edvertise

edvertise
barmer

BF से पत्नी करती थी प्यार, पति को पता चला तो मर्डर कर चुनवा दिया दीवार में

murder of husband on wife
जयपुर.अधीनस्थ न्यायालय ने पति का गला घोटने और फिर लाश बोरे में बंद कर चुनवाने वाली पत्नी को उम्रकैद सुनाई है। साथ ही सहअभियुक्त उसके कथित प्रेमी को बरी कर दिया। कथित प्रेमी की भूमिका की जांच में पुलिस ने गंभीर लापरवाहियां की थी। ऐसे में गृह सचिव को आईओ और चालान की अनुमति देने वाले डीसीपी पर कार्रवाई का आदेश दिया है।ऐसे रची थी पति को मानरे की साजिश...



चौमू थाना क्षेत्र स्थित रामपुरा गांव निवासी कालुराम कुम्हार की छह साल पहले हत्या हो गई थी। इस मामले में पुलिस ने उसकी पत्नी सावित्री देवी और मंगलचंद बुनकर को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने हरमाड़ा थाना क्षेत्र स्थित राजावास गांव निवासी मंगलचंद को सावित्री का प्रेमी बताया था। मामले पर एडीजे संख्या 12 के जज तिरुपति गुप्ता ने साेमवार को फैसला सुनाया। जिसके अनुसार ट्रायल में पुलिस की लापरवाही से मंगलचंद पर दोष साबित नहीं हो पाया। जिसके चलते उसे बरी किया गया। एपीपी महावीर सिंह किशनावत ने बताया कि पत्नी सावित्री देवी ने ही पश्चाताप के चलते घटना का खुलासा किया था।

इन 5 कारणों से बरी हुआ प्रेमी

कोर्ट ने कहा-डीसीपी से ऐसी उम्मीद नहीं

1. किसी गवाह ने पत्नी और कथित प्रेमी के अवैध संबंध होने की पुष्टि नहीं की।

2. गवाहों ने दोनों के बीच मित्रता बताने वाली एक भी बात नहीं।

3.पुलिस ने कथित प्रेमी के कपड़ों पर लगे खून और मृतक का ब्लड-ग्रुप तक मैच नहीं कराया।

4.पुलिस ने जब्ती की फर्द में कथित प्रेमी सगे रिश्तेदारों को ही गवाह बनाया, जो कोर्ट में होस्टाइल हो गए।

5.पुलिस ने पत्नी के बयान पर कथित प्रेमी की गिरफ्तारी की लेकिन वादा माफ गवाह नहीं बनाया।

एेसे साबित हुआ अपराध

- पत्नी ने ही सबसे पहले अपने भाई को घटना के बारे में बताया था।

- पति के गायब होने के बारे में पत्नी ने चार-पांच दिन तक चुप्पी साधे रखी।

- ना तो किसी को पति के गायब होने के बारे में बताया, ना ही गुमशुदगी दर्ज कराई।

- जिस घर से शव बरामद हुआ उसमें केवल पति-पत्नी ही रहते थे।

- घर से खून लगा बिस्तर और फावड़ा बरामद।

- पत्नी की निशानदेही पर ही पुलिस ने कुएं से पति के जूते और मोबाइल बरामद किया। पुलिस ने दोनों की कॉल डिटेल से भी संबंध स्थापित नहीं किया।

- इसके अलावा पुलिस ने दूसरे अहम सुबूत जुटाने में भी गंभीर प्रयास नहीं किए।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top