edvertise

edvertise
barmer



जालोर अध्ययन यात्रा पर जालोर जिला प्रमुख

गोवा व महाराष्ट्र की पंचायतीराज व्यवस्थाओं का कर रहे अध्ययन


जालोर-03 जनवरी 2017

हाल ही मे 01 जनवरी से जालोर जिला प्रमुख डा.वन्नेसिह गोहिल इन्दिरा गाॅधी पंचायती राज एवं ग्रामिण विकास संस्थान द्वारा अनुमोदन के आधार पर आज आठ दिवसीय अध्ययन यात्रा पर है। जिला प्रमुख श्री गोहिल के निजि सहायक ने बताया कि ईयु एसपीपी के तहत महाराष्ट्र-गोवा राज्य की अध्ययन यात्रा के लिए राजस्थान के जनप्रतिनिधियों मे चयनित जालोर जिला प्रमुख को माननिय मंत्री ग्रामीण विकास एवं ग्रामीण विकास विभाग राजस्थान द्वारा नामांकित किया गया था। यूरोपियन यूनियन राज्य सहभागिता कार्यक्रम के अन्र्तगत राजस्थान से नामांकित बीस सदस्य जनप्रतिनिधियों का प्रतिभागी गोवा व महाराष्ट्र की पंचायती राज व्यवस्था का अध्ययन करने पहुॅच गया है। नये वर्ष 2017 के प्रथम दिन प्रदेष के पंचायतीराज एवं संसदीय मंत्री माननीय राजेन्द्र राठौड ने राजस्थान के 20 सदस्ययी दल को नववर्ष की बधाई देते हुए प्रभावी अवलोकन के लिए रवाना किया। यह दल महाराष्ट्र राज्य के गा्रमिण आचंल व वहां पंचायती राज द्वारा विकास के साथ वाटर सैड सहित पंचायती राज की व्यवस्था की विभिन्न योजनाओं व क्रियाकलापों को नजदीक से समझते हुए उसका नवाचार राजस्थान राज्य मे जनता के लिए उपयोगी बनाने के लिए दल द्वारा अपना प्रतिवेदन देगा।

राजस्थान दल मे प्रतिभागी- यूरोपियन यूनियन राज्य सहभागिता कार्यक्रम के अन्र्तगत राजस्थान से नामांकित बीस सदस्य जनप्रतिनिधियों के दल मे जालोर जिला प्रमुख डा.वन्नेसिह गोहिल सहित हरलाल सहारण चुरू जिला प्रमुख, पुनाराम जिला प्रमुख जोधपुर, प्रेमाराम सिरवी जिला प्रमुख पाली,अर्पणा रोलन जिला प्रमुख सीकर व समदडी, सरदार षहर, मलसीसर, ओसिया, बालेसर, रेलमगरा, दातांरामगढ, मंडोर, खेतडी पंचायत समितियों के प्रधान के अलावा राज्य के पाॅच सरपंच भी सरीक है।

जनवरी 2016 मे किया था केरल का अध्ययन-इससे पुर्व भी जिला प्रमुख डाॅ0 वन्नेसिंह गोहिल राज्य स्तरीय दल के साथ एक सप्ताह के कार्यक्रम पर केरल राज्य में संचालित जलग्रहण परियोजना के अध्ययन हेतु दिनांक 10 से 16 जनवरी तक पंचायत राज विभाग के जलग्रहण परियोजना के विषेष अध्ययन प्रो्रग्राम के तहत केरल की यात्रा हेतु नामांकित थे। केरल प्रान्त में अध्ययन हेतु प्रदेष से एक मात्र जिला प्रमुख श्री गोहिल की इस अध्ययन दल में पंचायतराज मंत्री सुरेन्द्र गोयल भी षामिल थे।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top