edvertise

edvertise
barmer



अजमेर जिला स्तरीय यातायात प्रबंधन समिति की बैठक आयोजित

अजमेर, 22 दिसम्बर। जिला कलक्टर गौरव गोयल की अध्यक्षता में गुरूवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्तरीय यातायात प्रबंधन समिति बैठक आयोजित हुई। इसमें जिले के यातायात, परिवहन एवं ट्रेफिक व्यवस्थाओं के विस्तार पूर्वक चर्चा की गई।

बैठक में ब्यावर विधायम शंकर सिंह रावत ने ब्यावर में यातायात पुलिस का जाप्ता बढ़ाने के बारे में प्रस्ताव रखा। इस पर जिला कलक्टर ने ब्यावर के साथ-साथ किशनगढ़ और पुष्कर में भी स्थायी यातयात पुलिस का जाप्ता बढ़ाने का प्रस्ताव बनाने के लिए निर्देश प्रदान किए। स्थायी पुलिस जाप्ता मिलने तक नगर परिषद ब्यावर के द्वारा 10 होमगार्ड के जवानो का उपयोग यातायात पुलिस के लिए किया जाएगा। अजमेर नगर निगम के महापौर धर्मेन्द्र गहलोत ने कहा कि शहर में सम्पत्ति विरूपण अधिनियम की पालना सुनिश्चित की जाएगी। विभिन्न स्थानों पर पोस्टर बैनर आदि अवैध तरीके से लगाकर शहर के सौन्दर्य को बिगाड़ने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज करवायी जाएगी। लौंगिया में संचालित आयुर्वेद अस्पताल को गंज स्थित यूनानी अस्पताल में शिफ्ट करने पर नगर निगम द्वारा कार्यवाही की जाएगी।

जिला कलक्टर श्री गोयल ने कहा कि पूराने आरपीएससी भवन से इंडिया मोटर्स चैराहे तक तथा सुभाष उद्यान के बाहर गाड़िया खड़ी करना प्रतिबंधित रहेगा। इन्हें नगर निगम द्वारा निर्धारित पार्किंग स्थल पर ही खड़ी करवायी जाएगी। सुभाष उद्यान के सामने स्थित पूराने प्राईवेट बस स्टैण्ड का उपयोग पार्किंग के लिए किया जा सकता है। जिले के राष्ट्रीय राजमार्गों के चैराहों को अतिक्रमण मुक्त किया जाएगा । चैराहे से 100 मीटर की दूरी तक के क्षेत्रा को नो वैण्डिंग जोन बनाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि नगर निगम द्वारा सावित्राी चैराहा तथा जवाहर रंगमंच के चारो तरफ स्थित भवनों की नपती की जाएगी। भवनों के लिए आंवटित एवं स्वीकृत भूमि के अतिरिक्त जमीन पर निर्मित निर्माण कार्य को अतिक्रमण माना जाएगा। जिले की बहुमंजिला ईमारतों के लिए स्वीकृत नक्शे को नोटिस बोर्ड पर लगाना आवश्यक होगा। ईमारतों में पार्किंग व्यवस्था के लिए स्थान आरक्षित किया जाना आवश्यक है। अजमेर विकास प्राधिकरण द्वारा उसके परिक्षेत्रा में आने वाली समस्त बहुमंजिला ईमारतों के स्वीकृत नक्शों का भौतिक सत्यापन किया जाएगा। विवाह समारोह स्थलों के मालिकों द्वारा सड़क पर पार्किंग करवाने पर नोटिस देकर स्थल को सीज करने की कार्यवाही अमल में लायी जाएगी।

