edvertise

edvertise
barmer



बीदासर/चूरू सारंगसर में दो दरिंदों ने नाबालिग से दुष्कर्म के बाद दिया ऐसा जख्म कि सुन कर हर किसी का दिल दहल जाएगा
सारंगसर में दो दरिंदों ने नाबालिग से दुष्कर्म के बाद दिया ऐसा जख्म कि सुन कर हर किसी का दिल दहल जाएगा

थाना के गांव सारंगसर मेें दुष्कर्म के बाद एक नाबालिग युवती की आंखों में भी चोट पहुंचाई गई। दोनों दरिंदों ने उसके ऊपर बाइक भी चढ़ा दी जिससे उसकी रीढ़ की हड्डी व पसलियों में चोट आई है। पीडि़ता एसएमएस अस्पताल जयपुर में जिंदगी और मौत से जूझ रही है। घटना 24 दिसम्बर रात की है लेकिन आरोपित का पिता सोमवार को गुजरात से आने के बाद थाने में मामला दर्ज करवाया।

थानाधिकारी प्रहलाद राय ने बताया कि नाबालिका के पिता ने सोमवार रात मामला दर्ज करवाया। रिपोर्ट में बताया कि उसकी 15 वर्षीय पुत्री घर के एक कमरे मे पढ़ाई कर रही थी। परिवार के अन्य सदस्य सो रहे थे। रात 11.30 बजे भौमपुरा निवासी राकेश भार्गव व उसका एक रिस्तेदार घर में घुस कर उसकी पुत्री का मुंह बन्द कर जबरदस्ती मोटरसाइकल पर बैठा कर गांव से एक किलोमीटर दूर चरला रोड पर ले गए। वहां दुष्कर्म के बाद दोनों ने पुत्री को जान से मारने प्रयास किया और उसके ऊपर मोटर साईकल चढ़ाकर रीढ़ की हड्डी व पसलिया तोड़ दी। आंख भी फ ोड़ दी और शरीर के अन्य भागों पर घाव कर लहूलुहान कर दिया। 25 दिसम्बर को दोपहर 3 बजे मेरी पत्नी के पास आरोपित राकेश के पिता व उसकी मां आए और कहा कि तुम्हारी लड़की घायल अवस्था में मिली है। हमारे साथ चलो तब पत्नी उनके साथ उनके घर गांव ढाणी भौमपुरा गई तो देखा तो उसकी पुत्री घायल अवस्था में पड़ी थी। उसके बाद पत्नी ने उक्त घटना की जानकारी मेरे चाचा को बताई और मुझे फोन पर जानकारी दी। दोनों चाचा ने गाडी बुलाकर गंभीर हालात में सुजानगढ़ अस्पताल ले गए वहां चिकित्सकों ने बीकानेर रैफ र कर दिया तथा बीकानेर से जयपुर रैफ र कर दिया जिसका सवाईमान सिंह अस्तपताल में इलाज चल रहा है। नाबालिका का पिता गुजरात के भुज-कच्छ जनपद में मजदूरी का कार्य करता है। पुलिस ने पिता की रिपोर्ट पर मामला दर्ज किया है।

स्कूल संचालक का बेटा है आरोपित

आरोपित का पिता सारंगसर में निजी स्कूल चलाता है और आरोपित भी उसी में पढ़ाता है। पीडि़ता का घर स्कूल के पास ही है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top