जैसलमेर,पालनहार योजनान्तर्गत लभान्वित हो रहे बच्चों के अध्ययनरत् प्रमाण-पत्र जमा कराने
जैसलमेर, 21 दिसम्बर। हिम्मत सिंह कविया, सहायक निदेषक, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग ने बताया कि विभाग द्वारा पालनहार योजनान्तर्गत लाभान्वित हो रहे पालनहारों को अपने बच्चों के अध्ययनरत् प्रमाण-पत्र जमा नहीं कराने पर माह जुलाई से अक्टुम्बर 2016 का भुगतान नहीं किया जाएगा। उन्होने बताया कि निदेषालय से निर्देष प्राप्त हुए हैं कि योजना के अन्तर्गत लाभान्वित हो रहे सभी बच्चों के वर्ष 2016-17 में विद्यालय में अध्ययनरत् होने या आंगनवाड़ी में नामाकिंत होने का प्रमाण-पत्र लिया जाना अति आवष्यक है। उन्होने बताया कि अध्ययनरत् प्रमाण-प्रत्र का इन्द्राज आॅन-लाईन पाॅर्टल पर किये जाने के बाद ही भुगतान की कार्यवाही की जा सकती है। योजनान्तर्गत लाभान्वित हो रहे पालनहारों से अपील की कि वे 5 दिवस में अपने बच्चों के अघ्ययनरत् प्रमाण-पत्र संबंधित शाला प्रधान से प्राप्त कर साथ ही अपने व बच्चों के आधार कार्ड, भामाषाह कार्ड भी जिला कार्यालय में जमा करावंे। उक्त प्रक्रिया पूर्ण नहीं करने वाले पालनहारों को आगामी भुगतान किया जाना संभव नहीं होगा जिसके लिए वे स्वयं व्यक्तिगत रूप से उत्तरदायी होंगे।

जिला षिक्षा अधिकारी प्रारम्भिक/माध्यमिक ,विकास अधिकारी पंचायत समिति/ब्लाॅक षिक्षा अधिकारी एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी सम,सांकड़ा व जैसलमेर एवं समस्त विद्यालय संस्था प्रधानो से अपिल हैं कि अपने विद्यालय या आंगवनवाड़ी केन्द्र पर पालनहार योजनान्तर्गत लाभान्वित हो रहे बच्चों की पहचान कर उनके अध्ययनरत प्रमाण - पत्र जारी करवा कर संबंधित बच्चों के पालनहारों को उपलब्ध करावें ताकि ऐसे परिवारों को योजना का पूर्ण लाभ प्राप्त हो सके।

----000----

शुक्रवार को 6 पंचायतों में लगेगंे पण्डित दीनदयाल उपाध्याय

जनकल्याण पंचायत षिविर


जैसलमेर, 21 दिसम्बर। जिले में चल रहें पण्डित दीनदयाल उपाध्याय जन कल्याण पंचायत षिविरों के कार्यक्रम की कडी में शुक्रवार, 23 दिसंबर को पंचायत समिति जैसलमेर के ग्राम पंचायत मोकला व खींवसर में पंचायत षिविर आयोजित होगंे।

मुख्य कार्यकारी अधिकारी नारायणसिंह चारण ने बताया कि इसी प्रकार शुक्रवार को पंचायत समिति सम के ग्राम पंचायत सिपला व खुहडी में तथा पंचायत समिति सांकडा के ग्राम पंचायत धौलासर एवं राजमथाई में पंचायत षिविर लगेगें। उन्होंनें इन पंचायत क्षेत्र के ग्रामीणों से आग्रह किया कि वे पंचायत षिविरों में अधिक से अधिक संख्या में पंहुचकर अपनी समस्याओं का निराकरण करावें।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top