edvertise

edvertise
barmer



जैसलमेर अकल से परम्परागत खेल

राजस्थान दिवस के उपलक्ष में

आयोजित होंगंे विविध कार्यक्रम


जैसलमेर, 15 मार्च। राजस्थान दिवस समारोह के उपलक्ष में जिला मुख्यालय पर विविध कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा, जिनमें राजस्थान की कला, संस्कृति एवं ऐतिहासिक व परम्परा की झलक देखनें को मिलेगी। जिला कलेक्टर मातादीन शर्मा ने कार्यक्रमों के भव्य आयोजन के लिए व्यापक तैयारियांे की हिदायत दी है। उन्होंनें बुधवार प्रातः कलेक्ट्रेट सभागार में राजस्थान दिवस समारोह के कार्यक्रमों की समीक्षा की।

इस मौके पर जिला कलक्टर शर्मा ने बताया कि राजस्थान दिवस समारोह के कार्यक्रमों के आयोजन का जिम्मा पर्यटन विभाग का रहेगा तथा उप निदेषक नोडल अधिकारी होंगें। जिला कलक्टर ने बताया कि राजस्थान दिवस समारोह के कार्यक्रमों का आगाज परम्परागत खेल-कूद प्रतियोगिताओं से होगा जो 17 एवं 18 मार्च को आयोजित किए जाएगें। 17 मार्च को शहीद पूनमसिंह स्टेडियम में प्रातः 7 बजे से सांय 6 बजे तक परम्परागत खेलों में पुरूष वर्ग में कबड्डी, सतोलिया में 18 से 25 वर्ष तथा रस्साकषी व कुष्ती में किसी भी आयु सीमा के खिलाडी भाग ले सकेंगें। इसी तरह 18 मार्च को महिला वर्ग में कबड्डी, सतोलिया, रूमाल झप्पटा में 15 से 25 वर्ष व रस्साकषी में किसी भी आयु वर्ग की महिलाएं भाग ले सकती है। जिला स्तर पर विजेता टीम 21 व 22 मार्च को संभाग स्तर पर आयोजित प्रतियोगितओं में भाग लेगी।

जिला कलेक्टर ने बताया कि राजस्थान स्थापना दिवस के उपलक्ष 20 मार्च को प्रातः 7ः30 बजे इण्दिरा इण्डोर स्टेडियम से ’’ रन फोर राजस्थान ’’ दौड़ का आयोजन होगा। इस मसाल दौड को मुख्य अतिथि द्वारा हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया जायेगा। रन फोर राजस्थान दौड़ फ्लेग आॅफ से इंदिरा इण्डौर स्टेडियम से प्रारंभ होकर स्वर्ण नगरी के मुख्य मार्गो से होते हुए जोधपुर रोड़ स्थित नगरपरिषद चुंगीनाका पर जाकर समाप्त होगी। यह मसाल मुख्य अतिथि अपने हाथो में लेकर इन्दिरा इण्डोर स्टेडियम के बाहर लायेंगे, यहां से मसाल रंगंमहल तक आयेगी। बाद में यह मसाल 103 सीमा सुरक्षा बल की बटालियन को सौंपी जाएगी। होटल रंगंमहल से मसाल कमांडेन्ट बाॅर्डर होमगार्ड, एमडी होटल रंगंमहल, हेरीटेज एवं गोरबन्ध पैलेस से 103 बटालियन तक आयेगी। वहा से यह मसाल न्याय काॅलोनी तक आएगी। यहां से रिजर्व पुलिस लाईन मुख्य गेट से होते हुए मसाल मूमल टूरिस्ट बंगलों, जवाहर निवास पैलेस, जिला कलक्टर कार्यालय से होते हुए हनुमान चैराहा पर पंहुचेगी। यहां से मसाल मंदिर पैलेस होते हुए छंगाणी पाडा मोड तक पंहुचेगी। छंगाणी पाडा मोड से गौपा चैक से गुजर कर मोतीमहल तक जाएगी। ष्यहां से सत्यदेव व्यास सर्कल होते हुए गडीसर चैराहा , बाडमेंर चैराहा तक जाएगी। बाद में यह नगर परिषद चंुगी नाका पंहुचेगी।

