edvertise

edvertise
barmer



जालोर  चाईनिंग मांझे का विक्रय व उपयोग पूर्णतया प्रतिबन्धित



जालोर 4 जनवरी - जिला मजिस्ट्रेट अनिल गुप्ता ने धारा 144 दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 में निहित शक्तियों का प्रयोग करते हुए जिले में मकर संक्रान्ति पर्व पर चाईनिंग मांझे की थोक एवं खुदरा बिक्री तथा उपयोग को पूर्णतया प्रतिबन्धित किया है।

जिला मजिस्ट्रेट अनिल गुप्ता ने बताया कि जालोर जिले में मकर संक्रान्ति पर्व पर पतंगबाजी के लिए धातुओं के मिश्रण से निर्मित ‘‘चाईनिंग मांझा’’ प्रयुक्त किया जाता है जो पतंग के पेंच लडाने में अधिक कारगर होता है इस कारण से इसका प्रयोग अधिक किया जाता हैं। यह मांझा विभिन्न धातुओं के मिश्रण से निर्मित होने से धारदार तथा विद्युत का सुचालक होता है जिसके उपयोग के दौरान दोपहिया वाहन चालकों तथा पक्षियों को अत्यधिक जान-माल का नुकसान होना संभावित है साथ ही विद्युत का सुचालक होने के कारण विद्युत तारों के सम्पर्क में आने पर विद्युत प्रवाह होने से पतंग उडाने वाले को भी नुकसान पहुंचना एवं विद्युत सप्लाई में बाधा उत्पन्न होना भी संभाव्य है।

जिला मजिस्ट्रेट ने धारा 144 दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 में निहित शक्तियों का प्रयोग करते हुए लोक स्वास्थ्य, सुरक्षा एवं पशु-पक्षियों की जान के खतरे तथा विद्युत प्रसारण को बाधा रहित बनाये रखने के लिए बडे पैमाने पर खतरा बन चुके ‘‘चाईनिज मांझे’’ की थोक एवं खुदरा बिक्री तथा उपयोग को जालोर जिले में निषेध व पूर्ण प्रतिबन्धित किया है तथा इसकी अवमानना भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अन्तर्गत दण्डनीय अपराध होगा तथा अवहेलना करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध नियमानुसार अभियोग चलेगा। यह आदेश 5 जनवरी से 31 जनवरी तक प्रभावी रहेगा।

---000---

फ्लैगशीप योजनओं की प्रगति के लिए मुस्तैदी से कार्य करें- कलक्टर



जालोर 4 जनवरी - जिला कलक्टर अनिल गुप्ता ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा संचालित सभी फ्लैगशीप योजनाओं में वांछित लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए अधिकारी पूर्ण मुस्तैदी के साथ कार्य करें तथा इसमें किसी भी स्तर पर बरती गई लापरवाही को सहन नही किया जायेगा।

जिला कलक्टर बुधवार को कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी फ्लैगशीप योजनाओं की समीक्षा बैठक में उपस्थित जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देशित कर रहे थें। उन्होेने कहा कि राज्य सरकार द्वारा सभी फ्लैगशीप योजनाओं की उच्च स्तरीय नियमित रूप से समीक्षा की जा रही है इसलिए सम्बन्धित अधिकारी भी अपने-अपने विभाग की योजनाओं की प्रभावी ढंग से माॅनिटरिंग करते हुए निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करें। उन्होनें कहा कि आमजन से जुडी योजनाओं में कोत्ताही नही बरतें। उन्होने मुख्य मंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान के द्वितीय चरण की समीक्षा करते हुए वाटरशेड के अधीक्षण अभियन्ता के.एल. मीना को निर्देशित किया कि वे अपने विभाग के स्वीकृत कार्यो की शीघ्र ही वित्तीय स्वीकृतियाॅ जारी करने के साथ ही आवश्यकता अनुसार टेंडर आदि की कार्यवाही करें वही अन्य सम्बन्धित विभाग यथा पंचायत राज, जलदाय, कृषि, वन एवं सिंचाई आदि विभागों के साथ समन्वय रखते हुए सभी स्वीकृत कार्यो की वित्तीय स्वीकृतियाॅ जारी करवायें। उन्होनें कहा कि जिले में ग्रीष्मकाल के दौरान जहां पर टेंकरों से पानी की आपूर्ति की जानी है उन स्थानों पर विशेष ध्यान देते हुए एमजेएसए के तहत जल स्त्रोतों को विकसित करें।

