edvertise

edvertise
barmer

बेटे-बेटी संग घर से निकली महिला ऐसी हालत में मिली, बच्चों की भी मौत
suicide, murder

जयपुर. यहां एक बिल्डिंग कॉन्ट्रैक्टर की पत्नी अपने दो बच्चों को लेकर सोमवार सुबह करीब साढ़े 11 बजे जोधपुर-इंदौर इंटरसिटी एक्सप्रेस के आगे कूद गई। तीनों के चिथड़े बिखर गए। मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल से तीनों के बिखरे अंग समेटकर पोस्टमॉर्टम के लिए एसएमएस हॉस्पिटल के मुर्दाघर में रखवा दिया। मृतकों शिनाख्त वैशाली नगर के चित्रकूट निवासी अनुबाला (28), बेटी इशिता (8) और बेटा जीतेश (5) के रूप में हुई। पुलिस ने महिला के पीहर पक्ष को सूचना दे दी है। उनके पहुंचने पर मंगलवार को पोस्टमॉर्टम कराया जाएगा। एक रात पहले हुई थी कहासुनी...

- घटना के कारणों का पता लगाने के लिए पुलिस अनुबाला के पति शैलेन्द्र लाखलान से भी पूछताछ कर रही है।

- फिलहाल सामने आया कि रविवार रात को अनुबाला की अपनी सास और पति से हल्की कहासुनी भी हुई थी।

- पुलिस को घटनास्थल पर अनुबाला का पर्स मिला। उसकी तलाशी ली, तो उसमें शैलेन्द्र का विजिटिंग कार्ड मिला।

- उस पर लिखे नंबरों पर फोन करके शैलेन्द्र को बुलाया तो उन्होंने पत्नी-बच्चों के शवों की पहचान की।

बच्चों को ट्यूशन छोड़ने निकली थी महिला

- थानाधिकारी धर्मेंद्र शर्मा ने बताया कि अनुबाला लाखलान एंड कुरैशी कंस्ट्रक्शन कंपनी के चेयरमैन हवासिंह के बेटे शैलेन्द्र की पत्नी थी।

- घर में अनुबाला की सास, पति, देवर व देवरानी (बहन) और बच्चे थे।

- अनुबाला रोजाना की तरह सोमवार को सुबह करीब साढ़े 9 बजे बच्चों को ट्यूशन छोड़ने के लिए कहकर निकली थी।

- वह एक घंटे तक नहीं लौटी तो घरवालों ने तलाश शुरू की क्योंकि अनुबाला की कार घर ही खड़ी थी।

- परिजनों ने घर में लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज देखे तो वह दोनों बच्चों को साथ लेकर पैदल ही घर से निकली थी।

- उसके बाद परिजन आसपास के इलाके में तलाश कर रहे थे। उसी दौरान पुलिस ने फोन करके घटनास्थल पर बुलाया।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top