edvertise

edvertise
barmer



जोधपुर इस बेरहम मां ने अपने ही बच्चों की एफडी का ब्याज हड़पा, धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार
इस बेरहम मां ने अपने ही बच्चों की एफडी का ब्याज हड़पा, धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार

घरेलू कलह तथा विवाद से परेशान होकर पुत्र के आत्महत्या करने के बाद वृद्ध दादा-दादी ने पोते तथा पोती के लिए दो-दो लाख रुपए की एफडी करवाई, ताकि उनका लालन-पालन व पढ़ाई आसानी से हो सके, लेकिन बहू ने एफडी की ब्याज राशि बच्चों पर खर्च ही नहीं की। पांच माह की जांच के बाद शुक्रवार को प्रतापनगर थाना पुलिस ने मां को ब्याज की राशि हड़प करने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

उप निरीक्षक हरिसिंह के अनुसार बलदेव नगर निवासी शकुन्तला पत्नी कैलाशचन्द भण्डारी ने गत वर्ष सितम्बर में पुत्रवधू यशोदा पत्नी स्व. मनीष माहेश्वरी के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया था। पांच महीने की जांच में महिला पर लगे आरोप सही साबित हुए। एेसे में पुलिस ने शुक्रवार को नागौरी गेट के अंदर जालोरियों का बास निवासी यशोदा माहेश्वरी (28) को गिरफ्तार कर लिया। उसे शनिवार को अदालत में पेश किया जाएगा। उधर, महिला के परिजन का आरोप है कि पुलिस ने बगैर नोटिस दिए गिरफ्तार किया है।

इस बहू की हैं दो-दो सास, एक अनूठे रिश्ते की कहानी है 'एक विवाह एेसा भी'

प्रताडऩा की एफआईआर पर करवाई थी एफडी

पुलिस का कहना है कि शकुन्तला के पुत्र मनीष माहेश्वरी की शादी जालोरियों का बास निवासी यशोदा से हुई थी। दोनों के एक पुत्र व पुत्री है। पुत्र 12 वर्ष तथा पुत्री 9 वर्ष की हो चुकी है। वर्ष 2013 में मनीष ने आत्महत्या कर ली थी। इसके बाद यशोदा ससुराल छोड़कर पीहर में रहने लग गई। उसने सास व ससुर पर प्रताडि़त करने का मामला दर्ज करवा दिया। पुत्र के निधन से पहले ही टूट चुके वृद्ध दम्पती घबरा गए। उन्होंने अपने पोते व पोती के भरण-पोषण के लिए दो-दो लाख रुपए की एफडीआर करवा दी। यशोदा एफडीआर की नॉमिनी थी।

बस की चपेट से गिरी वृद्धा के पांव के ऊपर से निकला टायर, गुस्साए लोगों ने फोड़े कांच

आरोप : भरण-पोषण न कर ब्याज राशि खर्च की

गत वर्ष सितम्बर में शकुन्तला ने पुत्रवधू यशोदा पर धोखाधड़ी की एफआईआर दर्ज कराई थी। उनका आरोप है कि बच्चों के भरण पोषण के लिए उसने दो-दो लाख रुपए की एफडीआर करवाई थी, लेकिन बच्चों की मां ने न तो भरण पोषण किया और न ही एफडीआर से मिलने वाले ब्याज की राशि बच्चों पर खर्च की। यह राशि उसने हड़प ली।

1 टिप्पणियाँ:

  1. Jodhpur m 99% sanskar or mahol esa choro ka hi hai.. swami dayananda tk ko nhi chhora...oro ki aukat kya....gali gali m janwaro jese destructive nature k or chor bache hain..kuch nhi to vehicles hi damage krte hn.

    ReplyDelete

 
Top