उन्होनें मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. गजेन्द्रसिंह देवल को कहा कि भामाशाह बीमा स्वास्थ्य योजना सहित विभागीय योजनााओं में कम प्रगति वाले प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को नोटिस जारी किये जाये वही आजीविका कौशल विकास निगम के राजेन्द्रसिंह को निर्देशित किया कि युवाओं को कौशल विकास के लिए अधिकाधिक प्रशिक्षण कार्यक्रम सम्पन्न करवाने के साथ ही प्रशिक्षण उपरान्त युवाओं से सतत् सम्पर्क रखते हुए उनके नियोजन कार्य की भी जानकारी रखें।

जिला कलेक्टर ने बैठक में रानीवाडा क्षेत्रा में विधुत विच्छेद के कारण हाॅल ही में बन्द हुए आर.ओ. प्लाट को पुनः प्रारभ्भ करवाने के निर्देश देते हुए कहा कि सम्बन्धित ठेकेदारों को पाबन्द करते हुए इन्हें पुनः चालू करवायें वही जिले के सभी उत्कृष्ट विधालयों में शत प्रतिशत विधुत कनेक्शन करने के भी निर्देश दियें। उन्होने जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया कि जिले के सभी आदर्श एवं उत्कृष्ठ विधालयों में अध्यनरत छात्रा-छात्राओं के आधार कार्ड अनिवार्य रूप से बनवायें वही स्वच्छ भारत मिशन योजना के तहत जिले में खुले में शौच से मुक्त ग्राम पंचायतों में तीव्र गति से कार्य करते हुए निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करें। बैठक में जिला कलेक्टर ने समीक्षा के दौरान रसद अधिकारी सम्पतराज वढेरा को निर्देशित किया कि उचित मूल्य की दुकानों के माध्यम से सामग्री वितरण के तहत नेट की समस्या के लिए आवश्यक कार्यवाही करें। उन्होनें राजस्थान सम्पर्क पोर्टल पर लम्बित मामलों की समीक्षा के दौरान कहा कि जहां से शिकायते अधिक आती है उन पर विशेष ध्यान देते हुए उसकी प्रकृति विशेष को समझे तथा कोशिश करें कि समस्यायें कम से कम उत्पन्न हों। उन्होनें बैठक में केन्द्र प्रवर्तित योजनाओं की जानकारी निर्धारित प्रपत्रा में भिजवाने के भी निर्देश दियें।

बैठक में जालोर उपखण्ड अधिकारी दौलतराम, जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियन्ता कमलजीत एवं सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियन्ता एन.के. माथुर सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी आदि उपस्थित थें।

----000---

अधिकारियों को केशलैस भुगतान का दिया प्रशिक्षण



जालोर 4 जनवरी - कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में बैठक के उपरान्त सूचना एवं विज्ञान केन्द्र द्वारा उपस्थित अधिकारियों को कैशलेस ट्रांजेक्शन करने के लिए पाॅवर पोईन्ट प्रजेटेशन के माध्यम से प्रशिक्षण दिया गया तथा उनकी जिज्ञासाओं का समाधान भी किया गया।

जिला कलेक्टर अनिल गुप्ता की उपस्थिति में सूचना एवं विज्ञान अधिकारी संजय रामदेव ने जिला स्तरीय अधिकारियों को कैशलेस ट्रांजेक्शन की विस्तार से समझाईश करते हुए प्री पेड कार्ड, डेबिट कार्ड व क्रेडिट कार्ड की उपयोगिता बताई वही मोबाईल बैंकिंग, आधार से जुडी भुगतान प्रणाली, यूपीआई सिस्टम, बटुआ एवं पीओएस मशीन आदि के सम्बन्ध में पाॅवर पोईन्ट प्रजेटेशन के द्वारा विस्तार से जानकारी दी तथा उदाहरण के रूप में भुगतान किये जाने का प्रशिक्षण भी दिया। उन्होनें इस अवसर पर केन्द्र सरकार द्वारा हाॅल ही में प्रारभ्भ किये गये भीम ऐप की कार्यप्रणाली को भी बताया।

