edvertise

edvertise
barmer



जैसलमेर,राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस का आयोजन

उपभोक्ता स्वयं सजग एवं सर्तक होकर अपने हितों की बेहतरीन ढंग से रक्षा करें

एवं अन्य उपभोक्ताओं को भी जागरुक करें- विधायक श्री भाटी




जैसलमेर, 24 दिसंबर। विधायक श्री छोटूसिंह भाटी ने कहा है कि वर्तमान परिपेक्ष्य में आम उपभोक्ता को हर क्षेत्र में सतर्क,सजग एवं जागरुक रह कर अपने हितों की रक्षा करते हुए सामाजिक जीवन में अन्य लोगों को भी प्रेरित कर जागरुक बनावें। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की गोष्ठियाॅ एवं आयोजन ज्यादा से ज्यादा ग्रामीणाॅंचल स्तर होने चाहिए जिससे ग्रामीणजन में जागरुकता पैदा हो सकें। उन्होंने बीएसएनएल की उदासीन दूर संचार सेवाओं को गंभीरता से लेते हुए कहा कि आज के संचार कं्रातियुग में ताडा़ना एवं जिले की हर पंचायत स्तर पर नेटवर्किंग सेवाएं होना आम ग्रामीणजन उपभोक्ता की आज की पहली आवष्यकता है। बीएसएनएन विभाग इस ओर विषेष ध्यान देकर संचार सेवाओं से वचित रहे दूर-दराज के गांवों एवं ढांणियों को संचार सेवाओं से समय रहते जोडे़ तभी लोगों को इसका पूरा-पूरा लाभ मिल सकेगा। उन्होंने कहा कि पेयजल एवं बिजली विभाग के अभियंता इस बात का विषेष ध्यान रखें कि जिन उपभोक्ताओं ने जितनी बिजली/पानी खपत किया है उतना ही सही राषि का बिल जारी कर उपलब्ध करावें ताकि शहरी एवं ग्रामीण उपभोक्ताओं को परेषानी नहीं झेलनी पड़ें।

श्री भाटी ने कहा कि हम सभी को खाने-पीने की सामग्री पूर्णतया बेहतरीन शुद्ध- सात्विक होनी चाहिए उपभोक्ता मार्केट एवं हर क्षेत्र में ठगा नहीं जावें इस ओर विषेष ध्यान की जरुरत है। उन्होंने खाद्य पदार्थो में मिलावट की चर्चा करते हुए कहा कि मिलावटखारों के विरुद्ध उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम के तहत आवष्यक कार्यवाही होनी चाहिए। आमजन को गुणवत्तापूर्वक खाद्य सामग्री, पेयजल ,बिजली एवं अन्य दैनिक उपयोग की वस्तुएॅ हमें सहजता से बेहतर क्वालिटी कीं सुविधापूर्वक मिले इस दिषा में हमें पूर्ण ध्यान दिया जाना चाहिए। उन्होंने सभी उपभोक्ताओं को जागरुकता संदेष दिया।

विधायक श्री भाटी शनिवार को पंचायत समिति जैसलमेर के सभागार में जिला रसद कार्यालय के तत्वावधान में ’’ राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस’’ के मौके पर आयोजित विचार गोष्ठी के दौरान मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित संभागियों को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता पंचायत समिति जैसलमेर के प्रधान अमरदीन फकीर ने की। समारोह में उपभोक्ता संरक्षण मंच की सदस्या श्रीमती संतौष व्यास , समाजसेवी महेन्द्र व्यास , कंवराजसिंह चैहान विषिष्ट अतिथि के रुप में तथा अन्य जिला स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित थे।

इस अवसर पर गोष्ठी की अध्यक्षता कर रहे प्रधान अमरदीन फकीर ने उपभोक्ता दिवस की महत्ता एवं मूल उद्धेष्यों पर विस्तार से प्रकाष डालते हुए कहा कि आम उपभोक्ता को बाजार से कोई भी वस्तुएं क्रय करते वक्त जांच-परख कर बिल अवष्य लेने पर विषेष जोर दिया। उन्होंने कहा कि यदि किसी उपभोक्ता के साथ अन्याय होता है तो उसे न्याय संगत उपभोक्ता संरक्षण मंच की शरण अवष्य लेेनी चाहिए। उन्होंने उपभोक्ताओं हितों के कानून एवं नियमों के प्रचार-प्रसार करने की दृष्टि से इस संबंध में पेम्पलेट्स इत्यादि का अधिकाधिक ग्रामीणांचलों में वितरण करने की बात कही ताकि हर दिषा में लोगों में जन जागृति आ सकें। उन्होंने इससे जुड़े सभी पदाधिकारीगण एवं सदस्यगणों, अन्य सामाजिक कार्यकर्ताओं को सद्प्रयास कर ग्रामपंचायत स्तर पर उपभोक्ता संरक्षण की जानकारी सर्वोच्च प्राथमिकता से देने की आवष्यकता जताई। उन्होंने सभी को इस ओर व्यक्तिषः रुचि लेकर आगे आने का आह्वान करते हुए पंचायत स्तर पर इस संबंध में ग्रामीणजनों तक अधिकाधिक जानकारी प्रदान करने का विष्वास दिलाया।

