edvertise

edvertise
barmer



केयर्न इंडिया में वैश्विक तेल-गैस विशेषज्ञों की नियुक्ति

भारत के कच्चे तेल और गैस उत्पादन में 50 प्रतिशत का योगदान करने की केयर्न इंडिया की राजस्थान के बाड़मेर तेल क्षेत्रों की विकास योजना को साकार करने में मैलोडी मेयर और अतुल गुप्ता का सत्तर साल का संयुक्त अनुभव एक निश्चित भूमिका निभाएगा

देश की सबसे बड़ी निजी क्षेत्र की तेल - गैस खोज और उत्पादन (ईएंडपी) कंपनी- केयर्न इंडिया, जो वर्तमान में भारत के कच्चे तेल के उत्पादन में लगभग 30 प्रतिशत का योगदान दे रही है, ने विश्व के अग्रणी तेल एवं गैस विशेषज्ञों मैलोडी मेयर और अतुल गुप्ता को सलाहकार नियुक्त किया है।

ये वरिष्ठ विशेषज्ञ अपने साथ शेवरॉन, पेट्रोफिना और बुर्रेन एनर्जी जैसी ग्लोबल तेल एवं गैस कंपनियों के साथ मिडिल ईस्ट, मध्य एशिया और अलास्का के रूप में विविध भौगोलिक जगहों से सत्तर साल का संयुक्त अनुभव अपने साथ ले कर आएंगे।


एक ऐसे समय में, जबकि केयर्न इंडिया भारत के कुल कच्चे तेल उत्पादन का 50 प्रतिशत योगदान करने के लिए 5 अरब बैरल तेल समतुल्य का भंडार और तीन लाख बैरल तेल का कुल उत्पादन करने के लक्ष्य सहित अपनी विकास यात्रा पर पर बढ़ रही है, वे इसे रणनीतिक और परिणाम केंद्रित दिशा प्रदान करेंगे।

इन नियुक्तियों पर बोलते हुए श्री सुधीर माथुर, कार्यवाहक सीईओ, केयर्न इंडिया का कहना है: "यह बहुत गर्व की बात है कि सुश्री मैलोडी मेयर और श्री अतुल गुप्ता हमारे से जुड़ रहे हैं। हमें विश्वास है कि व्यापक तेल और गैस अनुभव, नेतृत्व और व्यावसायिक कौशल के अपने अनूठे मिश्रण के साथ, वे संयुक्त रूप से, परिचालन दक्षता को और बढ़ाने और हमारे व्यापार-विकास में एक उत्कृष्ट भूमिका निभाएंगे। वे हमारे लिए ऐसे नींव के पत्थर साबित होंगे जिस पर केयर्न इंडिया के भविष्य के विजन की स्थापना की जाएगी।"

सुश्री मैलोडी मेयर दुनिया की सबसे बड़ी एकीकृत तेल कंपनियों में से एक- शेवरॉन कॉर्पोरेशन के साथ समृद्ध अनुभव के 37 साल लाती हैं। कंपनी के साथ प्रेसीडेंट- एशिया पेसिफिक के रूप में उसकी आखिरी भूमिका में, वह इस क्षेत्र में नौ देशों में शेवरॉन के खोज और ऑपरेशन गतिविधियों के लिए जिम्मेदार रहीं। वह वैश्विक अपस्ट्रीम ऑपरेशन में रणनैतिक व्यापार योजना, प्रमुख पूंजी परियोजनाओं के निष्पादन, पूंजी आवंटन और उत्कृष्ट वित्तीय परिणाम देने की व्यापक नेतृत्व विशेषज्ञता रखती हैं। शेवरॉन में ही पूर्व की भूमिकाओं में, मैलोडी, वाईस प्रेसीडेंट-मेक्सिको एसबीयू, अमेरिका मध्य-महाद्वीप और अलास्का की खाड़ी एसबीयू के उपाध्यक्ष ऊर्जा प्रौद्योगिकी की अध्यक्ष के रूप में नेतृत्व की जिम्मेदारियों को निभा चुकी हैं।