----000---

निधि अंकेक्षण के बकाया आडिट अनुच्छेदों की पालना शीघ्र ही करने के निर्देश



जालोर 4 जनवरी - जिला कलेक्टर अनिल गुप्ता की अध्यक्षता में जिला स्तरीय प्रशासनिक परीक्षण समिति की त्रौमासिक बैठक सम्पन्न हुई जिसमें जिले में पंचायती राज एवं निकाय विभागों से सम्बन्धित निधि अंकेक्षण विभाग के बकाया आडिट सम्बन्धी कार्यो के त्वरित निस्तारण के लिए आवश्यक निर्देश दियें।

कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में बुधवार को सम्पन्न बैठक में समीक्षा के दौरान जिला कलेक्टर अनिल गुप्ता ने स्थानीय निधि अंकेक्षण विभाग के तहत पंचायत राज विभाग एवं निकायों तथा कृषि उपज मंडी समितियों के बकाया आक्षेपों की समीक्षा करते हुए कहा कि विभागीय अधिकारी मात्रा कागजी कार्यवाही नही करते हुए अनुच्छेदों के निस्तारण के लिए ठोस व प्रभावी कार्यवाही करें तथा गंभीर मामलों में कुर्की की कार्यवाही भी करें। बैठक में जिला कलेक्टर ने सांचैर विकास अधिकारी के अनुपस्थित रहने एवं पालना रिपोर्ट नही भिजवाने एवं सायला पंचायत समिति के लिपिक द्वारा बकाया अनुच्छेदों की पालना में लापरवाही बरतने पर कारण बताओं नोटिस जारी करने के निर्देश दियें।

बैठक में उन्होनें जिले की 50 ग्राम पंचायतों द्वारा अंकेक्षण दलों को रिकार्ड उपलब्ध नही करवायें जाने की जानकारी को गंभीरता से लेते हुए बैठक में उपस्थित अंकेक्षण दल के अधिकारियों एवं जिला परिषद के लेखाधिकारी चम्पालाल जीनगर को निर्देशित किया कि वे स्थानीय निधि अंकेक्षण अधिनियम के तहत कार्यवाही करते हुए सम्बन्धित अधिकारियों व कार्मिकों के विरूद्व एफ.आई.आर.दर्ज करवायें। उन्होंने गबन प्रकरणों की भी विभागवार विस्तार से समीक्षा करते हुए उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे गबन के मामलों की शत प्रतिशत वसूली करने के साथ ही सम्बन्धित के खिलाफ नियमों के अधीन कार्यवाही भी करें।

बैठक में जालोर जिला परिषद के लेखाधिकारी एवं समिति के सचिव चम्पालाल जीनगर ने बकाया आडिट आक्षेपों एवं त्रौमास में किये गये कार्यो के सम्बन्ध में बताया वही वरिष्ठ लेखाधिकारी ललित कुमार दवे ने बकाया अनुच्छेदों तथा स्थानीय निधि अंकेक्षण विभाग जोधपुर के सहायक लेखाधिकारी महेशचन्द्र माथुर ने जिले में अंकेक्षण विभाग से सम्बन्धित बकाया एवं प्रगति के सम्बन्ध में जानकारी दी।

इस अवसर पर जालोर विकास अधिकारी सुरेश कविया सहित विभिन्न पंचायत समितियों में नियुक्त लेखाकर्मी तथा निकायों एवं कृषि उपज मंडी समिति के कार्मिक उपस्थित थें।

