edvertise

edvertise
barmer



जालोर डिजिटल युग में उपभोक्ताओं को अधिक जागरूक रहना होगा- कलेक्टर

विश्व उपभोक्ता दिवस पर संगोष्ठी सम्पन्न




जालोर 15 मार्च - जिला कलेक्टर अनिल गुप्ता ने कहा कि डिजिटल युग में उपभोक्ताओं को अधिक जागरूक रहते हुए अपने अधिकारों का प्रयोग करना होगा अन्यथा वे ठगें जायेगें वही अपने आसपास के लोगों को भी सावचेत करते हुए उन्हें प्रदत्त अधिकारों से अधिकाधिक रूप से अवगत कराना होगा ।

जिला कलेक्टर अनिल गुप्ता बुधवार को विश्व उपभोक्ता दिवस पर स्थानीय कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में ‘‘डिजिटल युग में उपभोक्ताओं के अधिकार‘‘ विषय पर आयोजित संगोष्ठी में बोल रहे थें। उन्होने कहा कि उपभोक्ताओं की जागरूकता ही विश्व उपभोक्ता दिवस की सार्थकता है इसलिए डिजिटल युग में उपभोक्ताओं को मनी ट्रान्सर्फर से लेकर सीधे सामग्री क्रय तक के मामलों में सम्बन्धित कम्पनियों के नियमों व निर्देशो की पूर्ण जानकारी रखनी होगी। उन्होनें कहा कि आज के युग में स्थानीय बाजारों के स्थान पर अन्तर्राष्ट्रीय बाजार हो गये है जहां पर कोई भी व्यक्ति आॅन लाईन खरीद कर सकता है लेकिन इसमें भी उपभोक्ताओं को अपने अधिकारों का संवर्धन करना होगा। उन्होनें कहा कि उपभोक्ता बाजार की प्रमुख धुरी है वही इलेक्ट्रोनिक सामग्री में गांरटी नही होती तथापि उपभोक्ताओं के अधिकारों का हनन नही होना चाहिए। उन्होनें कहा कि उपभोक्ताओं को निर्धारित मंच पर अपनी शिकायत आवश्यक साक्ष्यों के साथ प्रस्तुत करनी चाहिए।

संगोष्ठी में जिला उद्योग संघ के मदनराज बोहरा ने उपभोक्ताओं के हितों के लिए विशेष प्रावधान किये जाने की आवश्यकता जताते हुए कहा कि रोड टैक्स परिवहन विभाग वसूलता है लेकिन परिवहन विभाग सडक नही बनाता वही अनेक देशों में छोटे-छोटे मामलों में उपभोक्ता निर्धारित मंच पर अपनी शिकायत करता है परन्तु हमारे देश में ऐसा नही है इसलिए उपभोक्ताओं को पहले जागरूक होना होगा तभी वे ठगी से बच सकेगें। संगोष्ठी में जिला शिक्षा अधिकारी आर.के. मीना ने उपभोक्ताओं की संतुष्टि ही प्रमुख ध्येय होना चाहिए वही कानून व नियमों की पालना सख्ती से होनी चाहिए। संगोष्ठी में उद्यमी सुरेन्द्र ने भी अपने विचार व्यक्त किये।

संगोष्ठी के प्रारभ्भ में रसद विभाग के लेखाकार रोहिताश ने उपभोक्ताओं के अधिकार, शिकायत दर्ज करने के लिए निर्धारित फोरम एवं निर्धारित शुल्क आदि के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी वही रसद विभाग की प्रवर्तन निरीक्षक नमिता नारवाल ने आभार ज्ञापित करते हुए कहा कि डिजिटल युग में उपभोक्ताओं को अपने पासवर्ड का विशेष ध्यान रखना चाहिए तथा समय-समय पर चैक करते रहना चाहिए। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलेक्टर पी.एस.नागा, समाजसेवी गेनाराम मेघवाल, सीआई चम्पालाल, प्रवर्तन निरीक्षक जितेन्द्रसिंह आशिया, भारत गैस सर्विस के श्याम गोयल व नारायणलाल सहित विभिन्न उपभोक्ता उपस्थित थें।

----000---

जिला कलेक्टर ने व्यवस्थाओं को बेहत्तर बनाने के दिए निर्देश

जालोर 15 मार्च - जिला कलक्टर अनिल गुप्ता की अध्यक्षता में बिजली, पानी, विधुत एवं चिकित्सा आदि विभागों की साप्ताहिक बैठक कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में सम्पन्न हुई जिसमें विभिन्न व्यवस्थाओं को बेहत्तर बनाये जाने सहित फ्लैगशिप योजनाओं आदि की विस्तार से समीक्षा की गई।

जिला कलेक्टर अनिल गुप्ता ने बैठक में फ्लैगशिप योजनाओं की समीक्षा करते हुए कहा कि मुख्य मंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान के तहत द्वितीय चरण के तहत स्वीकृत सभी कार्यो को आगामी 20 मई तक पूर्ण किया जाना है इसलिए सम्बन्धित विभागों के अधिकारी अपने स्तर पर इसकी प्रभावी माॅनिटरिंग करते हुए इन कार्यो को शत प्रतिशत पूर्ण किया जाना सुनिश्चित करवायें। उन्होनें कहा कि जो-जो कार्य प्रारभ्भ हो चुके है लेकिन मौके पर मोबाईल के माध्यम से अभी तक फोटो खींच कर अपलोड नही किये है उन्हेे भी प्रथम प्राथमिकता से पूर्ण करें। उन्होनें वाटर शेड के अधीक्षण अभियन्ता के.एल. मीना को निर्देशित किया वे सभी विभागों से सतत् रूप से सम्पर्क रखते हुए कार्यो की प्रगति को बनाये रखें तथा इसमें किसी भी स्तर पर ढिलाई नही बरतें।

