edvertise

edvertise
barmer

पाकिस्तान ने छापने शुरू किए 2000 के नकली नोट, इन खामियों के कारण पकड़ाए

पाकिस्तान ने छापने शुरू किए 2000 के नकली नोट, इन खामियों के कारण पकड़ाए
अमृतसर।गिरफ्तार किए गए अमृतसर के मेहताब सिंह और निर्मल कौर से पुलिस ने 1.20 लाख रुपए की जाली करंसी बरामद की है। सभी नोट 2-2 हजार रुपए के है। आरोपी पिछले लंबे समय से पाकिस्तान के तस्करों के संबंध में है और वहीं से करंसी इन लोगों तक पहुंची है। फेक करंसी में कई तरह की खामियां थी, जिसके तहत आरोपी पकड़े गए। छापई में कई तरह की खामियां थी...

- इसमें नोट के प्रिंट का रंग, उसमें डाली गई हरे रंग की तार, राष्ट्रपिता की फोटो आदि को ठीक ढंग से छापने मे कई तरह की खामियां थी।

- इस कारण आरोपी पकड़े गए। हालांकि आरोपियों की पारिवारिक बैक ग्राउंड भी आपराधिक ही है।

- आरोपी निर्मल कौर का एक बेटा ब्रह्मजीत सिंह एनडीपीएस एक्ट के तहत तरनतारन जेल में बंद है, जबकि दूसरा बेटा कंवलजीत सिंह विभिन्न मामलों में पुलिस को वांटेड है।

- आरोपी पिछले लंबे समय से इस धंधे में जुड़े हुए हैं और लगातार पाकिस्तान तस्करों के संपर्क में है।

लंबे समय से हेरोइन तस्करी कर रहे थे आरोपी

- गौर हो कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि आरोपी लंबे समय से हेरोइन मंगवाकर डिलीवर करने का धंधा कर रहे थे।

- अब यह दोनों आरोपी पाकिस्तान से आने वाली जाली करंसी को भी डिलीवर करने लग पड़े थे।

- इस तहत दो दिन पहले ही पाक तस्करों ने 2-2 हजार रुपए के जाली नोट भेजे थे। जाली करंसी की यह खेप इन आरोपियों ने रिसीव की थी।

- इस बारे में पुलिस को सूचना मिली तो तुरंत रेड की गई और दोनों को गांव खहरा से गिरफ्तार किया गया।

- आरोपियों से पुलिस ने कुल 60 नोट 2-2 हजार रुपए के बरामद किए थे।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top