edvertise

edvertise
barmer



जालोर रमसा के तहत निमार्णाधीन सभी कार्यो को तय समय मे पूर्ण करें- कलक्टर

जिला स्तरीय निष्पादक समिति की बैठक सम्पन्न




जालोर 23 फरवरी - जिला कलेक्टर अनिल गुप्ता ने जिले में रमसा के तहत शारदे बालिका छात्रावास एवं अन्य निमार्णाधीन कार्यो की धीमी प्रगति को गंभीरता से लेते हुए निर्देशित किया कि निर्धारित समय अवधि में इन सभी कार्यो को पूर्ण किये जाने के साथ ही जिस स्तर पर भी ढिलाई बरती जा रही है उनके विरूद्व आवश्यक कार्यवाही की जाये तथा भविष्य में इसकी सख्ती से पालना सुनिश्चित करें।

जिला कलेक्टर अनिल गुप्ता गुरूवार को कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान की जिला स्तरीय निष्पादक समिति की बैठक में उपस्थित शिक्षा अधिकारियों एवं अभियन्ता को निर्देशित कर रहे थें। उन्होने बैठक में आहोर, पूनासा, जालोर व रानीवाडा में शारदे बालिका छात्रावासों तथा वालेरा में माॅडल स्कूलों के निर्माण कार्यो में हो रहे विलम्ब की प्रवृत्ति को गंभीरता से लेते हुए अभियन्ता भीयाराम को निर्देशित किया कि जिस किसी भी ठेकेदार द्वारा निर्धारित समय अवधि में कार्य नही किया जा रहा है तो उन्हें नोटिस देने के साथ ही उसपर पेनल्टी लगाई जाये तथा हर हालत में निमार्णाधीन सभी कार्यो को प्राथमिकता से पूर्ण किया जाये साथ ही गुणवत्ता के मामलों में भी किसी भी स्तर पर ढिलाई नही होनी चाहिए अन्यथा सम्बन्धित अधिकारी के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी।

बैठक में उन्होनें में प्री-बोर्ड की परीक्षाओं के अव्यवस्थित संचालन के प्रति असंतोष व्यक्त करते हुए सख्त शब्दों में निर्देशित किया कि पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार प्री-बोर्ड परीक्षाओं से सम्बन्धित की गई सम्पूर्ण व्यवस्थाओं यथा परीक्षा प्रपत्रा का निर्धारण, परीक्षा आयोजन एवं मूल्यांकन आदि की सम्पूर्ण जानकारी प्रस्तुत की जाये। उन्होनें जिले में संचालित आदर्श एवं उत्कृष्ट विधालयों में निर्धारित मापदण्ड के अनुसार सभी शैक्षिक व गैर शैक्षिक व्यवस्थाओं को अधिकाधिक बेहत्तर बनायें तथा विधालयों में बने शौचालयों में पानी व स्वच्छता का ध्यान रखने तथा इनका प्रभावी निरीक्षण करने के भी निर्देश दियें। उन्होनें जिला रसद अधिकारी को निर्देशित किया जिले में शारदे बालिका छात्रावासों में रियायती दर पर खाद्यान्न सामग्री की आपूर्ति के लिए आवश्यक कार्य करें।

जिला कलेक्टर ने कहा कि विधालयों में अध्यापक एवं अभिभाव परिषद की बैठके प्रति माह निर्धारित समय पर होती रहनी चाहिए वही इन बैठकों के माध्यम से विधालयों के विकास के लिए आम लोगो की भी अधिकाधिक सहभागिता सुनिश्चित करें। उन्होनें ग्रामीण क्षेत्रों की राजकीय विधालयों में मरम्मत कार्य की आवश्यकता के प्रस्ताव तत्काल भिजवाने के निर्देश भी दियें। वही आईसीटी लेबों में आवश्यक व्यवस्थायें करने एवं जो आंगनवाडी केन्द्र भवन रहित है उन्हे राज्य सरकार के निर्देशानुसार राजकीय भवनों में स्थानान्तरित करने के भी निर्देश दिए।

बैठक में जिला शिक्षा अधिकारी (माध्यमिक) ललित शंकर आमेटा ने राज्य सरकार द्वारा प्रारभ्भ की गई क्लिक योजना के सम्बन्ध में विस्तार से बताया कि शैक्षणिक सत्रा 2017-18 से राजकीय माध्यमिक, उच्च माध्यमिक एवं स्वामी विवेकानन्द माॅडल स्कूलों में यह योजना लागू की जायेगी जिसमें कक्षा 6 से 10 वीं तक के विद्यार्थियों में कौशल विकास के लिए कम्प्यूटर का प्रशिक्षण दिया जायेगा। बैठक में जिला शिक्षा अधिकारी आर.के. मीना (प्रारभ्भिक) ने आदर्श एवं उत्कृष्ट विधालयों में बेहत्तर शिक्षण व्यवस्थाओं एवं प्रभावी निरीक्षण की आवश्यकता जताई।

बैठक में रमसा के अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक प्रकाश चैधरी ने गत बैठक में लिये गये निर्णयों का क्रियान्वयन, आदर्श विधालयों की प्रगति, आंगनवाडी केन्द्रो का विधालयों से जुडाव, खेल मैदानों का विकास, आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर एवं रमसा के तहत संचालित विभिन्न कार्यो की प्रगति के सम्बन्ध में विस्तार से अवगत करवाया जबकि रमसा के लेखाधिकारी घनश्याम दवे ने निर्माण कार्यो के भुगतान के सम्बन्ध में जानकारी दी वही समिति के सदस्य धनराज दवे ने भी अपने सुझाव दिये। बैठक में अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी भैराराम चैधरी एवं सर्व शिक्षा के मोहनलाल राठौड सहित विभिन्न अधिकारी एवं नोडल विधालयों के संस्था प्रधान आदि उपस्थित थें।