उन्होनें मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा.जी.एस.देवल को निर्देशित किया कि वे भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत बकाया क्लेम का भुगतान करवाने के साथ ही मुख्य मंत्राी राजश्री योजना में भी वांछित लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए अपने अधीनस्थ चिकित्सा अधिकारियों व कर्मचारियों को पाबन्द करते हुए आवश्यक कार्यवाही करें। उन्होनें सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियन्ता एन.के. माथुर को निर्देशित किया कि ग्रामीण गौरव पथों के निर्माण कार्य में गति बढाते हुए गुणवत्ता पर भी विशेष ध्यान रखें।

बैठक में अतिक्ति जिला कलक्टर पी.एस. नागा ने कहा कि शिक्षा विभाग के अधिकारी आदर्श एवं उत्कृष्ट विधालयों में निर्धारित संसाधनों को मुहैया करवाये जाने के कार्य में स्थानीय भामाशाहों एवं दानदाताओं से सम्पर्क रखते हुए इन कार्यो को पूर्ण करवाये। उन्होनें अधिकारियों से कहा कि जिले में अनुउपयोगी एवं क्षतिग्रस्त राजकीय भवनों की स्थिति की सूचना आगामी 31 मार्च तक सार्वजनिक निर्माण विभाग को अनिवार्य रूप से भिजवाई जावें। उन्होनें बैठक में राजस्थान सम्पर्क पोर्टल के तहत 60 दिवस से अधिक अवधि के प्रकरणों की विभागवार समीक्ष करते हुए शीघ्र ही निपटारा करने के भी निर्देश देते हुए कहा कि निस्तारित प्रकरणों का भौतिक सत्यापन के कार्य को भी निर्धारित मापदण्ड के अनुसार पूर्ण करें। बैठक में जालोर नगर परिषद के आयुक्त के अनुपस्थित रहने को गंभीर मानते हुए कारण बताआंे नोटिस जारी करने के लिए भी निर्देशित किया।

बैठक में अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी कैलाशचन्द्र, डिस्कांम के अधीक्षण अभियन्ता बी.एल. दहिया, जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियन्ता कवलजीत, नर्मदा के अधिशाषी अभियन्ता आशिष द्विवेदी एवं प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डा. एस.पी. शर्मा सहित विभिन्न जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थें।

---000---

जालोर में विकसित होगा बेटी उपवन, पर्यावरण समिति की बैठक में लिया निर्णय




जालोर 15 मार्च - जिला कलेक्टर अनिल गुप्ता की अध्यक्षता में जिला पर्यावरण समिति की बैठक सम्पन्न हुई जिसमें जालोर के धवला रोड पर बेटी उपवन को विकसित किये जाने का निर्णय लिया गया।

कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में जिला कलेक्टर अनिल गुप्ता ने आयोजित बैठक में वन विभाग के उपवन संरक्षक हनुमाना राम को निर्देशित किया कि विभाग द्वारा धवला रोड पर 5 बीघा जमीन पर विकसित किये जाने वाले बेटी उपवन के लिए आवश्यक व्यवस्थाओं का संचालन करने के साथ ही इसमें जालोर के प्रबुद्व नागरिकों एवं स्वयंसेवी संस्थाओं का भी सहयोग लिया जायें। बैठक में उन्होनें कहा कि जालोर नगर के प्रबुद्व व सजग लोगों को प्रेरित किया जाये कि उनके घर में जब भी बेटी हो तब वे इस बेटी उपवन में जाकर वहा पर अपनी बेटी के नाम एक पौद्या अवश्य ही लगायें तथा इस उपवन का अधिकाधिक प्रचार प्रसार करते हुए चिकित्सालय में बेनर आदि भी लगायें। उन्होनें प्लास्टिक थैेलियों के सम्बन्ध में भी नगर परिषद एवं रसद विभाग द्वारा संयुक्त कार्यवाही करने के निर्देश दिये।

बैठक में जिला कलेक्टर ने सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियन्ता को निर्देशित किया कि वे बालोतरा से सांडेराव तक बनने वाले राष्ट्रीय राज मार्ग के निर्माण में जालोर के ग्रेनाईट डस्ट पाउडर का उपयोग किये जाने की दिशा में भी आवश्यक कार्यवाही करें। बैठक में उद्यमी मदनराज बोहरा एवं नरेन्द्र बालू ने डम्पिग यार्ड के लिए भूमि का आंवटन एवं जालोर के प्रसिद्व सुन्देलाव तालाब का सौन्दर्यकरण किये जाने के लिए भी अपने विचार व्यक्त कियें वही समिति के सदस्य मुरारदान बारहठ ने भी विचार व्यक्त किये। बैठक में उपवन संरक्षक हनुमानाराम ने बैठक में रखे जाने वाले विषयों के सम्बन्ध में अपनी जानकारी दी। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलेक्टर पी.एस.नागा एवं वन विभाग के जयदेवसिंह सहित अन्य अधिकारी व सदस्य उपस्थित थें।

-----000----

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top