edvertise

edvertise
barmer



बाडमेर, सांतवा राष्ट्रीय मतदाता दिवस 25 जनवरी को

सूचना केन्द्र में फोटो प्रदर्शनी का आयोजन कल


बाडमेर, 04 जनवरी। सातवां राष्ट्रीय मतदाता दिवस 25 जनवरी को समारोह पूर्वक आयोजित करने के संबंध में 6 जनवरी को प्रातः 11.00 बजे सूचना एवं जनसम्पर्क कार्यालय बाडमेर में फोटो प्रदर्शनी का आयोजन किया जाएगा।

उप जिला निर्वाचन अधिकारी ओ.पी. बिश्नोई ने बताया कि फोटो प्रदर्शनी का उद्घाटन जिला निर्वाचन अधिकारी सुधीर शर्मा 6 जनवरी को प्रातः 11.00 बजे करेंगे। उन्होने बताया कि फोटो प्रदर्शनी में मतदाता सूची में नाम सत्यापित किये जाने के लिए योग्यताएं एवं अयोग्यताएं, नया एवं त्रुटिरहित मतदाता फोटो पहचान बनाने की प्रक्रिया, बूथ लेवल अधिकारियों के दायित्व एवं कर्तव्य, निर्वाचन विभाग की वेबसाइट पर उपलब्ध मतदाता संबंधी जानकारी प्राप्त करने सहित विभिन्न बिन्दुओं को कुल 18 पैनलस् के जरिये प्रदर्शित किया गया है। उक्त फोटो प्रदर्शनी 6 तथा 7 जनवरी को प्रातः 10.00 बजे से सायं 6.00 बजे तक अवलोकनार्थ खुली रहेगी।

ई मित्र धारक द्वारा फर्जी तरीके से प्रमाण पत्र बनाने पर एफआईआर दर्ज
बाडमेर, 04 जनवरी। ई मित्र धारक द्वारा फर्जी तरीके से प्रमाण पत्र बनाने पर एफआईआर दर्ज की जाकर ई मित्र कियोस्क से कम्प्यूटर एवं संबंधित सामग्री जब्त की गई है।

सूचना प्रौद्योगिकी और संचार विभाग उप निदेशक देवेन्द्र माथूर ने बताया कि विभाग के सूचना सहायक सुरेश कुमार द्वारा शिकायत की जांच के दौरान गोकलाराम ई मित्र धारक सिणधरी चौराहा द्वारा फर्जी तरीके से प्रमाण पत्र बनाने की जांच की गई। जांच में ई मित्र धारक फर्जी तरीके से जाति प्रमाण पत्र, मूल निवास प्रमाण पत्र, पुलिस वेरिफिकेशन आदि बना रहा था। मौके पर से उक्त प्रमाण पत्र जब्त किये गये और अग्रिम कार्यवाही के लिए विभाग को रिपोर्ट उपलब्ध करवाई गयी। विभाग द्वारा जिला समन्वयक वक्रांगी लिमिटेड को एफआईआर करवाने के लिए पत्र प्रेषित किया गया तथा 3 जनवरी को पुलिस थाना कोतवाली में एफआईआर दर्ज करवाई गयी। पुलिस विभाग द्वारा ई मित्र कियोस्क से कम्प्यूटर एवं संबंधित सामग्री जब्त की गई।

उन्होने बताया कि श्रीराम ई मित्र कियोस्क धारक गोकलाराम सिणधरी चौराहा बाडमेर से जिन जिन लोगों ने विभिन्न प्रमाण पत्र बनवाये है वे ई मित्र की वेबसाईट से स्वयं या नजदीकी ई मित्र पर जाकर इसकी जांच करवा ले तथा कोई सन्देह होने पर विभाग को इसकी जानकारी दे।

उन्होने बताया कि जब भी कोई व्यक्ति ई कियोस्क से कोई प्रमाण पत्र बनवाता है तो उक्त प्रमाण पत्र को ई मित्र की वेबसाइट से प्रमाणित करवा सकते है कि उक्त सही है अथवा नहीं। व्यक्ति ई मित्र से अथवा स्वयं इसकी जांच कर सकते है। सभी ई मित्र केन्द्रों पर दर सूची लगाई हुई होती है, अतः निर्धारित दर से ही भुगतान करें। ई मित्र धारक द्वारा अधिक भुगतान की मांग की जाती है या प्रमाण पत्रों में आम जन को किसी भी तरह का सन्देह हो तो सूचना प्रौद्योगिकी और संचार विभाग कार्यालय बाडमेर से सम्पर्क किया जा सकता है।

-0-

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top