जिला कलक्टर शर्मा ने बताया कि राजस्थान दिवस के उपलक्ष में 25 मार्च को प्रातः 10ः30 बजे अमर शहीद सागर मल गोपा राजकीय उच्च माध्यमिक विधालय में क्विज प्रतियोगिता रखी गई है। इसके प्रभारी जिला षिक्षा अधिकारी माध्यमिक को लगाया गया है। 26 मार्च को प्रातः 10ः30 बजे किषनी देवी मगनीराम मोहता राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विधालय में क्विज प्रतियोगिता होगी। इसके प्रभारी भी जिला षिक्षा अधिकारी माध्यमिक होंगे। इसी प्रकार 27 मार्च से जिले के हस्तषिल्प उत्पादों पर आधारित स्टाॅलें लगाई जाएगी। जिसमें जिले के हस्तषिल्पियों द्वारा निर्मित उत्पादों का प्रदर्षन किया जाएगा। इसके प्रभारी महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र होंगें।

इसी सिलसिले में 28 से 30 मार्च तक ‘‘राजस्थान गाथा’’ प्रर्दषनी का अयोजन प्रातः 11 बजे डीआरडीए सभागार किया जाएगा। इसके प्रभारी सहायक निदेषक, जन सम्पर्क अधिकारी होंगे। राजस्थान दिवस के उपलक्ष मे 30 मार्च को सांय 8 बजे अखे प्रोल के अंदर दुर्ग में सांस्कृति संध्या का आयोजन होगा। इस सांस्कृति संध्या के प्रभारी उपखंड अधिकारी जैसलमेर एवं सह प्रभारी सहायक निदेषक पर्यटक स्वागत केन्द्र, सूचना एवं जन सम्पर्क अधिकारी व आयुक्त नगर परिषद है।

जिला कलक्टर ने बताया कि राजस्थान दिवस समारोह के उपलक्ष में शहर के प्रमुख स्थानों पर सौन्दर्यकरण किया जाएगा तथा प्रमुख इमारतों पर रंगबिरंगी रोषनी की जाएगी। उन्होंनंे बताया कि 27 मार्च से 30 मार्च तक हनुमान चैराहा, गडसीसर तालाब व चैराहे, अखे प्रोल, अमरसागर व गडसीसर प्रोल का सौन्दर्यकरण एवं रोषनी की जायेगी। इसके प्रभारी आयुक्त नगर परिषद जैसलमेर होंगे।

इस मौके पर शर्मा ने कहा कि राजस्थान दिवस का आयोजन शानदार तरीके से करने के लिए अभी से तैयारियों को शुरू कर दी जाएं तथा सभी संबंिधत विभाग उन्हें सुपुर्द दायित्वों को बेहतर तरीके से अंजाम दें तथा कार्यक्रमों के लिए प्रभारी अधिकारी आपस में समन्वय से कार्य करें। उन्होंनें सम्पूर्ण कार्यक्रम को सामूहिक जिम्मेदारी से पूर्ण करने की हिदायत दी। साथ ही कार्यक्रमों में गरिमापूर्वक तथा राजस्थान के इतिहास एवं कला एवं संस्कृति से संबंधित आयोजन शामिल करने के निर्देष दिए। प्रत्येक आयोजन के जिला कलक्टर ने सभी आयोजन प्रभारियांे को निर्देषित किया है कि वे राजस्थान दिवस समारोह के सभी कार्यक्रमों को समय पर सम्पादित करावें एवं सभी व्यवस्थाएं समय रहते सुनिष्चित कर लें।

इससे पूर्व अतिरिक्त जिला कलक्टर के.एल.स्वामी ने राजस्थान दिवस समारोह के आयोजन की विस्तृत जानकारी दी। बैठक में जिला पुलिस अधीक्षक गौरव यादव, उपखंड अधिकारी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.एन.आर.नायक, उप निदेषक (पर्यटन) भानुप्रताप ढाका, सहायक निदेषक (जनसम्पर्क) श्रवण चैधरी, अधीक्षण अभियंता (डिस्काॅम) एम.एल.जाट, नगर परिषद आयुक्त राजीव कष्यप, जिला खेल अधिकारी लक्ष्मणसिंह तवंर समेत संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थें।

