edvertise

edvertise
barmer



जिला कलक्टर एंव जिला प्रमुख ने सुनी ग्रामीणों की परिवेदनाएं

मूलाना में 30 दिवस में ग्रामीण फीडर होगा अलग

समस्याओं का 15 दिवस में निराकरण के दिये निर्देष


जैसलमेर, 25 मार्च। जिला कलक्टर मातादीन शर्मा एवं जिला प्रमुख श्रीमती अंजना मेघवाल ने शुक्रवार को ग्राम पंचायत मूलाना के अटल सेवा केन्द्र परिसर में आयोजित रात्रि चैपाल के दौरान ग्रामीणों की परिवेदनाएं सुनी एवं अधिकारियों को 15 दिवस में उसके निस्तारण के निर्देष दिए। रात्रि चैपाल के फलस्वरूप मूलाना के सरपंच एवं ग्रामीणों की मांग पर घरेलू विद्युत सेवा को कृषि फीडर से अलग कर 30 दिवस में ग्रामीण फीडर चालू कराने का अधिषाषी अभियंता विद्युत ने विष्वास दिलाया। इसके साथ ही दवाडा में शीघ्र ही नलकूप चालू होने एवं सोढो के वास में नये नलकूप के प्रस्ताव लेनें की भी बात अधिषाषी अभियंता जलदाय ने बताई। इस प्रकार मूलाना वासियों के लिए जिला कलक्टर की रात्रि चैपाल काफी लाभदायी रही। चैपाल के दौरान समाजसेवी जुगलकिषोर व्यास, उपखंड अधिकारी रणसिंह, तहसीलदार तुलछाराम विष्नोई, विकास अधिकारी सुखराम विष्नोई, सरपंच मूलाना बलवन्तसिंह के साथ अच्छी संख्या में ग्रामीणजन एवं जिलास्तरीय अधिकारी उपस्थित थें।

पेयजल आपूर्ति में लावें सुधार

रात्रि चैपाल के दौरान ग्रामीणो ने दवाडा के सोढो के वास में नलकूप की स्वीकृति कराने, मूलाना की ढाणियों में क्षतिग्रस्त पाइपलाईन से पेयजल आपूर्ति सही नहीं होने के संबंध में प्रार्थना-पत्र दिए। इस संबंध में जिला कलक्टर ने अधिषाषी अभियंता जलदाय को निर्देष दिए कि वे सोढो के वास में पानी की समस्या को देखते हुए शीघ्र ही नये नलकूप के प्रस्ताव लेकर स्वीकृत करावें वहीं क्षतिग्रस्त पाइपलाईन की जांच कर उन्हें सहीं करावें एवं गर्मी को देखते हुए पेयजल आपूर्ति में सुधार लावें। इसके साथ ही सोढो के वास में 15 दिवस मे पशुखेली का मरम्मत कर सही कराने का भरोसा दिलाया।

द्वितीय चरण में होगी ढाणियां विद्युतीकरण

चैपाल में ग्रामीणों ने ढाणियों को विद्युतीकरण कराने के संबंध में प्रार्थना-पत्र दिये। इस संबंध में अधिषाषी अभियंता विद्युत ने बताया कि जो ढाणियां 100 की आबादी से कम है उनको पण्डित दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना में द्वितीय चरण में जोड दिया जाएगा। ग्रामीणों ने कृषि फीडर के साथ ग्रामीण फीडर जुडने के कारण विद्युत सप्लाई 24 घण्टे नहीं मिलती है इसलिए इस फीडर को अलग करने की पूरजोर मांग की। इस संबंध में जिला कलक्टर ने विद्युत विभाग के अभियंता से जानकारी ली तो बताया कि वास्तव में यह समस्या ग्रामीणों की वाजिब है एवं 30 दिवस में इस फीडर को अलग कर दिया जाएगा। उन्होंनें प्रतापसिंह की ढाणी में विद्युत लाईन एवं पोल क्षतिग्रस्त की षिकायत के मामले में बताया कि उसकी जांच कर 10 दिवस में सही कार्यवाही करा दी जाएगी।

चलायमान रास्तों का कटान कर दिया जाएगा

रात्रि चैपाल के दौरान मूलाना के ग्रामीणों ने बताया कि यह क्षेत्र सिंचित है एवं खेतों में जाने के लिए रास्ते की भारी समस्या है तथा रास्ते का कटान कराने की मांग की। इस संबंध में उपखंड अधिकारी रणसिंह ने बताया कि यदि रास्ते प्राचीन समय से चलायमान है तो उनका कटान करके राजस्व रिकाॅर्ड में अमलदरामद करा दिया जाएगा वहीं यदि खातेदारी खेत में से रास्ता चाहिए तो उसके लिए वे उपखण्ड न्यायालय में दावा पेष करें ताकि नियमानुसार कार्यवाही की जा सकें। चैपाल में प्रधानाध्यापक की मांग पर जिला कलक्टर ने उपखंड अधिकारी को निर्देष दिए कि वे राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय एवं राजकीय बालिका उच्च प्राथमिक विद्यालय के खेल मैदान के लिए भूमि आवंटन का प्रस्ताव तैयार कर शीघ्र ही स्वीकृत करावें। उन्होंनंे तहसीलदार को निर्देष दिए कि सरकारी भूमि पर जिन लोगों ने अतिक्रमण किए है उनकी जांच कर शीघ्र ही हटाने की कार्यवाही करें।

