edvertise

edvertise
barmer

पाकिस्तानी पत्नी को कच्छ में नहीं मिली एंट्री, 12 दिन होटल में रहकर अपने देश लौटी
Pakistani Wife No Entry In Kuchchha

भुज.गुजरात के भुज में रहने वाले अल्ताफ पालेजा नाम के शख्स की पत्नी सिद्रा करीब 8 महीने से पाकिस्तान में अपने मायके में है। अल्ताफ-सिद्रा की शादी को ढाई साल हो चुका है। बेटा भी है। लेकिन भुज में पाकिस्तानियों को एंट्री नहीं है। लिहाजा, पिछली बार सिद्रा जब फैमिली के साथ कच्छ आई तो 12 दिन होटल में रुकी। फिर पाकिस्तान लौट गई। भाभी भी पाकिस्तानी लेकिन वो 6 साल से भुज में…

- अल्ताफ ने  बताया- मैं भुज में रहता हूं। पत्नी का नाम सिद्रा है। वो पाकिस्तान के कराची की रहने वाली है। ढाई साल पहले शादी हुई। बेटा भी है। आठ महीने पहले पत्नी फैमिली के साथ गुजरात आई। लेकिन भुज नहीं आ सकी।

- अल्ताफ ने आगे कहा- पत्नी का वीजा कंडीश्नल था। उसमें शर्त थी कि कच्छ बॉर्डर एरिया होने की वजह से सेंसटिव है। इसलिए, वहां वो नहीं जा सकते। पाकिस्तान में इंडियन हाईकमिशन ने भी साफ कहा था कि सिद्रा की फैमिली भुज नहीं जा सकती।

- अल्ताफ अपनी फैमिली को लेकर कच्छ के करीब मोरबी पहुंचे। वहां ससुराल वालों के साथ होटल में रुके। बाद में सिद्रा और उसका परिवार पाकिस्तान लौट गया। इस बात को आठ महीने से ज्यादा का वक्त गुजर चुका है।

- हैरानी की बात ये है कि अल्ताफ की भाभी भी पाकिस्तान की ही नागरिक है लेकिन वो छह साल से भुज में रह रही है।

कच्छ के सांसद ने लिखी थी चिट्ठी

अल्ताफ के मुताबिक- अथाॅरिटी के पास मेरी पत्नी को कच्छ में एंट्री ना देने की कोई ठोस वजह नहीं है। कच्छ के सांसद विनोद चावड़ा ने भी इंडियन हाईकमिशन को पाकिस्तानी नागरिकों को भुज जिले में रहने की परमिशन के लिए लेटर लिखा था।

- अल्ताफ का कहना है कि उसने कई महीनों से बेटे का चेहरा तक नहीं देखा।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top