edvertise

edvertise
barmer

पुलिस के लिए चुनौती बना गैंगरेप केस, एमपी की युवती ने डेंटिस्ट पर लगाए हैं आरोप

भरतपुर। आरबीएम अस्पताल के डेंटिस्ट डा. अशोक कुमार वर्मा और उसके सहयोगी पर राजेंद्र नगर कालोनी स्थित मकान में क्लीनिक पर युवती से गैंगरेप के आरोप के मामले का खुलासा पुलिस के लिए चुनौती बना है। पुलिस जिस ओर भी पड़ताल शुरू करती है उसे असफलता ही हाथ लगती है। अब इस मामले में सोमवार को पीड़िता के बयान कोर्ट में दर्ज होंगे। जानिए क्या है मामला ...


police, Bharatpur, gangrape, ghana bird national park

- पुलिस ने एसटीडी डिटेल खंगाल ली है और घना के सीसीटीवी फुटेज देखे हैं। पुलिस का कहना है कि वह अभी तक की जांच में किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है, लेकिन मामला संदिग्ध अवश्य है।

- इसमें गैंगरेप होना या नहीं होना अभी कुछ भी नहीं कहा जा सकता है, जबतक कि घना के सीसीटीवी फुटेज में सामने आए संदिग्धों को नहीं पकड़ा जाता है और सबूत हाथ नहीं लगते हैं।

- सबूतों की तलाश की जा रही है, तभी कुछ कहा जा सकता है।

- सोमवार को कोर्ट में पीड़िता के मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान कराए जाएंगे। इसमें जो बात सामने आती है वही पुलिस की जांच के लिए महत्वपूर्ण होगी।

- इधर, मध्यप्रदेश के रीवा की रहने वाली पीड़िता का मोबाइल फोन भी गायब है, इसका कहना है कि घटना के समय से मोबाइल नहीं मिल रहा है।

- पुलिस ने कॉल डिटेल निकाली तो वहां पर भी मोबाइल बंद मिला।

- जांच अधिकारी सीओ सिटी आबड़दान रत्नू का कहना है कि कॉल डिटेल में लोकल फोन पर कॉल होना नहीं पाया गया है। इससे जांच उलझी हुई है।

- पीड़िता की मां से उसकी फोन पर बात करा दी है और उसके वहां धार के सरकारी हॉस्पिटल में डाटा एंट्री ऑपरेटर होने की बात सही है।

- घना में उसके साथ दो लड़के घूमते नजर आए हैं, ये बात लड़की ने भी मानी है। परंतु वह उन लड़कों के बारे में कुछ नहीं जानती है।

- वह उसे वहां ऐसे ही मिल गए, जो उसकी घना घूमने में मदद कर रहे थे। पुलिस का अब उन्हें ढूंढने का प्रयास जारी है। जिनसे पूछताछ के बाद ही नतीजा निकलने की उम्मीद है।

- डाक्टर अशोक के क्लीनिक पर घटना के समय नई कार खरीदने का सौदा फाइनल करने के लिए एक कंपनी का प्रतिनिधि मौजूद था।

- पुलिस ने उस युवक और युवती को आमने-सामने किया तो उसने युवक को पहचानने से इनकार कर दिया है। इस कारण यहां पर भी जांच अटक गई।

घना के सीसीटीवी में दिखे दो संदिग्ध युवक

- सबसे बड़ा सवाल बना है कि डाक्टर का जहां क्लिनिक है, उसी छोटे से परिसर में ऊपरी मंजिल पर उसका परिवार रहता है। ऐसे में डाक्टर ने कैसे क्लीनिक पर घटना को अंजाम दिया और फिर डाक्टर और उसके सहयोगी अपने-अपने परिवार से कैसे अलग रहे होंगे जबकि पीड़िता का रिपोर्ट में कहना था कि घटना रात 8 से 3 बजे तक के बीच की है।

सारस होटल में सीसीटीवी कैमरे नहीं

- जिस होटल में युवती ठहरी हुई थी उस सारस होटल में सीसीटीवी कैमरे नहीं हैं, इस कारण पुलिस वहां के हालात की वास्तविक पड़ताल नहीं कर पा रही है।

- यदि सीसीटीवी कैमरे होते तो कई अहम सुराग मिल सकते थे। पुलिस को पता चलता कि होटल में कौन कौन युवती से मिलने आया।

यह है मामला

- आरबीएम अस्पताल के डाक्टर उसके सहयोगी पर घर में संचालित क्लीनिक पर बुलाकर गैंगरेप का आरोप लगाते हुए एक युवती ने मथुरागेट थाना में मामला दर्ज कराया है।

- पीड़िता मध्यप्रदेश के रीवा की रहने वाली है। वह केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान घना घूमने आई थी। दांत में दर्द होने पर डॉक्टर के पास गई थी।

- पीड़िता ने मामला दर्ज कराया है कि वह 11 जनवरी को जनता एक्सप्रेस से भरतपुर घूमने के लिए आई थी। यहां होटल आरटीडीसी में सारस में ठहरी हुई थी। जहां से वह घना घूमने गई।

- 12 जनवरी को उसके दांत में दर्द हुआ। जिस पर वह आरबीएम अस्पताल में दोपहर 12 बजे पहुंची।

- यहां डाॅ. अशोक वर्मा ने केविटी की दवा लिखकर दे दी। डाक्टर ने कहा कि अगर दर्द हो तो दिए पते पर जाना।

- दर्द होने पर रात 8 बजे राजेंद्र नगर स्थित डॉक्टर के घर स्थित क्लीनिक पहुंची।

धार में है पोस्टिड

- जहां उसको बंधक बनाकर दुष्कर्म किया गया। पीड़िता मध्य प्रदेश के धार में डाटा एंट्री ऑपरेटर के पोस्ट पर कार्यरत है। उसकी उम्र 26 साल है।

- मथुरागेट थाना में रिपोर्ट दर्ज होने के बाद गत शुक्रवार को आरबीएम अस्पताल में बोर्ड से मेडिकल कराया गया।

वीडियो बनाकर दी वायरल करने की धमकी

- डॉक्टर ने लड़के से मोबाइल पर वीडियो बनवाया। उसके बाद उन्होंने कहा कि तुम अकेली आई हो और कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं होगी। किसी से कुछ कहोगी तो वीडियो नेट पर डाल देंगे, इसलिए किसी से कुछ मत कहना और अपने घर लौट जा।

- उसे क्लीनिक पर रात भर रखा और 2 या 3 बजे सुबह रास्ते में छोड़ दिया। उसके बाद महिला थाने गई। वहां से उसे मथुरागेट थाने ले जाया गया।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top