edvertise

edvertise
barmer



अलवर.बहरोड़ के युवक ने फर्जी आईपीएस बन 19 लाख रुपए ठगे, नजफगढ़ से गिरफ्तारबहरोड़ के युवक ने फर्जी आईपीएस बन 19 लाख रुपए ठगे, नजफगढ़ से गिरफ्तार
अलवर जिले के बहरोड़ निवासी 21 वर्षीय रविकांत ने फर्जी आईपीएस अधिकारी बन फेसबुक पर सम्पर्क में आए दो युवकों से सीआरपीएफ में नौकरी लगवाने के नाम पर 19 लाख रुपए ठग लिए। बाद में आरोपित को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गुरुवार को नजफगढ़ से गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से पुलिस ने आईपीएस की ड्रेस व लेटर हैड सहित कई दस्तावेज बरामद किए हैं।




दिल्ली पुलिस के डीसीपी साउथ वेस्ट सुरेन्द्र कुमार ने फोन पर बताया कि अलवर जिले के बहरोड़ के रहने वाला रविकांत ने दिल्ली में अपनी फेसबुक आईडी बनाई। इस पर स्वयं को 2014 बैच का आईपीएस बताया। फेसबुक पर ही दिल्ली के नजफगढ़ निवासी अशोक व नरेश उसके सम्पर्क में आए।

रविकांत ने दोनों से कहा कि वह युवाओं की सीआरपीएफ में नौकरी लगवा देगा। इस पर अशोक व नरेश युवाओं को उसके पास लाने लगे। नौकरी लगवाने से पहले रविकांत दो से तीन लाख रुपए लेता था। इस तरह उसने 20 युवाओं से 19 लाख रुपए ठगे।




कमरे पर वह आईपीएस की ड्रेस में मिलता था। युवाओं की सूचना पर दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने नजबगढ़ के प्रेम नगर से रविकांत को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस अभी रविकांत से पूछताछ कर रही है, पुलिस को उम्मीद है कि उससे ठगी की अन्य कई वारदातों का भी खुलासा हो सकता है।

कोटा से की पीएमटी की कोचिंग




रविकांत ने वर्ष 2009-10 में कोटा से पीएमटी की कोचिंग की। इसमें विफल होने पर उसने वर्ष 2013 में अलवर से बीएससी की पढ़ाई की। बाद में 2014 में वह चंडीगढ़ चला गया। वहां वह पुलिस के सम्पर्क में आया व छोटे- मोटे अपराध करने लगा। वर्ष 2014 में ही धोखाधड़ी के एक मामले में पुलिस ने उसे गिरफ्तार भी किया था। उसके बाद वह दिल्ली आ गया।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top