----000----





बकाया राजस्व वसूली को

सर्वाेपरि प्राथमिकता की हिदायत


जैसलमेर, 15 मार्च। जिले में बकाया प्रकरणों का तत्परता से निस्तारण कर आमजन को तुरन्त राहत पहुंचाने के लिए जिला कलक्टर मातादीन शर्मा ने राजस्व अधिकारियों को तत्परता से कार्य करने की हिदायत दी है। वह बुधवार दोपहर पश्चात कलेक्ट्रेट सभागार में जिले के राजस्व अधिकारियांे की मासिक बैठक में बकाया प्रकरणों की समीक्षा कर रहें थे।

इस मौके पर जिला कलक्टर मातादीन शर्मा ने कहा कि राजस्व अधिकारी बकाया राजस्व वसूली प्राथमिकता से करे एवं इस कार्य में किसी प्रकार की ढिलाई नही बरते। उन्होंने तहसीलदारों को जमा बन्दी सेग्रीगेषन प्रमाणिकरण व नक्षे अपडेट सत्यापन का कार्य शीघ्र कराने के निर्देष दिए। उन्होंने राजस्व अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे क्षेत्र की प्रत्येक घटना के प्रति चैकस रहे एवं समय रहते आवष्यक कार्यवाही अमल में लावे। उन्होंनें ईजी-1 व ईजी-2 की समीक्षा करते हुए निर्देष दिए कि ईजी-1 की सूचना ग्राम प्रभारियों से शीघ्र ही प्रपत्र में पूर्ति करवाकर अपलोड करने की कार्यवाही करें। उन्होंनंे उपखंड अधिकारियों एवं तहसीलदारों को निर्देष दिए कि वे रास्तों के प्रकरण के संबंध में प्रमाण पत्र प्रस्तुत करें कि उनके क्षेत्र में इस प्रकार के प्रकरण बकाया नहीं है। उन्होंनंे राजस्थान सम्पर्क पोर्टल में उनके स्तर से बकाया प्रकरणों एवं एडोप्टर्स के रूप में जो प्रकरण सत्यापन करने शेष है उनको समय पर निस्तारित करने के निर्देष दिए। उन्होंनंे फीडिंग से बकाया रही जमाबंदी एवं नामान्तरकरण को शीघ्र आॅनलाईन फीडिंग कराने के निर्देष दिए एवं साथ ही जमाबंदियों के पटवारी व गिरदावर स्तर से प्रमाणीकरण कराने के निर्देष दिए।

जिला कलक्टर ने राजस्व अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे रोडा एक्ट वसूली में बैकर्स को पूरा सहयोग दे एवं इसके लिए प्रतिमाह तारीख निर्धारित कर बैकर्स को बुलाकर वसूली में प्रगति लावे। उन्होंने तहसीलदारों को आॅनलाईन मूलनिवास एवं जाति प्रमाण पत्र समय पर जारी करने के निर्देष दिए। उन्होंनें राजस्व अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे जोड, पायतन, तालाब के आगौर में जो अतिक्रमण रिपोर्ट किए गए है उनको हटाने की कार्यवाही प्राथमिकता से करावें। उन्होंनंे निर्देष दिये कि वे मुख्यमंत्री प्रकोष्ठ, राजस्व बोर्ड, अन्य आयोगांे से प्राप्त प्रकरणों को भी प्राथमिकता से समय पर निस्तारण करने के निर्देष दिये।

अतिरिक्त जिला कलक्टर के.एल.स्वामी ने बैठक में बिन्दुवार प्रकरणों को विस्तार से रखा एवं राजस्व अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे विधानसभा प्रष्नों का समय पर जवाब प्रस्तुत करें। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर के.एल.स्वामी, उपखंड अधिकारी पोकरण मूल सिंह राजावत, फतेहगढ़ रण सिंह, तहसीलदार जैसलमेर वीरेन्द्र सिंह, पोकरण नारायणगिरी, फतेहगढ़ तुलछाराम विष्नोई, भणियाणा पुखराज भार्गव के साथ ही अन्य अधिकारी उपस्थित थे।



