारी खेमेन्द्रसिंह जाम ने सभी आगन्तुग अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापित किया। सांस्कृतिक संध्या के सफल आयोजन में पर्यटक स्वागत केन्द्र के व.लि.श्रीवल्लभ शर्मा ,सहायककर्मी अषोक कुमार सौंलकी तथा भैरुसिंह की अहम् भूमिका रही। इस अवसर पर अच्छी संख्या में नगरवासी/विदेषी सैलानी उपस्थित थे।
--000--



0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top