edvertise

edvertise
barmer

अंतिम संस्कार के 5 हफ्ते बाद जिंदा निकली ये लड़की, फैमिली भी रह गई दंग
Real life story of a girl who discovered alive five weeks after her funeral, international news in hindi, world hindi news

नॉर्थ कैरोलीना.अमेरिका के नॉर्थ कैरोलीना की रहने वाली विटनी व्हीलर की कहानी किसी फिल्म के कम नहीं।10 साल पहले की बात है, कॉलेज से घर लौटते वक्त विटनी की कॉलेज वैन का एक्सीडेंट हो गया। फैमिली को उसकी मौत की खबर मिली और डेडबॉडी भी हैंडओवर कर दी गई। लेकिन पांच हफ्ते बाद विटनी जिंदा निकलीं। कुछ हफ्तों में कैसे पलट गए हालात...

- 26 अप्रैल 2006 की शाम विटनी कॉलेज से बाकी नौ स्टूडेंट्स के साथ घर लौट रही थीं कि तभी उनकी वैन का एक्सीडेंट हो गया।

- विटनी एक्सीडेंट में बचने वाले चार लोगों में से थीं, लेकिन सिर में चोट और कई जगह हड्डियां टूटने की वजह से उनकी हालत बहुत खराब थी।

- विटनी को वहां 300 मील दूर हॉस्पिटल ले जाया गया, लेकिन गड़बड़ ये हुई कि उसकी पहचान लॉरा के तौर पर कर ली गई।

- दरअसल, उसे जब हॉस्पिटल के लिए घटनास्थल से उठाया गया तो उसके पास से लॉरा नाम की लड़की का आईडी कार्ड मिला था।

- लॉरा उसी वैन में बिटनी से साथ थी। वो शक्ल, बाल और फिजिक में भी विटनी से काफी मिलती-जुलती थी।

- वहीं, विटनी की हालत ऐसी नहीं थी वो कुछ समझ सकें या लोगों को अपनी पहचान के बारे में जानकारी दे सके।

- चोट की वजह से चेहरा भी काफी सूजा हुआ था और हर जगह पट्टियां बंधी थी, तो ऐसे में लॉरा के घरवालों भी उसे पहचान नहीं सके।

- वहीं, इत्तेफाक ऐसा कि लॉरा की डेडबॉडी के पास विटनी का पर्स मिला, जिससे लोगों ने विटनी को मरा हुआ समझ लिया।

- यही नहीं, डेडबॉडी जब विटनी के घर पहुंची, तब उसकी फैमिली ने भी डेडबॉडी नहीं देखी और फ्यूनरल कर दिया।

- विटनी की फैमिली ने तय किया था कि वो डेडबॉडी देखकर खराब यादों के साथ विटनी को विदा नहीं करेंगे।

कैसे खुला राज ?

- दोनों में से किसी फैमिली को इस बात का अंदाजा भी नहीं था कि उनकी बेटियों की अदला-बदली हो गई है।

- विटनी को भी घटना के कई हफ्तों बाद होश आया, लेकिन वो तब भी इस हाल में नहीं थी कि कुछ बता पाए।

- पांच हफ्तों बाद लॉरा की बहन लीजा को महससू हुआ कि लॉरा के दांत कुछ अलग से दिख रहे हैं।

- हॉस्पिटल ने लॉरा का डेन्टल रिकॉर्ड चेक किया और शक होने पर विटनी को पेन से अपना नाम लिखने को कहा गया।

- विटनी से पेन भी नहीं पकड़ी जा रही थी, लेकिन उसने किसी तरह अपना नाम लिखा, जिसे पढ़ते ही लॉरा की फैमिली को झटका लग गया।

- विटनी के जिंदा होने की खबर उसकी फैमिली को मिली, तो उऩ्हें लगा कि उनसे मजाक किया गया है।

- हालांकि, फिर भी उसकी फैमिली हॉस्पिटल पहुंची, लेकिन वहां पहुंचते ही विटनी को जिंदा देख उनका गम खुशी में बदल गया।

- वहीं, लॉरा के घर में मातम पसर गया। उसकी फैमिली लॉरा की डेडबॉडी दोबारा फ्यूनर के लिए अपने घर ले गई और उसका अंतिम संस्कार किया।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top