edvertise

edvertise
barmer



हमें साथ जोडों व सम्मान दो ताकि हम अपना विकास कर सकें - जोगी जाति की महिलांए ।
बाडमेंर स्वमं सेवी संस्था महिला मण्डल बाडम्ेंा आगोर द्वारा जोगीयो की धडी में गरीब महिलाओं की मासिक बैठक रखी गयी जिसमें जोगीयों की धडी में सडक बनाने व गरीब पुर्नवास के मुददेंा पर बात चीत हुई

संस्था सचिव सराना अख्तर ने बताया कि जोगी जाति की महिलाअेंा के विकास के लिए संस्था जो कदम उठाया हें उनमें षुरू षुरू में कई प्रकार की समस्या जरूर आ रही हें परन्तु समय के साथ साथ सही प्लानिंग से महिलाअेां और बच्चों का विकास जरूर होगा। इस बस्ती की महिलाओं में जानकारी तो हें की हमारा बदलाव आना चाहिए परन्तु सरकारी सुविधाअेंा के अभाव में हमारी कोई सुनता नही हें। हमारी बस्ती में सडक डामरीकरण नही हें पता नही कब होगी । स्कुल तो हे पर उसकी गुणवती व हमे जोडने के लिए पुख्ता प्रयासों की जरूरत हें।

संस्था महिला समन्वयक कंचन कुमारी ने बताया कि हम पूरा प्रयास करेगें की ये महिलाएं षिक्षा की ओैर आगे बढे ताकि आने वाले भविश्य में इन महिलाओं को उचित जगह मिलें सम्मान मिले ताकि उनके बच्चों को प्रषासन के साथ विकास की मुख्य धारा मे जोडा जा सके। आज महिलाओ के मिटिंग में साफ सफाई,महिलाओं एवं बच्चों के स्वास्थ्य,सर्दी के बच्चाव व षराब बन्दी के मुददों पर बात चीत की गयी । प्रत्येक पांच आदमी में एक आदमी पूरा षराब में घुत रहता हें । इसलिए यहां का पुरूश केवल एक वोटर बन कर रह गया हें उनको अपने स्वमं के परिवार के विकासात्मक प्लान से कोई लेना देना हें । पूरे दिन उनके बच्चे व महिलाएं घर घर जाकर भीख मांगते हें और उनके लोग तिरस्कार की दृश्टि से देखते हंै । इसलिए हम समाज के सभी वर्गो की यह जिम्मेवारी बनती हें की हम सब इनको अपना माने व सम्मान देवे ताकि वे सम्मान पूर्वक अपनी जिन्दगी जी सकें। सभी महिलाओं ने अपनी बात में कहा कि हमें सभी समाज साथ जोडे व सम्मान दे ताकि हम अपना विकास कर सकें और सरकारी योंजनाअेंा से लाभ लेकर सभी के साथ कदम से कदम मिला सकें ।

जोगीयों के धडी के बच्चेंा ने मांग रखी हें कि जिला कलेक्टर साहब से एक बार मिलना हें ताकि हम उनके पास जाकर अपनी बात रख सकें । बच्चों ने बताया कि हमारी बस्ती में सडक नही हें व नालिया कोई बनाता नही हें । इसलिए प्रषासन से निवेदन किया हें कि बस्ती में नगर पालिका की तरफ से एक माह में एक बार कोई न कोई कर्मचारी विजिट करें और आपस में मिलकर हमारी समस्याओं का समाधान कर सकें । सभी महिलाअेा व बच्चों षपथ ली की हम सभी जोगीयों की बस्ती के विकास पर पूर्ण सहयोग करेंगें व नियमित स्कुल जायेगें ताकि हमारा भी सामाजिक विकास हो सकें । सभी महिलाओं व गरीब बुजुगों को 32 सहायता किट वितरण किये गयें जिससे सर्दी से बचाव किया जा सकें । महिला स्वमं सहायता संगठन का गठन किया गया व बच्चों की बाल पंचायत बनाई गयी । कार्यक्रम में सरस्वती बेन,आशाराम व आदिल भाई ने सहयागे प्रदान किया ।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top