edvertise

edvertise
barmer



जयपुर.जयपुर में हत्या के 27 साल पुराने मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया फैसला, यूं बरी कर दिए 5 आरोपी


भारत के सर्वोच्च न्यायालय ने राजस्थान हाइकोर्ट द्वारा हत्या मामले में दी गई सजा के आदेश को रद्द करते हुए बुधवार को 5 आरोपियों को बरी कर दिया। 27 साल पुराने मामले में अभियोजन के सबूतों में गंभीर असंगति होने के आधार पर सुनाया ऐसा फैसला...

जयपुर में हत्या के 27 साल पुराने मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया फैसला, यूं बरी कर दिए 5 आरोपी

सुप्रीम कोर्ट ने 27 साल पुराने मामले में 5 को किया दोष मुक्त

संवाददाता ने बताया, जयपुर में 27 साल पहले एक जमीन विवाद हुआ था, जिसमें पीडि़त पक्ष की ओर से एक व्यक्ति की हत्या का मामला ट्रायल कोर्ट में दाखिल कराया गया था। आरोपियों पर पीडित पक्ष के एक व्यक्ति की हत्या करने और बाकी को घायल करने के आरोप थे। ट्रायल कोर्ट ने असंगत गवाहियों और मेडिकल सबूतों के आधार पर आरोप संदेह से परे नहीं मानते हुए बरी कर दिया।




ऐसे केस हाईकोर्ट पहुंचा

ट्रायल कोर्ट के फैसले के बाद पीडि़त पक्ष हाईकोर्ट पहुंचा, जहां हाइकोर्ट ने दो आरोपियों को दोषी मानकर हत्या के आरोप में आजीवन कारावास और तीन को एक-एक साल की सजा से दंडित किया। जिसके बाद केस सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया। सुप्रीम कोर्ट ने मामले में अभियोजन के सबूतों में गंभीर असंगति होने के आधार पर पांच आरोपियों को हत्या के आरोप से मुक्त किया है।




सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के आदेश को रद्द करते हुए कहा है कि घटना दिन दहाड़े सड़क पर हुई थी लेकिन,अभियोजन एक भी स्वतंत्र गवाह पेश करने में विफल रहा है। कोर्ट ने कहा है कि अदालतों को हमेशा ही सत्य का पता लगाने का प्रयास करना चाहिए। एक अपराध ना केवल व्यक्ति के खिलाफ बल्कि पूरे समाज के खिलाफ अपराध है और यदि निरपराध व्यक्ति को सजा हुई तो यह न्याय प्रक्रिया की विफलता होगी।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top