----000----

विष्व उपभोक्ता दिवस

उपभोक्ता अपने हितों के प्रति सजग एवं जागरूक रहें - मीणा


जैसलमेर, 15 मार्च। विष्व उपभोक्ता दिवस के उपलक्ष में बुधवार को जिला रसद कार्यालय जैसलमेर के तत्वाधान में पंचायत समिति सम के सभागार में एक दिवसीय ‘ डिजिटल युग में उपभोक्ता के अधिकार ‘ विषयक संगोष्ठी का आयोजन किया गया।

इस अवसर पर जिला उपभोक्त संरक्षण मंच के अध्यक्ष रामचरण मीणा ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की एवं जिला उपभोक्ता मंच के सदस्य मनोहरसिंह नरावत मुख्य अतिथि के रूप में इसके साथ ही संगोष्ठी के दौरान जिला रसद अधिकारी औंकारसिंह कविया, प्रवर्तन निरीक्षक अरविन्द सिंह, श्रम कल्याण अधिकारी भवानी प्रताप चारण, प्रबंधक क्रय-विक्रय समिति पोकरण अरूण बारहठ, प्रोग्रामर सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग श्रीमती जयश्री तथा वरिष्ठ साहित्यकार दीनदयाल ओझा आदि गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

संगोष्ठी के दौरान जिला उपभोक्ता मंच के अध्यक्ष रामचरण मीणा ने कहा कि वर्तमान में परिपेक्ष में उपभोक्ता स्वयं का सजग एवं जागरूक रहकर अपने हितों के संरक्षण के प्रति पूर्णतया सचेत रहना चाहिए। उन्होंनंे कहा कि कोई भी शोषित पीडित उपभोक्ता अपने हितों के लिए न्याय पाने के लिए मंच की संरक्षण ले सकता है। उन्होंनें उपभोक्ता अदालत में आए विभिन्न वाद एवं फैसलों के बारे में जानकारी दी। मीणा ने उपभोक्ता मंच के माध्यम से सरल एवं त्वरित न्याय मिलने की बात कही। उपभोक्ता मंच में परिवाद दर्ज करने की एवं उनके निस्तारण की प्रक्रिया को सरल ढंग से समझाते हुए अधिक से अधिक लाभ लेने की बात कही।

संगोष्ठी में जिला उपभोक्ता मंच के सदस्य मनोहरसिंह नरावत ने बताया कि जिला उपभोक्ता संरक्षण मंच जैसलमेर ने मंच संचालन किया व उपभोक्ताओं के हितों में कई हितकारी कानूनों एवं नियमों की किस्तार से जानकारी दी एवं कहा कि उपभोक्ता जिला मंच के आदेष की अवहेलना करने पर भी सेवाप्रदाता/ कम्पनी के विरूद्व मंच के नियुमानुसार दण्डात्मक कार्यवाही की जा सकती है इसलिए हर उपभोक्ता को जागरूक रहने की नितान्त आवष्यकता है। संगोष्ठी के अवसर पर वरिष्ठ साहित्यकार दीनदयाल ओझा ने कहा कि आज डिजिटल युग उपभोक्ता बेहतरीन ढंग में सजग एवं जागरूक रहने की जरूरत है। सरकार के सभी अधिकारीगण विभागीय नितियों/कार्यक्रमों/ योजनाओं व त्वरित एवं सही ढंग में क्रियान्वित करने की आवष्यकता जताई। उन्होंनंे कहा सांस्कृतिक मूल्यों की रक्षा करना भी हम सभी का दायित्व है। प्रारम्भ में जिला रसद अधिकारी औकांरसिंह कविया ने विष्व उपभोक्ता दिवस संगोष्ठी में पधारें सभी आगन्तुकों महानुभावांे का आभार प्रकट करते हुए उपभोक्ताओं के हितों एवं उनको संरक्षण अधिनियम की विस्तार में जानकारी प्रदान की।

इस मौके पर प्रौग्रामर सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग श्रीमती जयश्री एवं प्रबंधक क्रय विक्रय सहकारी समिति पोकरण अरूण बारहठ, एसबीबीजे के कमल किषोर आदि ने उपभोक्ता के संरक्षण अधिनियमों पर संक्षिप्त प्रकार डाला। संगोष्ठी के सफल आयोजन में जिला रसद विभाग के प्रवर्तन निरीक्षक अरविन्दसिंह, राधेष्याम दास, असकर अली, नरपतलाल, चन्द्रप्रकाष मौजूद थें।

----000-----

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top