edvertise

edvertise
barmer

अलवर सहकारी बैंक के मैनेजर, कैशियर व दो क्लर्क गिरफ्तार, मास्टरमाइंड के कहने पर किया था फर्जीवाड़ा
अलवर सहकारी बैंक के मैनेजर, कैशियर व दो क्लर्क गिरफ्तार, मास्टरमाइंड के कहने पर किया था फर्जीवाड़ा
स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) ने मंगलवार शाम छह घंटे की पूछताछ के बाद बैंक मैनेजर सहित चार बैंककर्मियों को गिरफ्तार कर लिया। अलवर अरबन को-ऑपरेटिव बैंक गबन के मास्टरमाइंड अभिषेक जोशी के लिए चारों ने काम किया था। चारों ने उसके कहने पर फर्जी खाते और फर्जी लोन का भी भुगतान किया था। आरोपितों को एसओजी गुरुवार को अलवर कोर्ट में पेश करके रिमांड लेगी। एसओजी आईजी दिनेश एमएन ने बताया कि गिरफ्तार बैंक मैनेजर आनंद शर्मा, बैंक के क्लर्क पुष्पेंद्र जोशी, सुरेश शर्मा और कैशियर टीकाराम हैं।

चारों की मिलीभगत से ही जेल गए आरोपित जोशी ने 92 फर्जी बैंक खाते खुलने के साथ ही उन बैंक खातों पर 8.28 करोड़ का लोन भी उठाया था। आरोपितों से पूछताछ जारी है। कई ऐसे दस्तावेज मिले हैं, जिनमें सभी की भूमिका जोशी की मदद करने की है।
बिना सत्यापन दिया लोन
एसओजी ने नोटिस देकर बैंक मैनेजर आनंद शर्मा सहित सात बैंक कर्मचारियों को अलवर से पूछताछ के लिए मुख्यालय बुलाया था। मंगलवार सुबह सभी कर्मचारी आ गए। इसके बाद एसओजी अधिकारियों ने आरोपितों से एक-एक करके दस्तोवज के आधार पर पूछताछ की। सभी का बस एक ही जबाव था कि उन्होंने कोई गलत काम नहीं किया। इस पर एसओजी अधिकारियों ने कहा कि उनकी देखरेख में ही फर्जी बैंक खाता खोले गए। फिर उन बैंक खातों पर लोन पास किया गया। बिना सत्यापन के फिर कैसे लोन का भुगतान किया गया।

अभी और होनी हैं गिरफ्तारियां
एसओजी अभी इस गबन कांड में अन्य बैंककर्मी और दूसरे लोगों की गिरफ्तारी की तैयारियों में लगी है। बैंक, सहकारिता विभाग और मुम्बई से मिले दस्तावेजों की भी छानबीन जारी है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top