विषिष्ट आतिथ्य के रुप में उपभोक्ता संरक्षण मंच की सदस्या श्रीमती संतौष व्यास से उपभोक्ताओं के संरक्षण एवं हितों की रक्षा के बारे प्रदत्त कानून एवं नियमों के संबंध में विस्तार से अवगत कराया। उन्होंने कहा कि जहां कहीं पर भी किसी भी उपभोक्ता के साथ अन्याय होता दिखाई तो वह निःसन्देह उपभोक्ता मंच में उचित न्याय प्राप्ति के लिए अपना परिवाद दाखिल कर राहत पावें। उन्होंने ऐसे शौषित उपभोक्ताओं को अधिकाधिक संख्या में मंच में परिवाद प्रस्तुत करने पर विषेष बल दिया।

समाजसेवी महेन्द्र व्यास एवं कंवराज सिंह ने वाहनधारक उपभोक्ताओं को जागरुक रहते हुए बेहतरीन उच्च क्वालिटी का पैटोलियम /डीजल पदार्थ उपयोग करने के साथ ही मार्केट में गुणवत्तापूर्वक आम वस्तुएॅं खरीद करने के साथ ही बिल आवष्यक रुप से लेने को कहा। उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओं के संरक्षण के लिए कई स्तर पर अधिनियम और प्रावधान बने हुए है लेकिन उसकी सही जानकारी आमजन को नहीं होने के कारण वह उसका पूर्णरुपेण लाभ नहीं पाता है। इसलिए उन्होंनें षिक्षा की दृष्टि से भी ग्राहक को अति जागरुक होने का संदेष दिया। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. एन.आर.नायक ,सहायक निदेषक, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग हिम्मतसिंह कविया और सहायक निदेषक आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग डाॅ. बृजलाल मीणा ने भी उपभोक्ता दिवस की महत्ता एवं संरक्षण अधिनियमों की सार्थक जानकारी प्रदान की।

गोष्ठी के अंत में रसद अधिकारी औंकारसिंह कविया ने सभी आगन्तुक अतिथिओं का तहेदिल से धन्यवाद ज्ञापित करते हुए उन्होंने उपभोक्ता दिवस के आयोजन एवं 1986 के अधिनियमों और संरक्षण/प्रावधानों की विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि उपभोेक्ता वास्तव में बाजार का राजा होता है। ग्राहक ही व्यापारी के लिए भगवान होता है। उपभोक्ता यदि जागरुक हो जाये ंतो कंपनियों के द्वारा किए जा रहे भ्रामक जाल से अवष्य बचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि आज का युग प्रतिस्पद्र्धा का है एवं सेवाए एवं सामग्री के क्रय करने के प्रति भी सजग रहना पड़ेगा तभी वह किसी प्रकार की लूट से बच पाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि हमें हमें खाद्य सामग्री एवं अन्य कोई भी वस्तुएॅ सदैच अच्छी गुणवत्ता की लेनी चाहिए और इसके साथ ही उस पर लिखी कीमत एवं वह सामग्री कब अवधिपार हो रही है उसको भी बारीकी से जांच-परख कर देखना होगा व बिल अवष्य लेने को कहा। उन्होंने कहा कि जब स्वच्छ सामग्री व्यक्ति ग्रहण करेगा तो उसका परिवार स्वस्थ रहेगा एवं समाज भी स्वस्थ रहेगा। गोष्ठी के अवसर पर अच्छी संख्या उचित मूल्य दुकानदार एवं आमजन मौजूद थे। गोष्ठी के सफल आयोजन में रसद कार्यालय के प्रर्वतन निरीक्षक अरविंदसिंह शेखावत, राधेष्याम दास, चन्दन प्रकाष ,नारायणसिंह भाटी ,अस्करअली के साथ ही धनगिरी गोस्वामी का विषेष योगदान रहा।



0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top