edvertise

edvertise
barmer

पत्नी के लिए चाय लेकर बेडरूम में पहुंचा पति, वहां जो देखा, उड़ गए होश
newly married woman suicide , one month marriage, padav, hang on noose, dowry matter, jhansi, HP dewan, jhansi mayer

ग्वालियर। एक महीने पहले ठीक 10 नवंबर को इस युवती की शादी हुई। हाथों में मेंहदी का रंग तक फीका नहीं पड़ा था। शाम को नयी दुल्हन ने पेट दर्द की शिकायत की तो पति तुरंत दवा लेने चला गया। दवा लेकर पति घर लौटा और पत्नी के लिए चाय बनाकर बेडरूम में पहुंचा तो वह फांसी पर लटकी मिली। उसने फंदे से उतारा, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। यह है मामला...

- पड़ाव की अशोक विहार में रहने वाले कॉस्मेटिक्स कारोबारी मनोज चिरगइयां की शादी एक महीने पहले 10 नवंबर को प्रभा से हुई थी।

-शुक्रवार की शाम को प्रभा ने मनोज से पेट दर्द की शिकायत की और एक कागज पर टेबलेट का नाम लिखकर दवा लाने बाजार भेज दिया।

- मनोज ने वापस आकर पहले पत्नी को पानी दिया, और दवा दी और फिर पानी भरने के लिए पंप चला दिया।

5 दिन बाद भी पैसे नहीं मिले तो एसबीओपी के सामने सुसाइड की कोशिशसुसाइड नोट में नाम से कोई दोषी नहीं होता सजा के लिए आरोप साबित करना जरूरीनाबालिग ने की आत्महत्या बैग से मिला सुसाइड नोट

बेडरूम पहुंचा तो पत्नी फांसी पर लटका था

-इसके बाद उसने प्रभा के लिए चाय बनाई और बेडरूम में पहुंचा। अंदर का नजारा देखकर मनोज के होश उड़ गए, क्योंकि प्रभा का शरीर छत में फांसी के फंदे पर लटका हुआ था।

-उसने तत्काल प्रभा को छत से उतारा, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। यह खबर पुलिस और प्रभा के मायके में पहुंची।




भाई बोला कार के लिए मार डाला

- प्रभा का भाई नवीन दीवान बोला कि ससुराल वालों की डिमांड कार की थी, जिसके कारण उसे मार डाला। प्रभा ने सुसाइड नहीं किया, बल्कि उसका मर्डर किया गया है।

- मायके वालों का कहना है कि प्रारंभिक जांच में प्रभा के गले पर निशानों का मिलना, और जीभ बाहर नहीं निकली होना पाया गया है।

- जबकि फांसी लगाने की घटनाओं में अक्सर जीभ बाहर निकल आती है। इस आधार पर परिजन ने ससुराल वालों पर प्रभा की हत्या करने का आरोप लगाया है।




झांसी मेयर की रिश्तेदार है प्रभा

-मृत प्रभा झांसी की मेयर किरण राजू की ननद है। उसकी मौत के बाद वे भी ग्वालियर आईं। उधर प्रभा के पति मनोज का कहना है कि सुसाइड का कारण समझ में नहीं आ रहा है और दहेज जैसी कोई बात नहीं है।

-प्रभा झांसी की ही निवासी थी और उसके पिता एचपी दीवान बैंक से रिटायर्ड हैं। उनके मुताबिक शादी से पहले मनोज के परिजनों ने उसे महालेखाकार दफ्तर में नौकरी करना बताया, लेकिन वह बेरोजगार निकला।

-शादी में भी पांच लाख रुपए दिए थे, लेकिन कार नहीं दे पाए। इस कारण उसे मार डाला गया। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top