edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर स्वच्छ भारत मिशन मंे सक्रिय भागीदारी निभाएंःगुप्ता
बाड़मेर, 26 मार्च। जन प्रतिनिधि एवं अधिकारी अगर सक्रिय होकर कार्य करें तो धरातल पर इसका परिणाम दिखाई देने के साथ आमजन को सीधा लाभ मिलता है। दृढ़ इच्छा शक्ति के साथ कार्य किया जाए तो हर काम मंे सफलता प्राप्त की जा सकती है। बाड़मेर एवं बालोतरा शहर को ओडीएफ घोषित करवाने के लिए समन्वित प्रयास करने होंगे। राजस्थान में स्वच्छ भारत मिशन के ब्रांड एंबेसडर एवं डूंगरपुर नगरपरिषद के सभापति के.के. गुप्ता ने रविवार को जिला मुख्यालय पर बाड़मेर एवं बालोतरा नगर परिषद के जन प्रतिनिधियांे एवं अधिकारियांे की बैठक के दौरान यह बात कही।

ब्रांड एम्बेसडर के.के.गुप्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्वच्छ भारत का सपना देखा और उसके अनुरूप कार्य किए। ताकि आम आदमी को गंदगी से होने वाली बीमारियों से निजात मिल सकें तथा भारत को स्वच्छ एवं सुंदर बनाया जा सकें। इसी सोच को ध्यान में रख कर राजस्थान की मुख्यमंत्री श्रीमती वंसुधरा राजे ने राजस्थान को साफ-सुथरा एवं सुन्दर बनाने के लिए ठोस प्रयास भी किए है। उन्होंने कहा कि खुले में शौच जाने की प्रवृति को रोकने के लिए शौचालयों के निर्माण के साथ-साथ जंगल की झाडियों की नियमित सफाई आवष्यक है साथ ही इन स्थानों पर एलईडी लाईट लगाकर उजाले अंकुश लगाने की व्यवस्था भी करनी होगी। स्वच्छता अभियान पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि स्थानीय निकाय स्त्र पर शत प्रतिशत डोर-टू-डोर गीला एवं सुखा कचरा अलग-अलग संग्रहित करने और उसे डम्पिंगयार्ड में ले जाकर कचरे से खाद निर्माण की योजना बनानी होगी। उन्हांेने कहा कि सड़क, नाली एवं नालों की सफाई के कार्य समय पर करने के साथ अगर छोटे-छोटे कार्यो पर ध्यान दे तो निश्चित तौर पर शहर को स्वच्छ और सुंदर बनाया जा सकता है। गुप्ता ने स्वच्छता अभियान को सफल बनाने के लिए जन प्रतिनिधियांे, आम नागरिकों, अधिकारियों, कार्मिकों की समन्वित भूमिका जिम्मेदारी को महत्वपूर्ण बताया। साथ ही सबसे समर्पित भागीदारी से काम करने का आह््वान किया। उन्होंनंे स्वच्छता की शुरूआत मोक्ष धाम से करने का सन्देश दिया। वहीं शहर में शत्-प्रतिशत घरों से डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण करानें की व्यवस्था सुनिश्चित कराने पर जोर दिया ताकि हम स्वच्छता के क्षेत्र में अच्छा काम कर सकें। उन्होंने कहा कि नगर निकाय केवल शौचालय बनवाकर ओडीएफ घोषित करवाने तक ही सीमित न रहे बल्कि हर दृष्टि से शहर को गंदगी से मुक्त रखें, सम्पूर्ण साफ-सुथरा रखें। खासकर बस स्टेण्ड, अस्पताल, स्कूल आदि तमाम सार्वजनिक स्थलों पर हमेशा स्वच्छता बरकरार रखने पर बल दें।

