edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम

मार्च 2017 से रोटा वायरस वैक्सीन टीकाकरण में होगा शामिल


बाड़मेर, 22 दिसंबर। प्रदेश में राष्ट्रीय टीकाकरण सारणी में आगामी मार्च माह से दस्त रोग प्रतिरक्षक रोटा वायरस टीका शामिल कर बच्चों को यह वैक्सीन लगाना प्रारंभ किया जाएगा। रोटा वायरस वैक्सीन की 5 गुलाबी रंग की बूंदे 6, 10 और 14 सप्ताह की उम्र में नियमित टीकाकरण के साथ पिलाई जाएगी।

केन्द्र सरकार ने दो वर्ष तक की उम्र बच्चों की अकाल मृत्यु में दस्त के मुख्य कारण को ध्यान मंे रखते हुए रोटा वायरस वैक्सीन को टीकाकरण कार्यक्रम में शामिल करने का निर्णय लिया है। वर्तमान में हिमाचल प्रदेश, उड़ीसा, हरियाणा एवं आंध्रप्रदेश में यह वैक्सीन नियमित टीकाकरण में शामिल है। भारत में 13 प्रतिशत बच्चों की डायरिया से मौत होती है एवं 40 प्रतिशत बच्चों को दस्त होने के कारण चिकित्सालय में भर्ती कर उपचार की आवश्यकता होती है। विश्व में 81 देशों में पहले से पूर्ण सुरक्षित एवं मीठे स्वाद वाला यह रोटा वायरस वैक्सीन बच्चों को लगाया जाता है। आगामी मार्च माह से प्रदेश में भी समस्त बच्चों को निर्धारित प्रावधानों के अनुसार लगाने प्रारंभ हो जाएंगे। मिशन निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन नवीन जैन ने बताया कि रोटा वायरस वैक्सीन के बारे में समस्त जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारियों, पीएचसी-सीएचसी के चिकित्सा प्रभारियों एवं जिला आईईसी समन्वयकों को विस्तृत जानकारी दी जा रही है। उन्होंने बताया कि एक वैक्सीन वायल में 10 खुराकें होंगी एवं इनका वायल खोलने के बाद अधिकतम चार घंटे तक ही उपयोग किया जा सकेगा। इन्हें ़2 डिग्री से ़8 डिग्री सेंटीग्रेड तापमान पर सतर्कतापूर्वक रखने के निर्देश दिए गए हैं।

वाहनों में बकाया कर पर ब्याज में मिलेगी छूट

बाड़मेर, 22 दिसंबर। विभिन्न श्रेणी के वाहनों में बकाया कर पर शास्ति अथवा ब्याज में छूट की एमेनेस्टी योजना लागू की गई है। यह योजना 31 दिसंबर 2016 तक प्रभावी रहेगी।

जिला परिवहन अधिकारी डी.डी.मेघानी ने बताया कि जोधपुर रीजन में संचालित संविदा वाहन, स्टेज कैरिज, भार वाहन एवं गैर परिवहन वाहनों जे सी बी, क्रेन लोडर व हाइड्रो आदि के वाहन स्वामियों को सूचित किया गया है कि जिनके वाहन खुदबुर्द अथवा टूट चुके हैं उन वाहनों को वाहन टूटने की तिथि तक कर जमा कराने पर इस योजना में टूटने अथवा खुर्दबुर्द होने की तिथि से वाहन का पंजीयन निरस्त करवाकर योजना का लाभ उठा सकते है। इसके अलावा जो वाहन संचालन में है तथा जिनका 31 मार्च 2015 के पूर्व का कर बकाया है उनको 31 दिसंबर 2016 तक पूर्व का कर जमा करवाने पर देय शास्ती व ब्याज में छूट होंगी।

ये दस्तावेज आवेदन के साथ देने होंगेः बकाया कर जमा कराने के लिए अंतिम टैक्स रसीद,कबाड़ी को बेचने की रसीद, वाहन स्वामी का शपथ पत्र, स्टेज कैरिज में कर स्वामियों का घोषणा पत्र,नो फीस या टैक्स रिपोर्ट(नष्ट होने की तिथि के पश्चात),नो चालान रिपोर्ट(नष्ट होने की तिथि के पश्चात), परिवहन निरीक्षक, उप निरीक्षक की रिपोर्ट साथ लानी होगी।

ऋणी कृषकों को फसल बीमा के लिए आधार एवं मोबाइल नंबर बैंक को देना होगा




बाड़मेर, 22 दिसंबर। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत सभी बैंक शाखाओं द्वारा ऋणी कृषकों का डाटा फसल बीमा करने के लिए पोर्टल पर अपलोड किया जाएगा। इसके लिए ऋणी कृषकों को आधार नंबर एवं मोबाइल नंबर बैंक शाखा को उपलब्ध करवाना होगा।