बेटी बचाओं-बेटी पढाओं का लिया संकल्प

जिला कलक्टर ने रात्रि चैपाल में बेटी बचाओं-बेटी पढाओं कार्यक्रम की जानकारी देते हुए ग्रामीणों से कहा कि आज महिलाएं हर क्षेत्र में अपना परचम फहरा रही है। लेकिन जैसलमेर में अभी भी बालिका षिक्षा कम होने से बालिकाएं आगे नहीं बढ रही है जो चिन्ता का विषय है। उन्होंनंे कहा समाज का आधा भाग विकसित होगा तभी समाज का संर्वागीण विकास संभव है। उन्होनंे बेटी को बचाने एवं पढाने की सीख दी तो संरपच बलवन्तसिंह एवं ग्रामीणों ने संकल्प लिया कि वे इस कार्यक्रम में पूरा सहयोग करेगें एवं बेटी के जन्म को उत्सव के रूप मनायेगें।

एक माह में मूलाना पंचायत को कर देंगंे ओडीएफ

रात्रि चैपाल में जिला कलक्टर ने स्वच्छ भारत मिषन की जानकारी दी एवं कहा कि मूलाना पंचायत को शीघ्र ही ओडीएफ कराने की सीख दी । इस संबंध में सरपंच एवं ग्रामीणों ने एक स्वर में उन्हें विष्वास दिलाया कि वे लोगों को प्रेरित कर जिन घरों में अभी तक शौचालय नही बनें है उनके शौचालय बनाकर 1 माह में पूरी पंचायत को ओडीएफ बनायेगें।

समस्याओं का अधिकारी करें प्राथमिकता से निस्तारण

जिला प्रमुख श्रीमती अंजना मेघवाल ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि जो श्रमिक का कार्य करते है वे श्रम विभाग को अपना पंजीयन करवाकर श्रमिक कार्ड बनावे ताकि श्रम कल्याण की संचालित योजनाओं का उन्हें लाभ मिलें। उन्होंनें पालनहार के पात्र बच्चों को इस योजना से लाभान्वित कराने पर जोर दिया। उन्होंनें बालिका षिक्षा पर विषेष ध्यान देने, अधिकारियों को रात्रि चैपाल में प्रस्तुत की गई समस्याओं का समय पर निरकारण करने पर बल दिया ताकि इन रात्रि चैपालों की उपादेयता सिद्व हो। उन्होंनें गर्मी के मौसम मे पेयजल विभाग के अधिकारियों को अधिक मेहनत कर जलापूर्ति की व्यवस्था सुचारू बनाएं रखने पर विषेष जोर दिया।

रात्रि चैपाल जनसमस्या निराकरण की अनूठी पहल

समाजसेवी जुगलकिषोर व्यास ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री महोदया आमजन की समस्याओं के निराकरण को विषेष महत्व दे रहीं है। उन्होंनंे कहा कि रात्रि चैपाल भी इसी कडी का एक पहलू है जिसमें पूरा जिला प्रषासन ग्राम पंचायत मुख्यालय पर आकर जनता की समस्याएं सुनते है उसका निराकरण करते है। उन्होंनंे कहा कि इस प्रकार की रात्रि चैपाल से ग्रामीणों को जहां राहत मिलती है वहीं उन्हें सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं की भी जानकारी मिलती है। उन्होंनंे जिला कलक्टर से आग्रह किया कि ओरण भूमि का आवंटन सौर उर्जा कम्पनियों को नहीं करावंे।

योजनाओं की दी जानकारी

रात्रि चैपाल में सभी जिलाधिकारियों ने उनके विभाग में संचालित राज्य सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी एवं उसका लाभ उठावें का आग्रह किया।

इन्होंनें रखी परिवेदनाएं

चैपाल में सरंपच बलवन्तसिंह ने हेमसिंह की ढाणी भीमसर में 33/11 केवी जीएसएस की स्वीकृति कराने, मूलाना मंे बैंक खुलवाने, गोपालसिंह ने भोमियाजी की बैल्ट की विद्युत लाईन को सही कराने एवं नये पोल लगाने, वार्ड पंच भूरसिंह जागा ने दवाडा से रासला को डामर सडक से जुडवाने, मूलाना में पशु चिकित्सालय खुलवाने के संबंध में प्रार्थना पत्र पेष किए।

भामाषाह कार्ड व आधार कार्ड बनावें

भामाषाह अधिकारी डाॅ.बी.एल.मीणा ने भामाषाह व आधार कार्ड से वंचित लोगों को भामाषाह एवं आधार कार्ड अनिवार्य रूप से बनाने की सीख दी ताकि उन्हें योजनाओं के लाभ की राषि सीधें उनके खाते में जमा हों।

रात्रि चैपाल में ग्रामीणों ने अच्छी रूचि दिखाई एवं अपनी व्यक्तिगत तथा सार्वजनिक समस्याओं को जिला कलक्टर के समक्ष खुलें मन से पेष की। जिला कलक्टर ने भी ग्रामीणों की जागरूकता पर उनकी प्रषंसा की एवं कहा कि यही रात्रि चैपाल की सही उपयोगिता है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top