गुप्ता ने शहरों में घर-घर कचरा संग्रहण की गतिविधियों को प्रभावी बताते हुए कहा कि कचरा संग्रहण का समय प्रातः 6.30 से 9.30 तक निर्धारित होना चाहिए तभी इसे सफलता दी जा सकती है। उन्होंने नगर निकायों में शिकायत कक्षों के दिन-रात संचालन और इन्हें प्रभावी बनाने पर भी जोर दिया। उन्हांेने कहा कि प्लास्टिक पर प्रतिबंध के प्रति कठोर रहें और इसके लिए कपड़े की थैलियों का प्रचलन बढ़ाएं। उन्हांेने कहा कि शहर में नेकी की दीवार एवं शहीद स्मारक स्थापित करने, सामाजिक एवं आंचलिक सरोकारों के प्रति सजग रहते हुए नई पीढ़ी के निर्माण, बेरोजगारों को रोजगार मुहैया कराने तथा नागरिक सुविधाओं के प्रति गंभीर रहें।

इस दौरान जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने डूंगरपुर नगरपरिषद द्वारा स्वच्छता के लिए किए गए कार्यो के आधार पर बाड़मेर को भी अब स्वच्छ और सुंदर बनाने का भरोसा जताया। उन्हांेने कहा कि डूंगरपुर नगर परिषद के अनुभव का लाभ लेते हुए बाड़मेर जिले मंे समन्वित प्रयासांे से इसकी क्रियान्वित सुनिश्चित करने का प्रयास किया जाएगा। इस दौरान बालोतरा नगर परिषद के सभापति रतन खत्री, बाड़मेर नगर परिषद के आयुक्त श्रवण विश्नोई समेत विभिन्न जन प्रतिनिधि एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे। इस दौरान प्रोजेक्टर के जरिए स्वच्छ भारत मिशन संबंधित डाक्यूमेट्री भी दिखाई गई। इससे पहले सर्किट हाउस पहुंचने पर ब्रांड एम्बेसडर के.के.गुप्ता का स्वागत किया गया।

स्वच्छ भारत मिषन में मीडिया की भूमिका महत्वपूर्णःगुप्ता

बाड़मेर, 26 मार्च। स्वच्छ भारत मिशन मंे आमजन की भागीदारी सुनिश्चित करने एवं शहरांे को खुले मंे शौच से मुक्त कराने मंे मीडिया की भूमिका महत्वपूर्ण है। नगर परिषद को ओडीएफ घोषित करवाने मंे मीडिया व्यापक लोक जागरण के जरिए विशेष सहयोग कर सकता है। राजस्थान में स्वच्छ भारत मिशन के ब्राण्ड एम्बेसडर एवं डूंगरपुर नगर परिषद के सभापति के.के. गुप्ता ने रविवार को बाड़मेर जिला मुख्यालय पर सर्किट हाउस मंे पत्रकारांे से बातचीत के दौरान यह बात कही।

इस अवसर पर गुप्ता ने कहा कि नगर परिषद क्षेत्र को ओडीएफ घोषित करवाने मंे मीडिया अपेक्षित सहयोग करें। उन्होंनंे डूंगरपुर में स्वच्छता के क्षेत्र में किए गए क्रियाकलापों की जानकारी देते हुए बताया कि इच्छा शक्ति से सभी काम सफल होते है। उन्हांेने कहा किनगर निकाय केवल शौचालय बनवाकर ओडीएफ घोषित करवाने तक ही सीमित रहे बल्कि हर दृष्टि से शहर को गंदगी से मुक्त रखें। ब्रांड एंबेसडर केके गुप्ता ने सुलभ शौचालयों की सुविधाओं को निशुल्क करने, खुले स्थल चिह्नित कर झाड़ झंखाड़ साफ करने, अंधेरा खत्म करने के लिए लाइटिंग प्रबंध, सामुदायिक शौचालयों का निर्माण, व्हाट्सएप कार्मिकों के जरिए निगरानी पर जोर दिया। उन्हांेने इस दौरान डूंगरपुर नगर परिषद को ओडीएफ घोषित करवाने के लिए किए गए नवाचारांे एवं विभिन्न प्रयासांे के बारे मंे विस्तार से जानकारी दी।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top