edvertise

edvertise
barmer



बालेसर दो मासूम बेटियों के साथ महिला ने टांके में कूदकर की आत्महत्या

दो मासूम बेटियों के साथ महिला ने टांके में कूदकर की आत्महत्या



उटांबरगांव में एक महिला ने अपनी दो मासूम बेटियों के साथ टांके में कूदकर आत्महत्या कर ली। मृतका के भाई ने बहनोई के खिलाफ दहेज के लिए प्रताड़ित करने का मामला दर्ज करवाया है। बालेसर थाना प्रभारी मूलसिंह भाटी ने बताया कि भरतसिंह पुत्र मोहनसिंह राजपूत निवासी नागड़ी पुलिस थाना खींवसर नागौर ने रिपोर्ट पेश कर बताया कि उसकी बहन नेनू कंवर 25 की शादी पांच साल पहले उटांबर निवासी भोमसिंह पुत्र कुंभसिंह दत्तक पुत्र शहीद गणपतसिंह भाटी के साथ हुई थी। शादी के बाद से उसका पति दहेज के लिए प्रताड़ित करने लगा। रोज शराब पीकर तंग करता था। मारपीट से परेशान होकर नेनू ने सोमवार को सायं पांच छह बजे तीन साल की बेटी गुंजल चार साल की लक्षिता को लेकर टांके में कूदकर आत्महत्या कर ली। पुलिस उपअधीक्षक अजीत सिंह जाब्ते ने मौके पर पहुंच कर शवों को बाहर निकलवाया और जोधपुर एमडीएमएच में मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाकर शव सौंप दिया। वहीं, पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी।




घरवाले शादी में गए थे




पड़ोसियोंने बताया कि भोमसिंह के घर के पास किसी परिचित की शादी थी। सोमवार को बारात रवाना हो रही थी। नेनू कंवर बच्चियां ही घर में थी। इस दौरान उसने दो बच्चियों के साथ टांके में कूदकर आत्महत्या कर ली। घर वाले वापस आए तो देखा कि घर पर कोई नहीं था। आस पास देखा तो शव टांके में तैर रहे थे।




1971में शहीद हुए गणपतसिंह का दत्तक पुत्र है मृतका का पति




भारत-पाक1971 के युद्ध में गणपतसिंह शहीद हो गए थे। उनके कोई बेटा नहीं होने से गणपतसिंह ने भोमसिंह को गोद ले रखा था। भोमसिंह शहीद गणपतसिंह की प|ी के साथ रहता है। भोमसिंह की पुत्री लक्षिता पहली कक्षा में पढ़ाई करती थी। उसकी छोटी बहन गुंजल भी उसके साथ स्कूल जाती थी।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top