उन्होंने कहा कि एक जनवरी से शहर में भारी वाहनों के प्रवेश करने के समय में कटौति की जाएगी तथा इसे 6 घण्टे तक सिमित किया जाएगा। अजमेर विकास प्राधिकरण द्वारा ट्रांसपोर्ट नगर में आंवटित भूमि पर एक अप्रेल तक व्यवसाय आरम्भ नहीं करने वाले ट्रांसपोर्टर्स का आंवटन रद्ध किया जाएगा। साथ ही नगर निगम सीमा में ट्रांसपोर्टर्स की व्यवसाय गतिविधियांे को प्रतिबंधित किया जाएगा। शहर में 15 वर्ष से पूराने आॅटो रिक्शा के संचालन पर पाबंदी रहेगी। पूराने आॅटो रिक्शा के परमिट को सरेंडर करने पर उसके स्थान पर ई-रिक्शा का परमिट जारी किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि नो पार्किंग जोन में खड़े वाहनों के पहियों पर लाॅक लगाने के लिए जिला यातायात पुलिस द्वारा प्रस्ताव तैयार किया जाएगा। साथ ही प्रत्येक लाॅक लगे वाहन पर पुलिस द्वारा नो पार्किंग में वाहन खड़ा नहीं करने की सूचना के साथ स्टीकर लगाए जाने की कार्यवाही भी की जाएगी। इंडिया मोटर तिराह तथा बीकानेर मिष्ठान तिराह वैशाली नगर पर सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा ट्रेफिक लाईट लगायी जाएगी। उन्होंने कहा कि पुष्कर के प्रवेश द्वार से लीला सेवड़ी की तरफ 2 किलोमीटर की दूरी तक शहरी गौरव पथ के माध्यम से फोरलेन सड़क का निर्माण किया जाएगा। इसी प्रकार नौसर घाटी को चैड़ा करने के प्रस्ताव भी बनाए जाएंगे।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अवनीश कुमार ने कहा कि पुलिसकर्मी द्वारा बीना हैल्मेट दुपहिया वाहन चलाने पर चालन के साथ-साथ विभागीय कार्यवाही भी अमल में लायी जाएगी।

इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री अरविंद कुमार सेंगवा, यातायात पुलिस अधीक्षक अदिति कांवट तथा प्रादेशिक परिवहन अधिकारी विनोद कुमार सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।




संभागीय उपभोक्ता जाग्रति सम्मेलन में होगा उपभोक्ता संरक्षण पर मंथन

अजमेर, 22 दिसम्बर। संभागीय उपभोक्ता जाग्रति सम्मेलन में शुक्रवार को प्रातः 10 बजे से सांय 5 बजे तक सूचना केन्द्र में उपभोक्ताओं के हितों पर विस्तार पूर्वक चर्चा की जाएगी।

संभागीय उपभोक्ता संरक्षण अधिकारी महेन्द्र सिंह ने बताया कि इस सम्मेलन में उपभोक्ता संरक्षण कानून 1986 की क्रियान्विती सुनिश्चित करने पर विचार विमर्श किया जाएगा। इसमें उपभोक्ता आंदोलन को गति प्रदान करने, राज्य सरकार द्वारा उपभोक्ता संरक्षण व उपभोक्ता कल्याण क्षेत्रों में चलाए जा रहे कार्यक्रमों के बारे में उपभोक्ताओं को जागरूक करने, जन भागीदारी बढ़ाने, खाद्य पदार्थों में मिलावट रोकने, भ्रामक विज्ञापन रोकने, उपभोक्ता मंचों का योगदान, अन्नपूर्णा भण्डारों की प्रासंगिकता पर भी चर्चा होगी।




जिला कोषाधिकारी ने किया कार्यग्रहण

अजमेर, 22 दिसम्बर। अजमेर जिले के कोषाधिकारी के रूप में मनोज कुमार शर्मा ने पदभार ग्रहण किया है। इससे पूर्व वित्तीय सलाहकार निदेशालय आयुर्वेद विभाग के पद पर कार्यरत श्री शर्मा 1998 बेच के राजस्थान लेखा सेवा के अधिकारी है।




राजस्व अधिकारियों की बैठक अब 28 दिसम्बर को
अजमेर, 22 दिसम्बर। राजस्व अधिकारियों की पूर्व निर्धारित 24 दिसम्बर को होने वाली बैठक अब बुधवार 28 दिसम्बर को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित होगी यह जानकारी अतिरिक्त जिला कलक्टर किशोर कुमार ने दी।




अधिस्वीकरण कार्डो का होगा नवीनीकरण
अजमेर, 22 दिसम्बर। सूचना एवं जनसम्पर्क निदेशालय द्वारा जारी प्रेस प्रतिनिधि अधिस्वीकरण कार्डों का नवीनीकरण किया जाएगा।

