edvertise

edvertise
barmer







चुरू पुलिस की अनूठी पहल ,आपणी पाठशाला से संवार रहा ढाई सौ गरीब बच्चों का भविष्य।।।पुलिस वाले पढ़ा रहे हे गरीब बच्चों को।।


चुरू।।।पुलिस और आमजन के बीच जो दूरियां हे उसे पाटने और अपराधों में कमी लाने के लिए चुरू पुलिस ने कई अभिनव प्रयोग कर रहे हैं ।।इन प्रयोगों में कप्तान राहुल बारहट खासे उत्साहित हैं।।हमेशा नवाचार में विश्वास रखने वाले राहुल बाराहाट ने चुरू में कुछ माह पूर्व आम आदमियों के साथ कबड्डी लीग शुरू की थी।हालाँकि शुरू बहुत छोटे स्तर की थी मगर प्रतियोगी ता के प्रति आम लोगो की दीवानगी और भागीदारी से आयोजन को आमजन में लोकप्रिय बना दिया।हर थाना क्षेत्र में पुलिस और स्थानीय जनता के बीच कब्बडी के मैच कराये जी जीते उन्हें जिला स्तरीय प्रतोयोगिता में बुलाया ।।।जीतने वाला को बड़ी रकम प्रायोजकों द्वारा दी गयी।बारहट का यह प्रयास सफल रहा।।अब राहुल बारहट ने एक और अभिनव शुरुआत करते हुए गरीब।

ऑपेरशन मुस्कान में सर्वे किया था 2013 में 

पुलिस अधीक्षक चूरू द्वारा ऑपरेशन मुस्कामन के तहत किये सर्वे में भीख मांगने वाले ,कचरा बीनने वाले और बाल श्रम करने वाले बच्चो की पहचान कर उन्हें शिक्षा की मुख्य धरा से , इसके   दूसरा  शुरू हुआ तो देखा वो ही बच्चे अपने पुराने कार्यो में लगे हे ,स्कूल से फिर ड्राप आउट हो गए ,तब मानस बनाया की इन बच्चो की शिक्षित करने के साथ व्यावहारिक ज्ञानदीय जाये ,इसी उदेश्य को लेकर अपणी पाठशाला की ,जिसमे बच्चो को विशेष प्रशिक्षण दिया जा रहा हैं पढाई के साथ योगा ,खेलकूद ,मंजन करने तक का प्रशिक्षण दिया जाता हैं ,इन बच्चो को स्कूल जाने लायक बना शिक्षा की मुख्य धरा से जोड़ा जायेगा 



बाड़मेर जिले के रामसर थाना में इसी तर्ज पर अपना स्कूल चल रहा है जंहा पुलिसकर्मी बच्चो को पढ़ाते हैं।चुरू में भी राहुल बाराहाट ने बेहद खूबसूरत शुरुआत आपनी पाठशाला के जरिये की ,चूरू में की ।

राहुल बाराहाट की अगुवाई में चुरू पुलिस ने आवास विहीन,कचरा बीनने वाले गरीब छात्रों को शिक्षित करने का बीड़ा उठाया।उन्होंने इसके लिए बाकायदा एक विद्यालय आपणी पाठशाला नामक स्कूल शुरू की जिसमे बच्चो को पुलिसकर्मी और उनके आलाधिकारी शिक्षा दे रहे हैं।साथ ही छात्रों के लिए पुस्तके,पेंसिल,जूते, जुराब भी निशुल्क उपलब्ध कराए जा रहें हैं।समय समय पर आपणी पाठशाला के बच्चों को मोटिवेट करने के लिए पुलिस अधीक्षक राहुल बारहट समेत आला अधिकारी क्लास लेते है।बच्चो को पढ़ाते हैं। बच्चो को पढाई के अलावा योग की शिक्षा भी दी जा रही है वही इनके खेलकूद की भी व्यवस्था की गयी हैं। इस विद्यालय को संचालित करने वाले पुलिकर्मी। धर्मवीर को राज्य स्तर पर आयोजित हुए समारोह में गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने सम्मानित किया ,

पुलिस अधीक्षक राहुल बाराहाट ने बताया कि पुलिस विभाग सामाजिक सरोकार के साथ आम जन के साथ खड़ी हैं।।आमजन के साथ आपसी सौहार्द और सामंजस्य को और मजबूत करती हैं।गलियों में कचरा बीनने वाले या अत्यधिक गरीब परिवारों के बच्चों को शिक्षित करने का बीड़ा उठाया पुलिस विभाग चुरू ने।आठ छात्रों से शुरू किये इस विद्यालय में अब 240 छात्र छात्राए अध्ययन करती हैं।बहुत शकुन मिलता हैं,बच्चो को पढ़ते देख।।









0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top