edvertise

edvertise
barmer



बाडमेर, लम्बित राजस्व प्रकरणों का शीध्र निस्तारण कर आम जन को राहत पहुचाएं - शर्मा
बाडमेर, 07 जनवरी। पिछले कई वर्षो से लम्बित राजस्व प्रकरणों का शीध्र निस्तारण कर आमजन को राहत पहुचाई जाए। जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने शनिवार को जिला मुख्यालय पर कलक्ट्रेट कांफ्रेन्स हॉल में आयोजित राजस्व अधिकारियों की बैठक के दौरान यह बात कही।

जिला कलक्टर शर्मा ने राजस्व न्यायालय वार बकाया प्रकरणों की विस्तृत समीक्षा करते हुए पुराने प्रकरणों विशेषकर तीन वर्ष से अधिक अवधि से लम्बित प्रकरणों पर विशेष ध्यान दिया जाकर प्राथमिकता से निस्तारण करने के निर्देश दिए। उन्होने सार्वजनिक प्रयोजनार्थ भूमि आवंटन, आरक्षण, विद्यालय खेल मैदान, श्मशान, कब्रिस्तान भूमि आरक्षण, सीएचसी, पीएचसी, एसएचसी, औद्योगिक प्रशिक्षण केन्द्र तथा सार्वजनिक उपयोग के अन्य भवनों इत्यादि के लम्बित प्रकरणों की समीक्षा की तथा अभियान चलाकर 15 दिवस में लम्बित प्रकरणों का निस्तारण करने के निर्देश दिए। उन्होने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री महोदया की घोषणा के अनुसार प्रत्येक पंचायत समिति मुख्यालय पर एक आईटीआई केन्द्र होगा, जिसके लिए 16.5 बीघा जमीन चिन्हित की जाएगी। उन्होने आबादी विस्तार के प्रस्ताव के साथ सम्पूर्ण जानकारी भिजवाने के निर्देश दिए।

इस अवसर पर जिला कलक्टर शर्मा ने प्रत्येक शुक्रवार को ग्राम पंचायत मुख्यालय पर आयोजित होने वाले पं. दीनदयाल उपाध्याय जन कल्याण पंचायत शिविरों की प्रगति की समीक्षा करते हुए शिविरों का व्यापक प्रचार प्रसार कर अधिकाधिक लोगों को राहत पहुंचाने के निर्देश दिए। इसी प्रकार उन्होने भामाशाह सुविधा शिविरों में भामाशाह नामांकन एवं सीडिंग में धीमी प्रगति वाले ब्लॉक में प्रगति लाने के निर्देश दिए। उन्होने नई पेंशन स्वीकृति की शीध्र सीडिंग करने तथा भामाशाह कार्ड वितरण कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए।

बैठक में न्यायालय वार बकाया म्युटेशन खोलने, विभाजन प्रस्ताव, सीमा ज्ञान, बैंक रहन, 16 एवं 17 सीसीए के प्रकरणों, कृषि पास बुक वितरण, तरमीम इत्यादि राजस्व संबंधी विभिन्न कार्यो की विस्तार के साथ समीक्षा की तथा बकाया प्रकरणों का शीध्र निस्तारण करने के निर्देश दिए। इसी प्रकार पाक विस्थापितों को भूमि आवंटन के कब्जा देने के संबंध में केम्प आयोजित कर तथ्यात्मक रिपोर्ट भिजवाने के निर्देश दिए। जिला कलक्टर ने विधानसभा प्रश्नों का शीध्र जवाब भिजवाने तथा मुख्यमंत्री बजट घोषणा की तत्काल क्रियान्विति करने के निर्देश दिए। उन्होने राजस्थान सम्पर्क पोर्टल पर लम्बित प्रकरणों का शीध्र निस्तारण करने के निर्देश दिए।

बैठक के दौरान मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल. नेहरा ने ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग की योजनाओं की प्रगति की विस्तार के साथ समीक्षा की। इसी प्रकार स्वच्छ भारत मिशन कार्यक्रम की प्रगति की समीक्षा की गई। उन्होने मार्च 2017 तक व्यक्तिगत शौचालयों के लक्ष्य पूर्ण करने तथा 50 प्रतिशत ग्राम पंचायतों को खुले में शौच से मुक्त करने के निर्देश दिए। बैठक में मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान, आदर्श विद्यालय एवं उत्कृष्ट विद्यालय, आदर्श पीएचसी, पेजयल परियोजनाओं के भूमि आवंटन एवं अवाप्ति संबंधी प्रकरणों, वन भूमि से संबंधित अमददरामद के प्रकरणों, खनन गतिविधियों की निगरानी एवं पर्यावरण सुरक्षा तथा अवैध खनन की रोकथाम, केशलेस डिजिटल ट्रांजेक्शन, लाईव ट्राजेक्शन आदि पर संबंधित अधिकारियों से विस्तार पूर्वक समीक्षा पश्चात् आवश्यक निर्देश दिए गए।

इस अवसर पर जिला कलक्टर शर्मा ने मुख्यमंत्री विद्युत सुधार अभियान की विस्तार पूर्वक समीक्षा की। उन्होने बताया कि यह मुख्यमंत्री महोदया का समयबद्ध कार्यक्रम है। उन्होने सभी उपखण्ड अधिकारियों को सम्बन्धित कनिष्ठ अभियन्ताओं के साथ बैठक आयोजित कर फिडर इम्पुमेन्ट करने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होने रात्रि चौपाल के दौरान आम जन से समझाईस करने को कहा। इस दौरान डिस्कॉम के अधीक्षण अभियन्ता जी.आर. सिरवी ने बताया कि विद्युत सुधार के लिए मुख्यमंत्री विद्युत सुधार अभियान को चरणबद्ध समय सीमा के अन्तर्गत पूरा किया जाना है। जिले की कुल विद्युत छीजत मार्च, 17 तक 10.34 प्रतिशत तक लाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उन्होने बताया कि बाडमेर जिले में प्रथम चरण में कुल 347 फीडरों का चयन किया गया है एवं इसके लिए 347 फीडरों पर फीडर मॉनिटरिंग कमेटी का गठन किया गया है। इस योजना के तहत जिले में 347 फीडरों के मैटेनेस कार्य हेतु कार्यदेश जारी कर दिए गए है तथा 132 फीडरों पर कार्य पूर्ण कर दिया गया एवं एवं 166 फीडरों पर कार्य प्रगति पर है।

बैठक के प्रारम्भ में राज्य सरकार की फ्लेगशिप याजनाओं एवं जन कल्याणकारी कार्यक्रमों की जानकारी के संबंध मे मूल्यांकन परीक्षा ली गई। बैठक में मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल. नेहरा, उपखण्ड अधिकारी, तहसीलदार, विकास अधिकारी, अधीक्षण अभियन्ता जलदाय विभाग नेमाराम परिहार, डिस्कॉम जी.आर. सिरवी, उप वन संरक्षक लक्ष्मण लाल समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top