edvertise

edvertise
barmer



बाडमेर, पे मैनेजर के संबंध में समस्त आहरण वितरण

अधिकारियों का प्रशिक्षण कल


बाडमेर, 18 फरवरी। निदेशक कोष एवं लेखा राजस्थान जयपुर द्वारा एकीकृत वितीय प्रबन्धन प्रणाणी के तहत इलेक्ट्रोनिक भुगतान को प्रभावी बनाने के लिए वित विभाग जयपुर से जारी निर्देशों के परिपेक्ष्य में जिले के समस्त राजकीय विभागों के कार्यालयाध्यक्षों एवं वितरण अधिकारियों को कोष कार्यालय तथा जिले के समस्त उप कोषालय स्तर पर प्रशिक्षण दिया जाएगा।

कोषाधिकारी दिनेश बारहठ ने बताया कि सोमवार को प्रातः 10.30 से दोपहर 1 बजे तक शिक्षा विभाग के अतिरिक्त समस्त विभागों के आहरण एवं वितरण अधिकारियों को कलेक्ट्रट कांफ्रेन्स हॉल में प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसी प्रकार शिक्षा विभाग के आहरण एवं वितरण अधिकारियों को इसी दिन दोपहर 3 से 5.30 बजे तक कलेक्ट्रेट कांफ्रेन्स हॉल में प्रशिक्षण दिया जाएगा। उन्होने बताया कि जिले के समस्त उप कोषाधिकारियों को इस संबंध मंे प्रशिक्षण दिया जा चुका है तथा निर्देशित किया गया है कि वे अपने अपने क्षेत्र के आहरण एवं वितरण अधिकारियों को प्रशिक्षण प्रदान करेंगे। उप कोषालयों के क्षेत्राधीन आहरण एवं वितरण अधिकारियों का प्रशिक्षण कार्यक्रम संबंधित उप कोषाधिकारियों द्वारा तैयार किया जाकर उन्हें सूचित किया जाएगा।

बारहठ ने बताया कि उक्त प्रशिक्षण के दौरान एकीकृत प्रबन्धन प्रणाली के तहत इलेक्ट्रोनिक भुगतान को प्रभावी बनाने के क्रम में पे मैनेजर सिस्टम में किये गये नये प्रावधानांे की जानकारी दी जाएगी। उन्होने बताया कि इस प्रशिक्षण में समस्त आहरण एवं वितरण अधिकारियों को आवश्यक रूप से उपस्थित होना अनिवार्य है।

शिव में औद्योगिक प्रशिक्षण शिविर 21 को
बाडमेर, 18 फरवरी। जिले में औद्योगिक विकास एवं अभिप्रेरणा के लिए उद्योग विभाग, राज. वित निगम, बैकर्स के सहयोग से औद्योगिक प्रोत्साहन शिविरों का आयोजन किया जाएगा।

जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबन्धक धनश्याम गुप्ता ने बताया कि 21 फरवरी को प्रातः 11 से सायं 4बजे तक पंचायत समिति कार्यालय शिव तथा 27 फरवरी को पंचायत समिति कार्यालय रामसर में औद्योगिक प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जाएगा। शिविर में शिक्षित बेरोजगार युवाओं के प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, भामाशाह रोजगार सृजन योजना, दस्तकारों के शिल्पी पहचान पत्र, उद्यम आधार मेमोरेण्डम के ऑन लाईन आवेदन पत्रों की जानकारी दी जाएगी। इसके अलावा विभिन्न विभागों द्वारा अपनी विभागीय योजनाओं की जानकारी भी दी जाएगी।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top