एक अमेरिकी नागरिक मैलोडी, मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बीएस की डिग्री के साथ 1979 में ट्रिनिटी विश्वविद्यालय से स्नातक की और 1997 में डार्टमाउथ टक कार्यकारी शिक्षा कार्यक्रम में भाग लिया। 'ऊर्जा के क्षेत्र में महिलाओं' के लिए एक समर्थक के रूप में, वे शेवरॉन वूमेन्स नेटवर्क की कार्यकारी प्रायोजक भी रहीं और वीमेन विथ एनर्जी एलएलसी की स्थापना की। मैलोडी वर्तमान में ट्रिनिटी यूनिवर्सिटी और नेशनल ब्यूरो ऑफ़ एशियन रिसर्च के बोर्ड में ट्रस्टी हैं। 2009 में, उन्हें ट्रिनिटी विशिष्ट अलुमनी, बायोह्यूस्टन वीमेन इन साइंस और एएसएमई रोड्स पेट्रोलियम इंडस्ट्री लीडरशिप पुरस्कार के रूप में मान्यता दी गई थी।
अपनी नियुक्ति पर मैलोडी का कहना है, "मैं बहुत केयर्न के लिए एक कार्यकारी सलाहकार होने के लिए उत्साहित हूँ। यह भारत में मेरा पहला अनुभव होगा जो दुनिया के सबसे तेजी से विकसित होते ऊर्जा बाजारों में से एक है। मैं कंपनी की एकीकृत खोज और संचालन योजनाओं, क्षमताओं के लिए मूल्य संवर्धन और निर्बाध परियोजना निष्पादन जो कि भविष्य के विकास के लिए महत्वपूर्ण हैं उसके लिए सही प्रोजेक्ट पार्टनर में अपना योगदान करने के प्रति आशान्वित हूँ।"

36 से अधिक वर्षों के समृद्ध और विविध वैश्विक अनुभव के साथ, श्री अतुल गुप्ता वर्तमान में ग्लोबल इक्विटी फर्मों के सलाहकार हैं और नोस्ट्रम (कजाखस्तान), सेवन एनर्जी (नाइजीरिया) और वेट्रा एनर्जी (कोलम्बिया) सहित कई अपस्ट्रीम तेल और गैस कंपनियों के बोर्ड में हैं।

पूर्व में वे बीएसजी रिसोर्सेज- एक प्राकृतिक संसाधन और बिजली कंपनी, के साथ तेल और गैस कंपनियों के अध्यक्ष और सीईओ थे। उसके पहले, अतुल ने बुर्रेन एनर्जी पीएलसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के रूप में कार्य किया। दो दशक से अधिक के लिए उसके पहले, वे अंतरराष्ट्रीय अपस्ट्रीम तेल और गैस के कारोबार के साथ नेतृत्व की भूमिका में चार्टरहाउस पेट्रोलियम, पेट्रोफिना, मोन्यूमेंट एंड बुर्रेन एनर्जी के साथ जुड़े। अगस्त 2006 से अगस्त 2008 तक वे हिंदुस्तान ऑयल एक्सप्लोरेशन कंपनी लिमिटेड के प्रबंध निदेशक रहे। एक ब्रिटिश नागरिक अतुल ने कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से केमिकल इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री और पेट्रोलियम इंजीनियरिंग में एक मास्टर की डिग्री हेनरिओट-वाट विश्वविद्यालय से हासिल की।

अपनी नियुक्ति पर अतुल कहते हैं, "मैं ऐसे समय में केयर्न में शामिल होने में ख़ुशी का अनुभव कर रहा हूँ जब कंपनी भारत के ऊर्जा सुरक्षा और स्थिरता की दिशा में मिशन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए तत्पर है। इसके अलावा, कम कीमत पर समग्र कच्चे तेल और प्राकृतिक गैस का उत्पादन बढ़ाना इस दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम होगा। इन दोनों पहलुओं में केयर्न के पास उत्कृष्टता की एक मजबूत विरासत है और मैं विरासत को आगे बढ़ाने की उम्मीद कर रहा हूँ।"

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top