मार्गदर्शी बैंक के मुख्य प्रबंधक ने बताया कि राज्य सरकार की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत रबी 2016-17 के लिए सभी ऋणी कृषकों का फसल बीमा किया जाना अनिवार्य हैं जिसके लिए सभी बैंक शाखाओं द्वारा ऋणी कृषकों का डाटा फसल बीमा करने के लिए पोर्टल पर अपलोड किया जाएगा। उन्हांेने बताया कि फसल बीमा के लिए पोर्टल पर डाटा अपलोड करने के लिए ऋणी कृषकों को अपना आधार कार्ड नंबर एवं मोबाइल नंबर अनिवार्य रूप से बैंक शाखा को उपलब्ध करवाना होगा तथा आधार नंबर नहीं होने की स्थिति में ऋणी कृषक को ईआईडी नंबर प्राप्त कर बैंक शाखा को उपलब्ध करवाना होगा। आधार नंबर या ईआईडी संख्या एवं मोबाईल नंबर के अभाव में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत ऋणी कृषकों का फसल बीमा किया नहीं जा सकेगा।

उन्होंने जिले के सभी ऋणी कृषकों से अनुरोध किया है कि जिन कृषको ने अभी तक बैंक शाखा को आधार नंबर या ईआईडी उपलब्ध नहीं करवाई हैं वे शीघ्र ही बैंक शाखा को आधार नंबर या ईआईडी उपलब्ध कराए। जिन ऋणी कृषकों ने आधार नंबर प्राप्त करने के लिए आवेदन नहीं किया है वे शीघ्र ही ई-मित्र या आधार रजिस्टेªशन केन्द्र पर आधार रजिस्ट्रेशन करवाकर ईआईडी संख्या प्राप्त कर बैंक शाखा को उपलब्ध करवा सकते है।

34 ग्राम पंचायत मुख्यालयांे पर दीनदयाल उपाध्याय जन कल्याण शिविर आज
बाड़मेर, 22 दिसंबर। ग्रामीण जनता की पंचायत स्तरीय समस्याओं के समाधान के लिए शुक्रवार को बाड़मेर जिले की 34 ग्राम पंचायत मुख्यालयांे पर पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन कल्याण शिविर लगाए जाएंगे। इसमें ग्रामीण जनता की विभिन्न विभागों से सम्बन्धित समस्याओं का मौके पर ही समाधान किया जाएगा।

जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने बताया कि प्रत्येक पंचायत समिति की दो समीपस्थ ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर दीनदयाल उपाध्याय जन कल्याण पंचायत शिविर शुक्रवार को प्रातः 9.30 से प्रारंभ होंगे। इसमंे चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, महिला एवं बाल विकास, राजस्व, वन, आयोजना, श्रम, कृषि, पशुपालन, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी, विद्युत वितरण निगम लिमिटेड, सार्वजनिक निर्माण विभाग तथा जनजाति क्षेत्रीय विभाग के अधिकारी शामिल होकर आम जनता की पंचायत स्तरीय समस्याओं का समाधान करेंगे।

उन्हांेने बताया कि निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार शुक्रवार को बाड़मेर पंचायत समिति की मूंगड़ा एवं मंडापुरा, गुड़ामालानी तहसील की बेरीगांव एवं गांधवकला, सिणधरी पंचायत समिति की सड़ा एवं नेहरो की ढाणी, सिवाना पंचायत समिति की ग्राम पंचायत काठाड़ी एवं भागवा, चौहटन पंचायत समिति की भोजारिया एवं रतासर, शिव पंचायत समिति की स्वामी का गांव एवं झाफली कला, धोरीमन्ना पंचायत समिति की बोर चारणान एवं डबोई, गडरारोड़ पंचायत समिति की गिराब एवं रतरेड़ी कला, धनाउ की बिसारणिया एवं नेहरो की नाडी, बायतू पंचायत समिति की झाक एवं लूनाड़ा, पाटोदी की चिलानाडी एवं भगवानपुरा, कल्याणपुर की रोड़वाकला एवं गंगावास, गिड़ा की सवाउ मूलराज एवं सवाउ पदमसिंह, रामसर की कंटल का पार एवं गागरिया, समदड़ी पंचायत समिति की भलरो का वाड़ा एवं रानीदेशीपुरा ग्राम पंचायत मुख्यालय पर पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन कल्याण पंचायत शिविरांे का आयोजन होगा।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top