edvertise

edvertise
barmer

बाड़मेर पुलिस विभाग सी एल जी मेम्बर्स की विवेचना करे।।

बाड़मेर पुलिस विभाग द्वारा प्रत्येक थाना क्षेत्र में सी एल जी सदस्यों का मनोनाय किया जाता हे जिसका उद्देश्य थाना क्षेत्र में शांति और कानून व्यवस्था कायम रहे।सी एल जी सदस्य मनोनाय का कोई मापदण्ड विभाग द्वारा तय हे वर्तमान में नही लगता।कई थाना क्षेत्रो में ये मेम्बर्स अपना दबदबा बनाने के लिए सदस्य सिफारिस के जरिये बन जाते हे ।तो की स्थानों पर अपराध से जुड़े जिन पर मुकदमे होने के बावजूद सी एल जी मेम्बर्स बने हुए हैं तो कई शराब माफिया भी कमेटियो में आ गए।।सरकारी कारिंदो को सी एल जी मेम्बर्स बनाने का औचित्य नजर नही आता।कई घूसखोरी के लिए और बदचलनी के लिए बदनाम लोग भी मेम्बर्स बन बेठे।।सी एल जी का सदस्य का महत्व ही खत्म हो गया।गाहे बगाहे विशेष परिस्थितियों में मीटिंग आयोजित होती हैं।इनका रोल एक मूकदर्शक के आलावा कुछ नही होता।शहर में यातायातसुधार हो या सड़क हादसों से कैसे निपटा जाए एक भी सुझाव इनकी तरफ से नही आता।अपराध रोकने में सहयोग दूर की बात ।इसके बावजूद इनको सदस्य कैसे मनोनीत करते हे यह पुलिस विभाग ही बता सकती हैं।बाड़मेर पुलिस अधीक्षक गगनदीप सिंगला की कारीज़हेलि काफी आक्रामक हैं ।इनसे शहर को काफी उम्मीद हैं। पुलिस अधीक्षक को पहल कर ऐसे लोगो को मेम्बर्स मनोनीत करना चाहिए जिनकी समाज में पेठ हो।समाज में बात रखने के काबिल हो।युवाओ को अवसर दिया जा सकता हे यो आधुनिक टेक्नोलॉजी का ज्ञान और पुलिस के कायदे कानून का सम्मान करने वाले हो।।सी एल जी मेंबर होना ना केवल संमान की बात हे बल्कि उनका योयो भी विशेष परिस्थितियों में होना चहिये।पुलिस विभाग को सहयोग भी करने लायक हो ।जब मेम्बर्स की खुद की छवि खराब हो उनसे सहयोग की अपेक्षा बेमानी हैं।सिस्टम में सुधार जरुरी हैं।लम्बे समय से चली आ रही चापलूसी की परिपार्टी को बदलना समय की मांग हैं।सदस्यों का चरित्र साफ़ सुथरा हो यह भी आवश्यक हैं। ताकि जनता सदस्यों के माध्यम से पुलिस पर ऊँगली न उठाये।।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top