edvertise

edvertise
barmer

डिजीटल ट्रांजेक्जशन में अजमेर जिला देश के सर्वश्रेष्ठ 5 जिलों में शामिल
प्रधानमंत्राी श्री नरेन्द्र मोदी ने किया जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल को सम्मानित
जिला प्रशासन द्वारा जिले में नोटबंदी के बाद किए गए प्रयासों से मिला यह सम्मान



अजमेर, 30 दिसम्बर। देश में 8 नवम्बर को केन्द्र सरकार द्वारा की गई नोटबंदी के बाद शानदार इंतजाम तथा कैशलेस समाज को बढ़ावा देने के प्रयासों में अजमेर पूरे देश में अव्वल रहा है। अजमेर के साथ ही देश के 4 अन्य जिलों को भी सर्वश्रेष्ठ घोषित किया गया है। प्रधानमंत्राी श्री नरेन्द्र मोदी ने अजमेर जिले में किए गए कार्यों को मान्यता देते हुए जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल को स्क्राॅल आॅफ आॅनर से सम्मानित किया। जिले में अजमेर व पुष्कर शहरों के साथ ही 26 गांवों को कैशलेस करने की कवायद शुरू कर दी गई है।
नीति आयोग तथा इलेक्ट्रोनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा आज दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित डिजीधन मेला कार्यक्रम में प्रधानमंत्राी श्री नरेन्द्र मोदी ने कैशलेस समाज के निर्माण तथा नोटबंदी के बाद किए गए शानदार इंतजामों के लिए अजमेर जिले को देश के प्रथम 5 जिलों में शामिल करते हुए जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल को सम्मानित किया। अजमेर के साथ ही गुजरात के राजकोट, आन्ध्र्रप्रदेश के कृष्णा तथा झारखण्ड के जमशेदपुर और बोकारो जिलों को भी इन्हीं मानकों के आधार पर सम्मानित किया गया है। इस अवसर पर सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्राी श्री रविशंकर प्रसाद, राज्य मंत्राी श्री पी.पी.चैधरी, नीति आयोग के उपाध्यक्ष श्री अरविंद पनगड़िया आदि उपस्थित थे।
इन इंतजामों के लिए अजमेर को मिला सम्मान
- पुष्कर मेले में शानदार इंतजाम देश में 8 नवम्बर को जब नोटबंदी घोषित हुई तब अजमेर में अन्तर्राष्ट्रीय पुष्कर मेला चल रहा था। जैसे ही नोटबंदी हुई। जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल के नेतृत्व ने प्रशासन ने पुष्कर मेले में कमान संभालते हुए विभिन्न वर्गों के साथ समन्वय स्थािपत किया तथा किसी तरह की अव्यवस्था उत्पन्न नहीं होने दी। यहां बैंकों, होटल एसोशिएसन, गाईड व देशी एवं विदेशी पर्यटकों के साथ समन्वय स्थापित कर व्यवस्था को संभाला गया।
- जिला प्रशासन ने अजमेर डेयरी के साथ समन्वय स्थापित कर डेयरी बूथ संचालकों को डिजीटल पेमेंट के प्रति जागरूक किया तथा व्यवस्थाओं को लागू किया।
- जिला प्रशासन ने नोटबंदी के दिनों में बैंकों में सुरक्षा एवं व्यवस्थाओं को बनाए रखने के लिए खुद पहल कर बैंकर्स व उपभोक्ताओं में सामंजस्य स्थापित किया तथा बैंकों के बाहर किसी तरह अव्यवस्था नहीं होने दी।
- जिला प्रशासन ने मीडिया, व्यापारी, स्वयं सेवी संगठन, विद्यार्थी, अधिकारी व कर्मचारी आदि वर्गों को जागरूक किया तथा उनके साथ समन्वय स्थापित कर डिजीटल भुगतान की अवधारणा को विकसित किया।
- सभी सरकारी कार्यालयों में कैश पेमेन्ट को हतोत्साहित कर डिजीटल पेमेंट लागू किया गया।
- हाल ही में आयोजित ग्राम सेवक एवं छात्रावास अधीक्षक परीक्षाओं में कार्य करने वाले कर्मचारियों को डिजीटल पेमेंट किया गया।
- जिले में रजिस्टर्ड 5 लाख मे से 3.50 लाख रूपे कार्ड एक्टिव करवाए गए।
- अजमेर जिले में जवाहर रंगमंच में रिजर्व बैंक आॅफ इण्डिया के माध्यम से कार्यशाला आयोजित कर विभिन्न वर्गों को जागरूक किया गया।
- सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को जागरूक किया गया। स्कूल, काॅलेजों व गांवो की चैपालों पर विशेष प्रचार अभियान चलाया गया।
- जिले में नयागंाव हरमाड़ा पहला कैशलेस गांव बनेगा। इसके साथ ही अजमेर व पुष्कर शहर तथा 26 गांवों को भी कैशलेस किया जाएगा।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top