edvertise

edvertise
barmer

हत्या के विरोध में बंद रहा सरदारशहर
हत्या के विरोध में बंद रहा सरदारशहर


सरदारशहर गत शनिवार को वकील के बेटे की हत्या का खुलासा कर हत्यारों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर सर्व समाज के आह्वान पर शुक्रवार को कस्बा बंद रहा।


इस दौरान गांधी चौक पर धरना दिया गया। दिनभर बाजार बंद रहने से आवागमन कम रहा। अनेक क्षेत्रों में सन्नाटा पसरा रहा। बंद के आह्वान पर सब्जी मंडी व चाय-पान की थडिय़ां भी बंद रही।


ऑटो चालकों ने बंद का समर्थन कर ऑटो नहीं चलाए। ऐसे में आमजन को जरूरी सामान की खरीदारी व आगामन में परेशानियों का सामना करना पड़ा। यात्रियों को सामान उठाकर पैदल ही गंतव्य तक जाना पड़ा। ऑटो चालक अपने ऑटो रिक्शा ताल मैदान में खड़ा कर वहां से रैली के रूप में गांधी चौक पहुंचे। यहां नारेबाजी कर हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग की। शांति पूर्वक रहे बंद के दौरान बाजारों में ऐहतियात के तौर पर पुलिस जाप्ता तैनात रहा।


गलियों में भी बंद रही दुकानें


बंद के दौरान गलियों में भी दुकानें बंद रही। ऐसे में गांवों से आने वाले लोगों को बिना सामान के निराश लौटना पड़ा। बंद के कारण शिव मार्केट, लेडिज बाजार, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, कच्चा बस स्टैंड पर दिन भर सन्नाटा छाया रहा।


धरना देकर मांगी हत्यारों की गिरफ्तारी


बंद के दौरान सामाजिक संगठनों से जुड़े लोगों ने गांधी चौक पर एकत्रित होकर धरना दिया। गांधी चौक से घंटाघर तक भीड़ जमा रही। धरने को संबोधित कर विकास मंच अध्यक्ष एडवोकेट राजेंद्र राजपुरोहित, ऑटो चालक यूनियन अध्यक्ष जितेंद्रसिंह राजवी, ब्राह्मण महासभा के जिलाध्यक्ष पूनमचंद पारीक, नेमचंद चांडक, शंकरलाल उपाध्याय, पालिका में प्रतिपक्ष के नेता राजकरण चौधरी, उप नेता अब्दुल रसीद चायल, विष्णु गौड़, जितेंद्र जेदिया, लालबहादुर सेवदा ने प्रशासन से हत्यारों को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग की। धरने पर व्यापार मंडल अध्यक्ष शिवभगवान सैनी, प्रभाकर जोशी, राजेंद्र मोदी, सुरेश तिवाड़ी, शंभुदयाल पारीक, मुकुल शर्मा, मधुसूदन राजपुरोहित, सत्यनारायण जांगिड़, मोहनलाल चौधरी, महावीर माली, राजेश शर्मा, श्यामसुंदर माली, मनफूल खां फौजी, उमरदीन सैयद व मुमताज खान आदि उपस्थित थे।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top