edvertise

edvertise
barmer



उदयपुर.स्वच्छता उदयपुर के लोगों के चरित्र में है , यहां के कामों का पाठ दूसरों को भी पढ़ाया जाएगा: मुख्यमंत्री


स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत गुरूवार को उदयपुर के इन्दर रेजीडेंसी होटल में दो दिवसीय स्मार्ट एंड क्लीन राजस्थान वर्कशॉप की शुरुआत हुई। इस कार्यशाला के उद्घाटन सत्र में प्रदेश की मुख्यमंत्री ने शिरकत की। इसमें स्वच्छता अभियान के तहत कई स्थानीय निकायों को अवार्ड दिए गए जिसमें डूंगरपुर, देवली, नागौर, करौली की निकाय टीम को सम्मान मिला।



सीएम ने इस अवसर पर कहा कि स्वच्छता की शुरुआत शहर में प्रवेश होने वाले सभी स्थानों से होनी चाहिए जिससे शहर में आने वाले व्यक्ति के मन में शहर की अच्छी छवि बनती है। उदयपुर एक-एक प्रोजेक्ट को बेहतर तरीके से पूरा करता है। उदयपुर के कामों को प्रदेश भर के निकायों के अधिकारियों को दिखाया जाएगा। यहां की जनता के बिना यह संभव नहीं हो पाता। स्वच्छता उदयपुर के लोगों के चरित्र में है।


सीएम ने कहा कि छोटी नगर पालिकाओं को फण्ड की समस्या है। ऐसे में उसे दूर करने के प्रयास होना चाहिए। दो साल में छोटी निकायों को भी मजबूत कर दिया जाएगा। पालिकाओं को डिजिटल क्षेत्र में ज्यादा काम करना चाहिए। इस अवसर पर प्रदेश के गृहमंत्री गुलाबचन्द कटारिया, यूडीएच मंत्री श्रीचंद कृपलानी, स्वायत्त शासन विभाग के प्रमुख सचिव मंजीत सिंह, पूर्व राजघराने के सदस्य अरविन्द सिंह मेवाड़ भी मौजूद रहे । 2 दिन तक चलने वाली इस वर्कशॉप में प्रदेश भर के सभी नगर निगम, परिषद और पालिकाओं के चेयरमैन और अधिकारी मौजूद रहे।

राजस्थान को स्वच्छ और सुन्दर बनाने के उद्देश्य से आयोजित की जा रही इस कॉन्फ्रेंस में विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई। दो दिन की वर्कशॉप एक नया विजन देगी। विकसित राजस्थान का सभी का सपना है। सभी को जनता को साथ लेकर इस विजन को पूरा करना है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top