अमर शहीद जगदीश बिश्नोई की अंतिम यात्रा, हजारों ने नम आंखों से दी विदाई
अमर शहीद जगदीश बिश्नोई की अंतिम यात्रा, हजारों ने नम आंखों से दी विदाई

बीकानेर। हजारों लोगों ने पुष्प वर्षा कर शहीद को जैसे होली खिलाकर विदाई दी। उन सभी की पलकों के नीचे से आंसू की धार बह निकली थी। हुजूम था जो इस जवान के आगे नतमस्तक था। उसकी बहादुरी का लोहा मानकर उसे अंतिम विदा के लिए जुटा था।नोखा के शहीद को यूं दी अंतिम विदाई...

- सीमा पर नोखा के शहीद जगदीश विश्नोई शहीद हो गए थे।

- होली पर नोखा आए पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शन करने नोखा सहित आसपास के दर्जनों गांवों के लोग उमड़ पड़े।

- हर वर्ग, हर कौम, शहीद को नमन कर रहा था।

- देखते-देखते शहीद की पार्थिव देह पंचतत्व में विलीन हो गई।

- परिवार की आंखें भी नम थीं, पर उनके चेहरे से गर्व के भाव भी स्पष्ट दिखाई दे रहे थे। उनके परिवार ने एक शहीद देश को कुर्बान किया था।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top