बाड़मेर,श्री मल्लीनाथ पशु मेला तिलवाड़ा 24 मार्च से, आज स्थापित होगी चौकियां

बाड़मेर, 19 मार्च। श्री मल्लीनाथ पशु मेला तिलवाड़ा का विधिवत शुभारंभ 24 मार्च को अभिजीत मुहुर्त में ध्वजारोहण समारोह के साथ होगा। पशुपालन विभाग ने पशुओं की आवक एवं पशुपालकों के ठहराव समेत अन्य व्यवस्थाओं की पूरी तैयारियां कर ली है। मेला मैदान में पशुओं की आवक शुरू हो गई है।

पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक एवं मेला अधिकारी डा.नारायणसिंह सोलंकी ने बताया कि मेले के लिए 20 मार्च से चौकियाँ स्थापित की जाएगी। डा.सोलंकी ने बताया कि उच्च न्यायालय के निर्णयानुसार पशुपालकों को पशुओं की खरीद फरोख्त के लिए स्वयं के नाम जमाबंदी की नकल, कृषि भूमि होने के दस्तावेज एवं पहचान पत्र की प्रति उपलब्ध कराना जरूरी है। उन्हांेने बताया कि पशुओं को कृषि कार्य या दुध उत्पादन में उपयोग में लेने का शपथ पत्र, क्रय किए गए पशु की पहचान के लिए ईयर टेग लगवाना तथा पशु स्वास्थ्य प्रमाण पत्र जारी करवाना आवश्यक है। उनके मुताबिक पशु परिवहन के उपयोग में आने वाले बड़े ट्रक में 6 बड़े पशु से अधिक नहीं होने चाहिए तथा पशुओं की चमड़ी नहीं छिलें, इसके लिए उचित प्रबंध वाहन में होना जरूरी है। पशु परिवहन के समय वाहन के साथ पशुओं की देखभाल, चारा-पानी के लिए श्रमिक सहायक के रूप में वाहन के साथ चलना होगा। उन्हांेने बताया कि पशु परिवहन के दौरान वर्तमान में विद्यमान सभी परिवहन नियमों का पालन पशुपालकों एवं परिवहन कर्ताओं को करना होगा। तीन वर्ष से कम के गौ वंश को राज्य से बाहर जाने की अनुमति नहीं मिलेगी।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top