edvertise

edvertise
barmer

खमरिया ऑर्डनेंस फैक्ट्री में ब्लास्ट के बाद लगी आग, 20 लोग घायल, अब तक 100 से ज्यादा धमाके!

खमरिया ऑर्डनेंस फैक्ट्री में ब्लास्ट के बाद लगी आग, 20 लोग घायल, अब तक 100 से ज्यादा धमाके!
मध्य प्रदेश के जबलपुर में स्थित खमरिया ऑर्डनेंस फैक्ट्री में शनिवार को भीषण आग लग गई. फैक्ट्री में एक के बाद एक लगातार विस्फोट हो रहे हैं, जिसमें करीब 20 लोगों के घायल होने की खबर है. इस ऑर्डनेंस फैक्ट्री में सेना के लिए गोला-बारूद बनाए जाते हैं. बताया जा रहा है कि 125 mm सॉफ्ट कोर एंटी टैंक बम की शिफ्टिंग के दौरान यह हादसा हुआ.

जानकारी के अनुसार, शनिवार शाम को फैक्ट्री के F सेक्शन में अचानक धमाके के बाद आग लग गई. हादसे के वक्त यहां काफी बारूद इकठ्ठा करके रखा गया था, जिसमें 100 से ज्यादा धमाके होने की बात कही जा रही है. बताया जा रहा है कि इस सेक्शन में बनी दो फैक्ट्रियां पूरी तरह जलकर खाक हो गई हैं.

हादसे के संबंध में जानकारी देते हुए जिला कलेक्टर महेश चंद्र चौधरी ने बताया कि ऑर्डनेंस फैक्ट्री के एफ-3 सेक्शन में भारी मात्रा में कारतूस में भरा जाने वाला बारूद रखा हुआ था, जिसमें शनिवार शाम 6.20 बजे आग लग गई. 50 दमकल की गाड़ियां मौके पर मौजूद हैं. फैक्ट्री में ब्लास्ट तो अब बंद हो चुके हैं, लेकिन आग पर अभी भी पूरी तरह काबू नहीं पाया जा सका है. रेस्क्यू ऑपरेशन अब भी जारी है. घटना की होगी उच्चस्तरीय जांच की जा रही है.बता दें कि, कारगिल युद्ध के दौरान इसी ऑर्डनेंस फैक्ट्री से डायरेक्ट कारगिल के लिए बम एयर लिफ्ट करके भेजे गए थे.

- अब तक करीब 20 लोगों के घायल होने की खबर

-सभी का सेना के अस्पताल में इलाज चल रहा है

-आसपास के इलाकों को खाली कराया गया

- फायर ब्रिगेड की 50 गाड़ियां मौके पर मौजूद

- ब्लास्ट के बाद फैक्ट्री 316 और 318 जलकर खाक

- आईजी लॉ एंड ऑर्डर मकरंद देउस्कर का बयान, अब तक 6 लोगों के घायल होने की पुष्टि

- एसपी महेंद्र सिकरवार का बयान, आग पर काबू पाना पहली प्राथमिकता

-यहां 125 और 80 एमएम बम का डिपो है, जहां आग लगी है.

-आग लगने से खमरिया फैक्ट्री के इलाके में अफरा-तफरी का माहौल है.

-ऑर्डनेंस फैक्ट्री में आग लगने के बाद कलेक्टर और एसपी ने मौके पर पहुंचकर रेस्क्यू ऑपरेशन की कमान संभाली.

-आग पर काबू पाने की तमाम कोशिशें लगातार हो रहे विस्फोट की वजह से नाकाफी साबित हो रही हैं.

-जबलपुर के खमरिया इलाके में बनी ऑर्डनेंस फैक्ट्री करीब आठ सौ एकड़ के एरिया में फैली हुई है.

-फैक्ट्री की शुरुआत अंग्रेजों के शासन काल से शुरू हुई थी.

-1 फरवरी 1942 से ऑर्डनेंस फैक्ट्री में हथियारों का निर्माण कार्य शुरू किया गया था.

चंद अधिकारियों और महज कुछ प्रशिक्षित कर्मचारियों के साथ शुरू हुई फैक्ट्री को आज पूरे 75 साल हो चुके हैं.

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top