edvertise

edvertise
barmer

जब इस MP ने बयां की थी प्रेमी के साथ आखिरी रात की दास्तां, ऐसी थी दहशत

phoolan devi husband umed singh
वाराणसी. फूलन देवी के पति उमेद सिंह ने यूपी चुनाव 2017 के लिए बसपा छोड़ कांग्रेस दोबारा ज्वाइन की है। मुलायम सिंह ने 20 साल पहले खतरनाक डकैत फूलन देवी को मिर्जापुर से टिकट दिया था। फूलन पर लगे सभी आरोप खारिज कर दिए गए थे। मिर्जापुर की जनता ने इस फैसले का खुले मन से स्वागत किया था। फूलन 11वीं लोक सभा में सपा सांसद रहीं। उसके बाद 1999 में वो दोबारा MP चुनी गईं। 25 जुलाई 2001 को उनकी हत्या हुई। तब वो सांसद थीं।  इसी डकैत नेता से जुड़ी बातें रीडर्स को बता रहा है। 5 गुना बढ़ी फूलन के पति की प्रॉपर्टी...

- फूलन देवी के दूसरे पति उमेद सिंह ने दोबारा कांग्रेस ज्वाइन की है।

- 2014 के लोकसभा इलेक्शन में वे बसपा से लड़े थे।

- फूलन के मर्डर के बाद से उमेद की संपत्ति लगातार बढ़ी है।

- 2004 में उनके पास महज 1.83 करोड़ रुपए की संपत्ति थी।

- 2014 के लोकसभा इलेक्शन में यही संपत्ति बढ़कर 10.15 करोड़ हुई।

बायोग्राफी में बयां की थी प्रेमी विक्रम मल्लाह संग आखिरी रात की दास्तां...




- फूलन देवी ने अपनी बायोग्राफी में अपने साथ हुई ज्यादतियों की दास्तां बयां की थी।

- डकैत गिरोह का मुखिया विक्रम मल्लाह फूलन देवी से प्यार करता था।

- फूलन ने अपनी किताब में विक्रम मल्लाह के साथ बिताई अंतिम रात और उनके साथ हुए गैंगरेप की डिटेल्स बताई थीं।

विक्रम की पीठ में लगी थी गोली, बुलाया था फूलन को पास

- दिनभर पुलिस और विरोधियों से बचते हुए फूलन देवी और साथी काफी थक गए थे।

- जब रात हुई तो फूलन को सुकून मिला, लेकिन आगे होने वाली दहशत से वो अंजान थी।

- फूलन सोने जा रही थी, लेकिन तभी विक्रम मल्लाह ने उसे अपने साथ सोने के लिए कहा।

- विक्रम की पीठ में गोली लगी थी, जिस वजह से वो काफी कमजोर हो चुका था।

- वे घने जंगल में थे और सेफ्टी के लिए एक-दूसरे से अलग सोते थे।

- मल्लाह के बहुत कहने पर शरमाते हुए फूलन उसके साथ सो गई।

- फूलन ने किताब में लिखा है - "पहली बार मैं विक्रम के साथ पति-पत्नी की तरह सोई थी।"

- जंगल में बारिश हो रही थी, लेकिन बहुत थकी होने के कारण जल्दी ही फूलन गहरी नींद में चली गई।

होश आया तो बदल चुका था नजारा

- गोली चलने की आवाज से फूलन देवी की नींद खुली।

- उसे क्लोरोफॉर्म सुंघाया गया था, जिस वजह से वो नशे में थी।

- विक्रम मल्लाह ने उसे बताया - वो आ गया है। उसने मुझे गोली मारी है।

- मल्लाह श्रीराम की बात कर रहा था। दोनों में फूलन देवी को लेकर कुछ दिन पहले विवाद हुआ था।

- श्रीराम ने विक्रम मल्लाह को गोलियों से भून डाला और फूलन को साथ ले गया।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top