edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर जिला कलक्टर ने दी गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं
बाड़मेर, 25 जनवरी। जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने बाड़मेर जिले के नागरिकांे को गणतंत्र दिवस की बधाई एवं हार्दिक शुभकामनाएं दी है।

जिला कलक्टर शर्मा ने समस्त जिलावासियों से राष्ट्रीय पर्व को हर्षोल्लास तथा राष्ट्रीय गरिमा के अनुरूप मनाने एवं अपने भवनों, कार्यालयों, प्रतिष्ठानों एवं सरकारी तथा निजी संस्थानो पर राष्ट्रीय तिरंगा फहराने का भी आग्रह किया।

प््राान खाते की डिटेल अपडेट करवाने के निर्देश
बाड़मेर, 25 जनवरी। ऐसे समस्त कार्मिक जिनके प्रान डिटेल मंे एम्पलोई आईडी नंबर अंकित नहीं है वे अपने विभाग के माध्यम से एनेक्सर एस 2 फार्म की पूर्ति कर राज्य बीमा एवं प्रावधायी निधि विभाग को प्रेषित करवाएं। साथ ही अपने एम्पलोई आईडी नंबर का विवरण प्रान खाता संख्या मंे आवश्यक रूप से करवाएं।

राज्य बीमा एवं प्रावधायी निधि विभाग के सहायक निदेशक ने बताया कि प्रान कार्ड जारी करवाते समय सीएसआरएफ-1 फार्म मंे नोमिनेशन डिटेल अंकित नहीं होने अथवा अपूर्ण होने के कारण कई प्रान कार्ड धारकांे के मास्टर डाटा विवरण मंे नोमिनेशन का विवरण अंकित नहीं हो पाया है। ऐसे सभी प्रान धारक जिनका नोमिनेशन विवरण उनके प्रान कार्ड मंे दर्ज नहीं हो, वे एनेक्सर एस-2 की पूर्ति कर अपने आहरण एवं वितरण अधिकारी के माध्यम से इस कार्यालय को भिजवाएं ताकि उनका मनोनयन का विवरण उनके प्रान डिटेल मंे अपडेट किया जा सके। उन्हांेने बताया कि सभी प्रानधारकांे को प्रानकार्ड के साथ एनएसडीएल द्वारा दिए गए यूजर आईडी प्रान संख्या एवं आई पिन का उपयोग करते हुए स्वयं के मोबाइल संख्या, ई-मेल आईडी एवं पत्ते का संशोधन यदि कोई हो किया जाना है। यह विवरण कार्मिक अपने स्तर पर भी अपडेट कर सकते है।

उन्हांेने बताया कि ऐसे समस्त मामलांे मंे एनेक्सर एस-2 की पूर्ति कर एक सप्ताह मंे भिजवाया जाना सुनिश्चित करवाएं अन्यथा निदेशक के निर्देशानुसार जनवरी 2017 का वेतन पारित किया जाना संभव नहीं होगा। सभी आहरण एवं वितरण अधिकारियांे को निर्देशित किया गया है कि वे एनपीएस कटौती से पूर्व संबंधित कार्मिक का प्रान कार्ड देखकर ही प्रान नंबर अंकित करें क्योंकि बिल पारित होने के बाद यह पाया गया है कि कई कार्मिकांे के प्रान संख्या गलत होने के कारण उनकी एनपीएस कटौतियां एनएसडीएल को अपलोड की जानी संभव नहीं होनेे के कारण राशियां उनके प्रान खाते मंे अपलोड नहीं हो पाती है। इसके कारण संबंधित कार्मिक को नुकसान उठाना पड़ता है। ऐसे मंे सभी कार्मिकांे की एनपीएस कटौतियांे मंे सही प्रान संख्या अंकित की जाए।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top