edvertise

edvertise
barmer


अजमेर, जिले के दिव्यांगों को मिलेंगे अंग उपकरण
23 व 24 दिसम्बर को सूचना केन्द्र में है दिव्यांग उपकरण चिन्हिकरण शिविर



अजमेर, 20 दिसम्बर। भगवान महावीर विकलंाग सहायता समिति जयपुर द्वारा अजमेर जिले के दिव्यांगों को अंग उपकरण उपलब्घ करवाने के लिए चिन्हिकरण शिविर का आयोजन जिला मुख्यालय स्थित सूचना केन्द्र में 23 व 24 दिसम्बर को किया जाएगा।
भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति के संयुक्त सचिव सुरेश मेहरा ने बताया कि जिला प्रशासन के सहयोग से शुक्रवार 23 दिसम्बर एवं शनिवार 24 दिसम्बर को प्रातः 10 बजे से सायं 4 बजे तक जिले के दिव्यांगों को अंग उपकरण उपलब्ध करवाने के लिए चिन्हिकरण शिविर लगाया जाएगा। इस शिविर में दिव्यांगों को जयपुर फुट (कृत्रिम अंग), कैलिपर्स बैल्ट, शूज, बैसाखी, ट्राई साईकिल, बुजुर्ग स्टीक, ब्लांइड स्टीक, व्हील चैयर तथा कान की मशीन उपलब्ध करवाने के लिए आवश्यक दिव्यांगों का चिन्हिकरण किया जाएगा।
उन्होंने आग्रह किया कि जिले के समस्त जनप्रतिनिधि, ग्राम सेवक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा सहयोगिनी, समस्त सरकारी कार्मिक अधिकारी एवं सामाजिक कार्यकर्ता अपने क्षेत्रा के दिव्यांगों को शिविर का लाभ प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित करें। शिविर में चिन्हित दिव्यांगों को जनवरी माह में आवश्यकतानुसार उपकरण वितरित किए जाएंगे।
राजस्थान किसान आयोग अध्यक्ष का यात्रा कार्यक्रम
अजमेर, 20 दिसम्बर। राजस्थान किसान आयोग के अध्यक्ष एवं स्थानीय सांसद प्रो. सांवर लाल जाट बुधवार 21 दिसम्बर को दोपहर 2 बजे आर.के.पाटनी राजकीय महाविद्यालय किशनगढ़ के छात्रा संघ कार्यालय के उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर भाग लेंगे।
जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आयोजित
अजमेर, 20 दिसम्बर। जिला कलक्टर गौरव गोयल की अध्यक्षता में मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आयोजित हुई। इसमें जिले में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाओं की समीक्षा की गई और फ्लेगशिप योजनाओं में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के विरूद्ध कार्यवही करने के निर्देश प्रदान किए।
जिला कलक्टर ने कहा कि ब्लाॅक स्तरीय एवं जिला स्तरीय अधिकारियों द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों के निरीक्षण को तुरन्त आॅनलाईन फीड किया जाना चाहिए। जिले में संचालित सोनोग्राफी केन्द्रों पर कार्यरत तकनीशियन भारत सरकार के द्वारा निर्धारित योग्यताओं को पूर्ण करने वाला हाना चाहिए। जिले के दिव्यांगों को अंग उपकरण उपलब्ध करवाने के लिए चिन्हिकरण शिविर का आयोजन 23 एवं 24 दिसम्बर को सूचना केन्द्र में किया जाएगा। समस्त चिकित्सा अधिकारी अपने क्षेत्रा के अधिकतम दिव्यांगों को शिविर का लाभ प्राप्त करवाना सुनिश्चित करेंगे। गर्भवती महिलाओं की गर्भावस्था के दौरान न्यूनतम 3 जांच चिकित्सा संस्थान द्वारा की जानी आवश्यक है। जिले के समस्त निजी अस्पताल चिकित्सालय में हुए प्रसव की सूचना मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को नियमित रूप से उपलब्ध करवाएंगे।
उन्होंने कहा कि भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के अन्तर्गत अधिकतम व्यक्तियों को लाभान्वित किया जाना चाहिए। बीमा कम्पनी के माध्यम से अधिकतम पैकेज का पैमेंट करवाने के लिए समय पर प्रावधानों के अनुसार कार्यवही की जानी चाहिए। सुरक्षित मातृत्व का आयोजन निर्धारित शुक्रवार को अथवा प्रत्येक माह की 9 तारीख को आवश्यक रूप से किया जाए। मौसमी बीमारियों पर गम्भीरता पूर्वक नजर रखी जाए तथा मरीजों का समूचित उपचार किया जाए।
इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री अबु सूफियान चैहान, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. के.के.सोनी, आरसीएचओ डाॅ. रामलाल चैधरी, जिला परियोजना प्रबंधक संतोष शर्मा, विश्व स्वास्थ्य संगठन अजमेर संभाग प्रभारी प्रीति पटेल सहित जिले के समस्त ब्लाॅक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी और चिकित्सा अधिकारी उपस्थित थे।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top