----000---

़71 ग्राम पंचायतों में गुरूवार को होगा सामाजिक अंकेक्षण कार्य



जालोर 4 जनवरी - महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गांरटी योजना एवं इन्दिरा आवास योजना अन्तर्गत तृतीय चरण में 5 जनवरी गुरूवार को प्रथम चरण में जिले की 71 ग्राम पंचायतों में ग्राम सभाओं का आयोजन किया जाएगा जिसमें गठित दलों की ओर से सामाजिक अंकेक्षण की रिपोर्ट को पढकर सुनाये जाने के साथ आपत्तियाॅ आदि भी प्राप्त की जाएगी।

जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हरिराम मीना ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार महात्मा गांधी नरेगा योजना एवं इन्दिरा आवास योजनान्तर्गत वित्तीय वर्ष 2016-17 के 01 अप्रेल, 2016 से 30 सितम्बर, 2016 तक पूर्ण, अपूर्ण एवं प्रगतिरत समस्त कार्यो का सामाजिक अंकेक्षण कार्य जिला स्तर व ब्लाॅक स्तर पर गठित दलों द्वारा किया जाएगा जिसके तहत प्रथम चरण में 5 जनवरी को जिले की 71 ग्राम पंचायतों में ग्राम सभाओं का आयोजन किया जाएगा जिसमें जिला कलक्टर द्वारा नियुक्त पर्यवेक्षक ग्राम सभा में उपस्थित रहकर सामाजिक अंकेक्षण का पर्यवेक्षण करेंगे तथा अपनी रिपोर्ट प्रपत्रा-10 में तैयार कर प्रस्तुत करेंगे।

उन्होने बताया कि निर्धारित कार्यक्रम के तहत प्रथम चरण में जिले की 71 ग्राम पंचायतों में जालोर पंचायत समिति के लेटा, देसू, रेवत, भागली सिन्धलान, सामूजा, देवकी व गोदन में, सायला पंचायत समिति के ओटवाला, तूरा, रेवतडा, भूण्डवा, तालियाना, पोषाणा, चैराउ, थलवाड, आसाणा व उनडी में, आहोर पंचायत समिति के पावटा, सेदरियां बालोतान, उम्मेदपुरा, डोडियाली, हरजी, गुडा बालोतान, अगवरी, दयालपुरा, चरली, कवराडा व बिठुडा में, भीनमाल पंचायत समिति के रंगाला, सेवडी, भालनी, बोरटा, भागलसेफ्टा, वाडाभाडवी, कोरा, जेरण व चैनपुरा में, जसवंतपुरा पंचायत समिति के जसवन्तपुरा, गजापुरा, डोरडा, दांतलावास, राजीकावास, खानपुरा, भरूडी व मुडतरासिली में, रानीवाडा पंचायत समिति के रानीवाडा कल्लां, जाखडी, बडगांव, करडा, वणधर, सिलासन, धानोल, रानीवाडा खुर्द व धामसीन में, सांचैर पंचायत समिति के डबाल, बावरला, बिछावाडी, सरवाना, दांतिया, अचलपुर, गोलासन, कोड व भडवल में तथा चितलवाना पंचायत समिति के सिवाडा, रणोदर, निम्बाउ, झाब, हेमागुडा, चितलवाना, हाडेचा व जानवी ग्राम पंचायतों में रिकाॅर्ड की जाॅच की जाएगी।

---000----

शुक्रवार को जन कल्याण पंचायत शिविरों का होगा आयोजन



जालोर 4 जनवरी - जिले की 16 ग्राम पंचायतों में 6 जनवरी शुक्रवार को पं. दीनदयाल उपाध्याय जन कल्याण पंचायत शिविरों का आयोजन किया जायेगा।

जिला कलक्टर अनिल गुप्ता ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार 6 जनवरी शुक्रवार को 16 ग्राम पंचायतों में पं. दीनदयाल उपाध्याय जन कल्याण पंचायत शिविरों का आयोजन किया किया जायेगा जिसके तहत आकोली, सांथू, काम्बा, अजीतपुरा, ऊनडी, पांथेडी, भालणी, बागोडा, डूंगरी, रानीवाडा खुर्द, सोमता, जोडवाडा, झाब, जोधावास, डबाल व किलवा में पंचायत जन कल्याण शिविरों का आयोजन कर ग्रामीणों के पंचायत स्तरीय कार्यो का निस्तारण किया जायेगा।

---000---







0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top