---000----

सम्पर्क पोर्टल के मामलों की साप्ताहिक समीक्षा करने के निर्देश



जालोर 23 फरवरी - जिला कलेक्टर अनिल गुप्ता ने जिले के सभी उपखण्ड अधिकारियों को निर्देशित किया कि राजस्थान सम्पर्क पोर्टल के तहत दर्ज होने वाले मामलों के निस्तारण के लिए प्रति सप्ताह बैठक आयोजित कर इनका प्रभावी ढंग से निस्तारण किया जाना सुनिश्चित करें।

जिला कलेक्टर अनिल गुप्ता ने जिले के सभी उपखण्ड अधिकारियों को निर्देशित किया जिला स्तरीय सम्पर्क समाधान शिविर में समीक्षा के दौरान पाया गया कि दर्ज प्रकरणों की नियमित समीक्षा के अभाव में प्रकरणों का यथेष्ट समय में निस्तारण नही हो रहा है इसलिए सभी अधिकारी दर्ज परिवादों की उपखण्ड स्तर पर प्रति सप्ताह बैठक आयोजित कर इनकी प्रभावी माॅनिटरिंग करें ताकि 60 दिवस से अधिक अवधि के मामले लम्बित नही रहें। उन्होनें निर्देशित किया कि किसी अधिकारी द्वारा कोत्ताही बरती जाती है तो उसकी सूचना जिला मुख्यालय को भिजवायें ताकि आवश्यक कार्यवाही की जा सकें।

---000---

बेटियों को शिक्षित कर आत्मनिर्भर बनायें: गोहिल

सायला ग्राम में वात्सल्य कार्यक्रम का आयोजन





जालोर 23 फरवरी - सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के क्षेत्राीय प्रचार निदेशालय की बाड़मेर-सिरोही मीडिया इकाई द्वारा सायला ग्राम में जिला प्रमुख के मुख्य आतित्थ्य में वात्सल्य कार्यक्रम का समारोह पूर्वक आयोजन किया गया वही विभिन्न प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरूस्कृत भी किया गया।

कार्यक्रम में जिला प्रमुख डाॅ. वन्नेसिंह गोहिल ने कहा कि बेटियाँ अनमोल रत्न होती है जोकि दो घरों को रोशन करती हैं। हमें बेटियों की अच्छी परवरिश करने के साथ ही उन्हे शिक्षित कर आत्मनिर्भर बनाने की सतत् कोशिश करते रहना चाहिए। उन्होंने माँ व बच्चे की मृत्यु दर को पूर्णतया कम करने की आवश्यकता जताते हुए कहा कि राजकीय चिकित्सालयों में संस्थागत प्रसव करवायें जिसमें माॅ व बच्चें दोनो को आर्थिक लाभ देय होने के साथ ही आवश्यक सुविधाएॅ व दवाईयाॅ आदि भी मिलती है। उन्होनें सन्तुलित भोजन, उचित समय पर टीकाकरण व जननी सुरक्षा कार्यक्रम इत्यादि का लाभ लेने का भी आहवान् किय।

समारोह में सायला प्रधान जबरसिंह तुरा ने माँ व बच्चे के स्वास्थ्य के लिए प्रसवकाल में विशेष ध्यान रखने की अपील की। आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी डाॅ. मित्तल मुण्डाजी ने नियमित दिनचर्या व ऋतु के अनुसार आहार लेने से स्वास्थ्य पर होने वाले लाभों के बारे में जानकारी दी। डाॅ. अश्वनी कुमार सिंह ने माँ व बच्चे के बेहत्तर स्वास्थ्य के लिए केन्द्र व राज्य सरकार की चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित की जा रही जनकल्याणकारी योजनाओं के बारे में जानकारी प्रदान की। नेहरू युवा केन्द्र के जिला समन्वयक राजेन्द्र सिंह कसाना ने युवाओं को अच्छे स्वास्थ्य के लिए नियमित दिनचर्या अपनाने व नशाखोरी से दूर रहने की अपील की। मुख्य कार्यक्रम से पूर्व रैली का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम में राजस्थान लोक कला मण्डल एवं स्थानीय विद्यालय द्वारा सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी गई। वात्सल्य कार्यक्रम के तहत रंगोली, मेहन्दी, वाॅलीबाॅल, कबड्डी, चित्राकला इत्यादि प्रतियोगिताओ के विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कृत कर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में महिला एवं बाल विकास विभाग, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, नेहरू युवा केन्द्र व ग्राम पंचायत सायला सहित विभिन्न विभागों का सहयोग रहा।

कार्यक्रम के नोडल अधिकारी नरेन्द्र कुमार ने वात्सल्य कार्यक्रम के आयोजन के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए जानकारी प्रदान की। कार्यक्रम का संचालन सिरोही के क्षेत्राीय प्रचार अधिकारी फूलचन्द गहलोत व वरिष्ठ अध्यापक श्याम सुन्दर ने किया। इस अवसर पर बालिका विद्यालय की प्रधानाचार्य श्रीमती तारा महात्मा, प्रधानाचार्य रेवाशंकर गर्ग, साफाडा के प्रधानाचार्य सरदार सिंह चारण, बाल विकास परियोजना अधिकारी ज्योति पाटीदार, ग्रामसेवक दिनेश सिंह राजपुरोहित, रोजगार सहायक महेन्द्र कुमार सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण व विद्यार्थी उपस्थित थे।

---000---

 

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top