edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर.रामनगर फायरिंग मामले में दो गिरफ्तार, तस्करी से जुड़े तार
रामनगर फायरिंग मामले में दो गिरफ्तार, तस्करी से जुड़े तार
शहर के रामनगर फायरिंग मामले में पुलिस ने मंगलवार को दो आरोपितों को गिरफ्तार कर मामले के अहम सुराग जुटाए। पुलिस ने खुलासा किया कि मामला अवैध मादक पदार्थों की तस्करी से जुड़ा है और प्रारंभिक जांच में फायरिंग की भी पुष्टि की। मामला तस्करी से जुड़ा होने से पुलिस अधीक्षक ने मामले को गंभीरता से लेते हुए उप अधीक्षक ओम प्रकाश उज्ज्वल के नेतृत्व में पांच थानाधिकारियों को जांच में लगाया था। पुलिस की पांच टीमों ने कई स्थानों पर दबिशें दी। गौरतबल है कि सदर थाना क्षेत्र के रामनगर में रविवार रात मारपीट के बाद गाडि़यों में तोडफ़ोड़ और फायरिंग की घटना हुई थी। घटना के बाद दर्जन भर लोगों के खिलाफ सदर थाने में मामला दर्ज हुआ।

उप अधीक्षक ओम प्रकाश उज्ज्वल ने बताया कि रामनगर में हुई घटना के मामले में सदर पुलिस ने मोडाराम उर्फ मुकेश पुत्र नगाराम जाखड़ निवासी बबुगुलेरिया रामसर, निम्बाराम पुत्र दलाराम निवासी मालपुरा रागेश्वरी को शिवकर रोड स्थित कुड़ला की सहरद में दबिश देकर आरोपितों को गिरफ्तार किया। प्रारम्भिक पूछताछ में आरोपितों ने घटना को अंजाम देना स्वीकार करते हुए घटना में प्रयुक्त वाहन बोलेरो कैम्पर व अन्य आरोपितों के बारे में जानकारी दी। आरोपितों के विरुद्ध कई तरह के मामले पुलिस थानों में लम्बित चल रहे हैं।

वाहन, हथियार बरामदगी में जुटे चार थानाधिकारी

रामनगर में हुई फायरिंग व मारपीट के मामले में वाहन, हथियार व अन्य नामजद आरोपितों की तलाश में चौहटन, धोरीमन्ना, सिणधरी, बायतु पुलिस के थानाधिकारी सघन तलाशी में जुटे हैं। पुलिस हर पहलु को जांच में शामिल कर आरोपितों की तलाश में देर रात तक जुटी रही।

मुख्य आरोपित गिरफ्त से दूर, रामनगर को खंगाला

विशेष टीमों ने नामजद आरोपितों की तलाश में सघन जांच जारी रखते हुए जिले के कई स्थानों पर दबिशें देकर आरोपितों की खोज में देर रात तक जुटी रही। सदर पुलिस तीसरे दिन भी रामनगर को खंगालती रही। मुख्य आरोपित विरधाराम की तलाश में भी पुलिस ने कई स्थानों पर दबिश दी लेकिन वह नहीं मिला। आरोपित विराधाराम पर सदर थाने में कई मामले दर्ज हैं।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top