edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर जलापूर्ति सुनिश्चित करवाने के साथ उपयोगिता प्रमाण पत्र भिजवाएंःनेहरा
-जलदाय विभाग को गर्मी के मौसम के मददेनजर जलापूर्ति सुनिश्चित करने के लिए समुचित इंतजाम करने के निर्देश दिए गए।
बाड़मेर, 20 मार्च। गर्मी के मौसम एवं आगामी दिनांे मंे नहरी पानी की आपूर्ति बाधित होने की स्थिति मंे जलापूर्ति सुनिश्चित करने के समुचित इंतजाम किए जाए। इसके लिए कंटीजेंसी प्लान निर्धारित समयावधि मंे तैयार कर लिया जाए। विभिन्न विकास योजनाआंे के लंबित उपयोगिता प्रमाण पत्र भिजवाएं। जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने सोमवार को बिजली,पानी संबंधित साप्ताहिक समीक्षा बैठक के दौरान यह बात कही।

इस दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एम.एल.नेहरा ने कहा कि सीमांत क्षेत्र विकास कार्यक्रम, विधायक स्थानीय क्षेत्र विकास कार्यक्रम समेत विभिन्न विकास योजनाआंे के उपयोगिता एवं कार्य पूर्णता प्रमाण पत्र 31 मार्च से पहले आवश्यक रूप से भिजवाएं। उन्हांेने कहा कि सीमांत क्षेत्र विकास कार्यक्रम के तहत प्रस्तावित कार्याें की सूची संबंधित विभागांे को उपलब्ध करा दी गई है। संबंधित अधिकारी इनकी फिजिबलटी रिपोर्ट शीघ्र भिजवाएं, ताकि वार्षिक कार्य योजना को अंतिम रूप दिया जा सके। उन्हांेने इस दौरान विभागवार बकाया उपयोगिता एवं कार्य पूर्णता प्रमाण पत्र की स्थिति की समीक्षा की। मुख्य कार्यकारी अधिकारी नेहरा ने जनसंपर्क पोर्टल पर दर्ज प्रकरणांे को भी प्राथमिकता से निस्तारित करने के निर्देश दिए। इस दौरान अधीक्षण अभियंता जी.आर.सिरवी ने बताया कि पंडित दीनदयाल विद्युतीकरण योजना के तहत अप्रैल माह मंे सर्वे कार्य प्रारंभ होगा। बैठक के दौरान सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता जे.आर.जीनगर, डिस्काम के अधीक्षण अभियंता जी.आर.सिरवी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी हेमराज सोनी, जलदाय विभाग के सहायक अभियंता महेश शर्मा समेत विभिन्न विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

श्री मल्लीनाथ पशु मेला तिलवाड़ा 24 मार्च से
बाड़मेर, 20 मार्च। श्री मल्लीनाथ पशु मेला तिलवाड़ा का विधिवत शुभारंभ 24 मार्च को ध्वजारोहण के साथ होगा। पशुपालन विभाग ने पशुओं की आवक एवं पशुपालकों के ठहराव समेत अन्य व्यवस्थाओं की पूरी तैयारियां कर ली है। मेला मैदान में पशुओं की आवक शुरू हो गई है।

पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक एवं मेला अधिकारी डा.नारायणसिंह सोलंकी ने बताया कि उच्च न्यायालय के निर्णयानुसार पशुपालकों को पशुओं की खरीद फरोख्त के लिए स्वयं के नाम जमाबंदी की नकल, कृषि भूमि होने के दस्तावेज एवं पहचान पत्र की प्रति उपलब्ध कराना जरूरी है। उन्हांेने बताया कि पशुओं को कृषि कार्य या दुध उत्पादन में उपयोग में लेने का शपथ पत्र, क्रय किए गए पशु की पहचान के लिए ईयर टेग लगवाना तथा पशु स्वास्थ्य प्रमाण पत्र जारी करवाना आवश्यक है। उनके मुताबिक पशु परिवहन के उपयोग में आने वाले बड़े ट्रक में 6 बड़े पशु से अधिक नहीं होने चाहिए तथा पशुओं की चमड़ी नहीं छिलें, इसके लिए उचित प्रबंध वाहन में होना जरूरी है। पशु परिवहन के समय वाहन के साथ पशुओं की देखभाल, चारा-पानी के लिए श्रमिक सहायक के रूप में वाहन के साथ चलना होगा। उन्हांेने बताया कि पशु परिवहन के दौरान वर्तमान में विद्यमान सभी परिवहन नियमों का पालन पशुपालकों एवं परिवहन कर्ताओं को करना होगा। तीन वर्ष से कम के गौ वंश को राज्य से बाहर जाने की अनुमति नहीं मिलेगी।

राजस्थान दिवस समारोह की तैयारियांे के संबंध मंे बैठक आज
बाड़मेर, 20 मार्च। राजस्थान दिवस समारोह की तैयारियांे के संबंध मंे जिला कलक्टर सुधीर शर्मा की बैठक मंे मंगलवार को प्रातः 10.30 बजे बैठक रखी गई है।

अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी.बिश्नोई ने बताया कि इस बैठक मंे विभागीय अधिकारियांे, उद्यमियांे को आमंत्रित किया गया है।

पेंशन प्रकरणांे की त्रैमासिक समीक्षा बैठक आज
बाड़मेर, 20 मार्च। जिला स्तर पर बकाया पेंशन प्रकरणांे की समीक्षा के लिए त्रैमासिक समीक्षा बैठक मंगलवार को प्रातः 11.30 बजे कलेक्ट्रेट कांफ्रेस हाल मंे जिला कलक्टर सुधीर शर्मा की अध्यक्षता मंे रखी गई है।

जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने बताया कि इस बैठक मंे विभागीय लेखा कार्मिक एवं संबंधित लिपिकांे को 31 मार्च 2017 तक की अवधि के दौरान सेवानिवृत होने जा रहे कार्मिकांे की सूचनाआंे के साथ उपस्थित होने के निर्देश दिए गए है।

विकास योजनाआंे की समीक्षा बैठक 23 को
बाड़मेर, 20 मार्च। जिला परिषद की ओर से संचालित विभिन्न विकास योजनाआंे की प्रगति संबंधित समीक्षा 23 मार्च को कलेक्ट्रेट कांफ्रेस हाल मंे दोपहर 12.30 बजे जिला कलक्टर सुधीर शर्मा की अध्यक्षता मंे रखी गई है।

जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने बताया कि बैठक के दौरान सीमांत क्षेत्र विकास कार्यक्रम, विधायक एवं सांसद स्थानीय क्षेत्र विकास कार्यक्रम, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना, इंदिरा आवास,महात्मा गांधी नरेगा योजना, मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान, स्वच्छ भारत मिशन समेत विभिन्न विकास योजनाआंे की प्रगति की समीक्षा की जाएगी। इसी दिन प्रातः 11 बजे बीस सूत्री आर्थिक कार्यक्रम वर्ष 2016-17 के लिए आवंटित लक्ष्यांे के माह फरवरी 2017 तक के विरूद्व उपलब्धियांे की समीक्षा के लिए गठित द्वितीय स्तरीय मासिक समीक्षा बैठक जिला कलक्टर की अध्यक्षता मंे आयोजित होगी। इस बैठक मंे संबंधित विभागीय अधिकारियांे को आवश्यक सूचनाआंे के साथ उपस्थित होने के निर्देश दिए गए है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top