edvertise

edvertise
barmer

 बाड़मेर अखील राजस्थान राज्य संयुक्त कर्मचारी महासंध बाङमेंर का हल - चल शुरू


           अखील राजस्थान राज्य संयुक्त कर्मचारी महासंध बाङमेंर के जिला महामन्त्री कानसिंह भाटी के नेंतृत्व में प्रदेंश स्तरीय आवाहन पर 15 सुत्री मांग पत्र व सातवें वेंतन आयोंग को लेंकर 48 धणटें का अनशन जिला कलेक्टर कार्यलय के सामनें धरना लगाकर शुरू किया गया । भाटी नें बताया की पिछलें तीन माह सें महा संध में 15 सुत्री माॅग पत्र व सातवें वेंतन आयोंग की सिफारशों लागु करनें को लेंकर संधर्ष की राह पर हैं। लेंकिन सरकार अभी तक इस सम्बन्ध में कोई भी निर्णायक कार्यवाही नही की गई हैं। संधर्ष की कडी में आज 7 मार्च से महा संध के धटक संवर्गों के 25 सें अधिक संगठनों में करीबन 55 सें 60 कर्मचारीयों नें आज कानसिंह भाटी के नेंतृत्व में अनशन शुरू किया आज अनशन स्थल पर पंचायत प्रसार अधिकारी संध के भैराराम चैधरी , ओंकारदान, देंविसिंहसोंढा, भीमाराम , रेखाराम , अशोंक गोयल, ग्रामसेंवक संध के  स्वरूपसिंह मारूडी, श्यामसिंह, खुमानसिंह, ओंमप्रकाश चैधरी , मंत्रालियक कर्मचारी के खुमानसिंह, पिराराम व पटवार संध के , कानुनगों संध के , नृंिसंग संध के , नरेंगा कार्मीक संध के, रेशा संध के , रेसला संध के ,पंचायती राज शिक्षक संध, शिक्षक संध प्रगतिशल , शिक्षक संध शेंखावट, शारीरीक शिक्षक संध, वन विभाग , लेंखा संध , इत्यादी धटक संवर्गों सभी पदाधिकारीयों नें भाग लिया धरना स्थल पर जनप्रतिनिधी के रूप  राजुसिंह सरपंच, भुखा भगतसिंह, गेंहु सरपंच,धराबा सरपंच,रामसर के जनप्रतिनिधीयों नें आकर अनशन पर बैठें कर्मचारीयों का होसला अफजाई  किया । भाटी नें बताया कि समय रहतें सरकार नें माॅगों पर उचित कदम नही उठाया तों आन्दोंलन को और उग्र रूप दिया जावेंगा जिसकी समस्त जिम्मेंदारी राजस्थान सरकार की रहेंगी 

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top