edvertise

edvertise
barmer





मैराथन मंे दौड़ा बाड़मेर

- रन फोर ड्रीम बाड़मेर मैराथन मंे आमजन की ऐतिहासिक भागीदारी।

बाड़मेर, 29 मार्च। जिला मुख्यालय पर बुधवार को बाड़मेर मैराथन का आयोजन हुआ। बाड़मेर मैराथन मंे हजारांे लोगांे ने शामिल होकर अपने सपने साकार करने एवं बाड़मेर के विकास का संदेश दिया।

जिला मुख्यालय पर गडरारोड़ स्थित महावीर सर्किल से बाड़मेर मैराथन के लिए प्रतिभागियांे को जिला कलक्टर सुधीर शर्मा, पुलिस अधीक्षक डा.गगनदीप सिंगला, यूआईटी चैयरमैन डा.प्रियंका चौधरी, नगर परिषद के सभापति लूणकरण बोथरा ने प्रातः 6.30 बजे हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। पहली मर्तबा आयोजित हुई बाड़मेर मैराथन मंे जन प्रतिनिधियांे के साथ प्रशासनिक अमला, सेना, सीमा सुरक्षा बल, वायुसेना, एनसीसी के अधिकारियांे एवं कर्मचारियांे के अलावा फिफ्टी विलेजर्स, गु्रप फोर पीपुल्स समेत विभिन्न संगठनांे के प्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक एवं आमजन शामिल हुए। बाड़मेर मैराथन का तीन श्रेणियांे मंे आयोजित हुआ। इसमंे 45 वर्ष से अधिक आयु, 45 वर्ष से कम आयु के पुरूषांे के अलावा महिलाएं शामिल रही। बाड़मेर मैराथन मंे जिला कलक्टर सुधीर शर्मा, पुलिस अधीक्षक डा.गगनदीप सिंगला, भारतीय राजस्व सेवा के अधिकारी पी.आर.मिर्धा, अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी.बिष्नोई, यूआईटी चैयरमैन डा.प्रियंका चौधरी, नगर परिषद चैयरमैन लूणकरण बोथरा, समाजसेवी एवं आयोजक तनसिंह चौहान, रावल त्रिभुवनसिंह राठौड़, अशोक तनसुखानी, आजादसिंह, एनसीसी के अधिकारी आदर्श किशोर, उद्योग भारती के अध्यक्ष कैलाश कोटडि़या, डा.विकास चौधरी, डा.पंकज अग्रवाल, डा. लता अग्रवाल, डा.हरीश जांगिड़, डा. लोकेन्द्रसिंह के साथ विभिन्न गणमान्य नागरिक भी शामिल हुए। इस दौरान छह किमी तक बाड़मेर मैराथन मंे दौड़ने वाले प्रतिभागियांे का विशाल कारवां नजर आया। इस दौरान प्रतिभागियांे के लिए एम्बूलैंस मय चिकित्सक के साथ हर दो किमी पर पानी एवं ज्यूस की व्यवस्था भी की गई। बाड़मेर मैराथन के समापन पर विजेता प्रतिभागियांे एवं इस आयोजन मंे सहयोग करने वालों को प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। इस दौरान अंतरराष्ट्रीय धावक दीपाराम को आयोजक तनसिंह चौहान की ओर से 21 हजार रूपए का चैक देकर सम्मानित किया गया। समारोह के दौरान वरिष्ठ अधिवक्ता करनाराम चौधरी अतिथि के रूप मंे उपस्थित रहे।