सूचना एवं जन सम्पर्क कार्यालय के उप निदेशक श्री महेश चन्द्र शर्मा ने बताया कि राजस्थान प्रेस प्रतिनिधि अधिस्वीकरण नियम के अन्तर्गत राज्य, संभाग तथा जिला स्तरीय मीडिया संस्थानों में कार्यरत एवं स्वतंत्रा पत्राकारों के डिजीटल एवं सामान्य अधिस्वीकरण कार्डो का नवीनीकरण निदेशालय द्वारा किया जाएगा। नवीनीकरण के लिए निर्धारित परिपत्रा में 28 दिसम्बर तक आवेदन करना होगा। नवीनीकरण के लिए समाचार पत्रा का नियमित प्रकाशन आवश्यक है। स्थायी अधिस्वीकरण एक जनवरी 2017 से 31 दिसम्बर 2018 तक दो वर्ष की अवधि के लिए नवीनीकृत किए जा सकते है। अस्थायी अधिस्वीकरण 6 माह के लिए 30 जून तक के लिए नवीनीकृत होंगे। संवाददाताओ के कार्डों का नवीनीकरण संबंधित समाचार पत्रा के सम्पादक अथवा प्रबंधक की अनुशंषा पर किया जाएगा। आवेदन पत्रा के साथ पत्राकार को अपनी आजीविका का शपथ पत्रा भी संलग्न करना होगा। इसी प्रकार स्वतंत्रा पत्राकार किसी समाचार पत्रा, इलेक्ट्रानिक मीडिया, एजेंसी एवं संस्थान से सम्बद्ध नहीं होने का शपथ पत्रा देंगे। नवीनीकरण के लिए आवेदन पत्रा के साथ डिजीटल कार्ड का अंग्रेजी में भरा गया आवेदन पत्रा भी जिला सूचना एवं जन सम्पर्क कार्यालय के माध्यम से अग्रेषित किए जाएंगे। नवीनीकरण के प्रपत्रा विभाग की वैबसाइट पर डाउनलोड के अन्तर्गत फाॅर्म से भी प्राप्त किए जा सकते है।




जिले के 24 गांव बनेंगे कैशलेस

अजमेर, 22 दिसम्बर। कैशलेस इकाॅनोमी की तरफ अजमेर जिला तेजी से अग्रसर हो रहा है। पूर्व में नयागांव को जिले का प्रथम कैशलेस गांव बनाने से आगे बढ़ते हुए अब जिले के 24 गांवों तथा अजमेर शहर के 12 वार्डों को कैशलेस किया जाएगा। जिला कलक्टर गौरव गोयल की अध्यक्षता में गुरूवार को जिले के बैंकिंग अधिकारियों के साथ बैठक में यह निर्देश प्रदान किए गए।

जिला कलक्टर ने कहा कि जिले के समस्त बैंकिंग संस्थान अपने कार्यक्षेत्रा में कम से कम एक गांव को कैशलेस अर्थव्यवस्था वाले गांव के रूप में विकसित करेंगे। गुरूवार को आयोजित बैंकिंग अधिकारियों ने 10 दिनों में लक्षित क्षेत्रा को कैशलेस करने पर सहमति जताई। बैंकिंग संस्थानों द्वारा अपनी शाखा के निकटवर्ती क्षेत्रों को नगदी आधारित अर्थव्यवस्था से कैशलेस इकाॅनोमी की तरफ मोडा जाएगा। इससे नागरिकों को सुरक्षित एवं सुविधाजनक राशि हस्तांतरण का लाभ प्राप्त होगा। बैंकिंग परिसर में गए बीना तथा बीना लाइन में खड़े हुए बैंक की सुविधाओं का उपयोग किया जा सकेगा।

अजमेर शहर होगा कलस्टर मोड पर कैशलेस

अजमेर शहर के विभिन्न वार्डों को कलस्टर मोड पर कैशलेस किया जाएगा। शहर के 3-3 वार्डों को मिलाकर एक कलस्टर का निर्माण किया जाएगा। एक कलस्टर को कैशलेस करने का जिम्मा एक बैंक को प्रदान किया जाएगा। प्रथम चरण में शहर के 12 वार्डों के 4 कलस्टर कैशलेस किए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि संबंधित क्षेत्रा में संबंधित व्यापारिक एवं व्यावसायिक गतिविधियों को डिजीटल पैमेंट द्वारा कैशलेस पद्धति से सम्पादित करवाया जाएगा। गांवों में डिजीटल वित्तीय साक्षरता विकसित करने के लिए जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। नाबार्ड के माध्यम से जागरूकता अभियान के लिए वित्तीय सहयोग उपलब्ध करवाया जाएगा। इसी प्रकार जिले के 5 से 10 हजार तक की आबादी वाले गांवों में व्यापारियों को दो-दो पोश मशीन भी उपलब्ध करवायी जाएगी।

इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलक्टर किशोर कुमार, भारतीय रिजर्व बैंक के प्रतिनिधि ओ.पी.कविया, नाबार्ड के जिला विकास प्रबंधक बी.बी.खरबंदा, अग्रणी बैंक प्रबंधक आर.के.जांगिड़ सहित जिले की समस्त बैंकों के प्रतिनिधि एवं प्रबंधक उपस्थित थे।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top