बाड़मेर के विकास मंे भागीदारी बनेंः जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने राजस्थान दिवस के उपलक्ष्य मंे बाड़मेर मैराथन के आयोजन एवं आमजन की भागीदारी की सराहना करते हुए कहा कि आमजन बाड़मेर के विकास मंे भागीदार बने। उन्हांेने कहा कि युवा वर्ग स्वस्थ रहने एवं अपने सपनांे को साकार करने का संकल्प लेकर जाएं। उन्हांेने आयोजकांे को बधाई देते हुए कहा कि इस परंपरा को लगातार जारी रखे। बाड़मेर पुलिस अधीक्षक डा.गगनदीप सिंगला ने कहा कि बाड़मेर मैराथन मंे शामिल होकर लोगांे ने अपने सपने के लिए जिस तरह जोश एवं भागीदारी दिखाई है, वह निसंदेह सराहनीय है। उन्हांेने आयोजक तनसिंह चौहान एवं जोगेन्द्रसिंह चौहान का आभार जताते हुए कहा कि मैराथन मंे सभी धर्म, जाति के लोगांे की भागीदारी से आपसी भाईचारे का संदेश गया है। उन्हांेने इसको अच्छी पहल बताते हुए लगातार जारी रखने की बात कही। यूआईटी चैयरमैन डा.प्रियंका चौधरी ने बाड़मेर मैराथन की शुरूआत के लिए बधाई देते हुए कहा कि बाड़मेर जिले का पिछड़ा माना जाता रहा है। लेकिन अब बाड़मेर किसी भी क्षेत्र मंे पीछे नहीं है। उन्हांेने कहा कि बाड़मेर में सेना एवं बीएसएफ के साथ आम नागरिक भी देश की रक्षा के लिए सदैव तत्पर रहते है। उन्हांेने आमजन को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक होने एवं दौड़ तथा व्यायाम को जीवन का नियमित हिस्सा बनाने की बात कही। भारतीय राजस्व सेवा के अधिकारी पदमाराम ने बाड़मेर जैसे छोटे जिले मंे भी इस तरह के आयोजन की परिकल्पना एवं सफल आयोजन के लिए प्रशंसा करते हुए कहा कि आगामी वर्षाें मंे भी इसको जारी रखा जाए।

अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी.बिश्नोई ने कहा कि आमजन को अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक होना होगा। उन्हांेने आयोजकों एवं इस आयोजन मंे प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से सहयोग करने वालांे का जिला प्रशासन की ओर से आभार जताया।

इस दौरान बाड़मेर नगर परिषद के सभापति लूणकरण बोथरा ने कहा कि बाड़मेर मैराथन का आयोजन सराहनीय प्रयास है। उन्हांेने विशेषकर युवाआंे से स्वास्थ्य के प्रति जागरूक होने एवं स्मार्ट फोन का उपयोग करने की सलाह दी। कार्यक्रम के अंत रावल त्रिभुवनसिंह ने सबका आभार जताते हुए कहा कि इस तरह के आयोजन निसंदेह सराहनीय पहल है। उन्हांेने कहा कि सभी जन प्रतिनिधि, अधिकारी एवं आमजन आपसी समन्वय से बाड़मेर के विकास मंे महत्वपूर्ण भागीदारी निभाएं। समारोह मंे धावक दीपाराम ने भी अपने अनुभवांे का जिक्र करते हुए कहा कि अगर रोजाना कम से कम पांच किमी भ्रमण किया जाए तो कई बीमारियांे पर अंकुश लगाया जा सकता है। कार्यक्रम का संचालन डा.जसवंतसिंह मायला ने किया। इस दौरान फिफ्टी विलेजर्स के डा.सुरेन्द्र चौधरी एवं भरत सहारण, गांधी नगर यूथ एसोशिएट के प्रतिनिधि उगमसिंह एवं रविन्द्रसिंह, बाड़मेर मैराथन की प्रतिभागी श्वेता देवी को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के अंत मंे समाजसेवी तनसिंह चौहान से अतिथियांे को स्मृति चिन्ह भेंट किए।

कौन-कौन रहे बाड़मेर मैराथन के विजेताः बाड़मेर मैराथन के आयोजन प्रभारी जोगेन्द्रसिंह चौहान ने बताया कि 45 वर्ष से अधिक आयु के वर्ग मंे सुखवेन्द्रसिंह, छैलसिंह, वीरेन्द्रसिंह, मेघाराम,कल्याणसिंह, भुपेन्द्रसिंह, आर.डी.साहब, नरपतसिंह, देवाराम चौधरी, सोनाराम क्रमशः एक से दसवंे स्थान पर रहे। इसी तरह 45 वर्ष से कम आयु वर्ग मंे राजेशसिंह, दिनेश कुमार, सुरजीतसिंह, विष्णु कुमार, रपिन चौधरी, श्रीपालसिंह पानिक, रविन्द्रसिंह, दीपाराम, अमित जी नारन, नटवरसिंह क्रमशः एक से दसवंे स्थान पर रहे। उन्हांेने बताया कि महिला वर्ग मंे प्राची द्विवेदी, कमला, ललिता, लहरी, भंवरी, जमना, कमला, भगवती, केसी, सुनीता क्रमशः एक से दसवंे स्थान पर रही। मैराथन के विजेताआंे को प्रशस्ति पत्र एवं प्रथम तीन स्थान पर रहने वालांे को ट्राफी देकर सम्मानित किया गया।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top